शीर्ष युक्तियाँ

क्रिप्टो कोड

क्रिप्टो कोड
इसमें कोई शक नहीं कि सबसे पॉपुलर क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन है। बिटकॉइन (Bitcoin) अब तक की सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी है, इसके बाद एथेरियम(Ethereum), लाइटकॉइन (Litecoin) और टीथर (Tether) जैसी अन्य क्रिप्टोकरेंसी हैं।

bitcoin

Cryptocurrency क्या है, Popular cryptocurrencies in Hindi

(Cryptocurrency in Hindi) is a digital currency, secured by cryptography and based on blockchain technology.

Cryptocurrency

क्रिप्टो करेंसी क्या है (Cryptocurrency in Hindi)

क्रिप्टो करेंसी एक डिजिटल, क्रिप्टोग्राफ़ी द्वारा सुरक्षित और ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी पर आधारित मुद्रा है।

Cryptocurrency is a digital, cryptographically secured and blockchain technology based currency.

क्रिप्टो करेंसी का मतलब | Cryptocurrency Meaning in Hindi

टेक्नोलॉजी बहुत तेजी से बदल रही है जिससे लोगों के काम करने, संवाद करने, खरीदने और भुगतान करने का तरीका भी बदल गया है। यह सब समय के साथ बढ़ती टेक्नोलॉजी के साथ साथ बदलता रहता है।

आज के समय में लोगों ने कैश रखना बहुत कम कर दिया है जो लेनदेन हो रहे है उसमें ज्यादातर डिजिटल होते है, और यह डिजिटल लेनदेन आम जनमानस का हिस्सा बन गए है। कॉर्पोरेट्स और कंस्यूमर धीरे धीरे कैश से लेनदेन कम करते जा रहे हैं और स्मार्टफोन ने इस डिजिटल लेनदेन की प्रक्रिया को आसान और तेज कर दिया है।

डिजिटल लेनदेन के साथ डिजिटल करेंसी भी पैर जमा रही है, यह डिजिटल करेंसी क्रिप्टोकरेंसी है।

क्रिप्टोकरेंसी शब्द की उत्पत्ति | Origin of Cryptocurrency word in Hindi

क्रिप्टोकरेंसी शब्द कह सकते हैं नया शब्द है, जो 21 वीं सदी की शुरुआत से ही आया है। यह दो शब्दों – ग्रीक शब्द ‘kryptos’ जिससे ‘क्रिप्टो’ लिया गया है जिसका अर्थ है ‘छिपा हुआ या गुप्त’ और लैटिन शब्द ‘currere’ जिससे ‘करेंसी’ लिया गया है जिसका अर्थ है ‘चलाना’ से मिलकर बना है।

क्रिप्टो करेंसी डिजिटल मनी है जिसे आप छू नहीं सकते, जेब में नहीं रख सकते यानी यह करेंसी का डिजिटल रूप है और यह पूरी तरह से ऑनलाइन है। इसे क्रिप्टोग्राफी द्वारा सुरक्षित किया जाता है। कई क्रिप्टोकरेंसी ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी पर आधारित हैं और इनकी कोई भी सेंट्रल अथॉरिटी नहीं है।

क्रिप्टोक्यूरेंसी एक नयी डिजिटल भुगतान प्रणाली है जिसका लेनदेन का सत्यापन बैंकों पर निर्भर नहीं होता है और क्रिप्टोक्यूरेंसी का इस्तेमाल वस्तुओं और सेवाओं के भुगतान के लिए ऑनलाइन आदान-प्रदान किया जा सकता है।

Crypto tea Stall: ये है भारत का क्रिप्टो चायवाला, फोटो देख प्रसिद्ध बिजनेसमैन ने कही ये बात …जानें

Bengaluru Tea seller accepted Crypto : आपने नुक्कड़ पर चाय वाले भइया को जरुर देखा होगा। जिनके पास थोड़े बर्तन के साथ एक टेबल मात्र बस होता हैं। पहले के समय में इनसे चाय खरीदने के लिए आपको कुछ कैश पैसे देने होते हैं। फिर कुछ दिन बाद पेटियम क्रिप्टो कोड और अन्य UPI पेमेंट मेंथड आग गए। फिलहाल अभी क्रिप्टो का जमाना है तो चाय क्रिप्टो में मिल रही हैं। यदि आपने इस चाय वाले को नहीं देखा तो हम आपको इसके बारे में जानकारी दे रहे हैं।

दरअसल, मशहूर बिजनेसमैन हर्ष गोयनका ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर एक तस्वीर शेयर की है, जिसमें एक शख्स चाय बनाता नजर आ रहा है। खास बात ये है कि इस टी-स्टॉल पर पेटीएम का क्यूआर कोड तो लगा ही है, ताकि लोग ऑनलाइन पेमेंट कर सकें, साथ ही वहां एक छोटा सा ब्लैक बोर्ड भी लगा हुआ है, जिसपर लिखा है कि यहां क्रिप्टो स्वीकार किया जाता है। हर्ष गोयनका ने तस्वीर शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा है, ‘नया भारत’।

हर्ष गोयंका ने दी जानकारी

Bengaluru Tea seller accepted Crypto वहीं, क्रिप्टोकरेंसी में पेमेंट लेने की वजह से ही बेंगलुरु का ये चाय वाला पूरे देश में फेमस हो गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस चाय वाले का नाम शुभम सैनी है। वह एक क्रिप्टो ट्रेडर हैं। वह बीसीए का कोर्स कर रहे थे, लेकिन फाइनल ईयर में जाकर अपनी पढ़ाई छोड़ दी, ताकि क्रिप्टो में फुलटाइम ट्रेडिंग कर सकें और ज्यादा से ज्यादा पैसे कमा सकें।शुरुआत में तो शुभम ने क्रिप्टो से अच्छा खासा पैसा कमाया।

साल 2020 में जब क्रिप्टो बाजार में भारी गिरावट आई थी तब उन्होंने करीब डेढ़ लाख रुपये का निवेश इसमें किया था और महज कुछ महीनों में ही उनके डेढ़ लाख रुपये 30 लाख बन गए। हालांकि साल 2021 में एक बार फिर से जब क्रिप्टो मार्केट में गिरावट आई तो शुभम फिर से वहीं पर आ गए, जहां से उन्होंने शुरुआत की थी।

उनके क्रिप्टो पोर्टफोलियो की 90 फीसदी पूंजी डूब गई. इसके बाद ही उन्होंने चाय का स्टॉल खोला और आज वो चाय का पेमेंट क्रिप्टो में भी लेते हैं।

Crypto tea Stall: ये है भारत का क्रिप्टो चायवाला, फोटो देख प्रसिद्ध बिजनेसमैन ने कही ये बात …जानें

Bengaluru Tea seller accepted Crypto : आपने नुक्कड़ पर चाय वाले भइया को जरुर देखा होगा। जिनके पास थोड़े बर्तन के साथ एक टेबल मात्र बस होता हैं। पहले के समय में इनसे चाय खरीदने के लिए आपको कुछ कैश पैसे देने होते हैं। फिर कुछ दिन बाद पेटियम और अन्य UPI पेमेंट मेंथड आग गए। फिलहाल अभी क्रिप्टो का जमाना है तो चाय क्रिप्टो में मिल रही हैं। यदि आपने इस चाय वाले को नहीं देखा तो हम आपको इसके बारे में जानकारी दे रहे हैं।

दरअसल, मशहूर बिजनेसमैन हर्ष गोयनका ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर एक तस्वीर शेयर की है, जिसमें एक शख्स चाय बनाता नजर आ रहा है। खास बात ये है कि इस टी-स्टॉल पर पेटीएम का क्यूआर कोड तो लगा ही है, ताकि लोग ऑनलाइन पेमेंट कर सकें, साथ ही वहां एक छोटा सा ब्लैक बोर्ड भी लगा हुआ है, जिसपर लिखा है कि यहां क्रिप्टो स्वीकार किया जाता है। हर्ष गोयनका ने तस्वीर शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा है, ‘नया भारत’।

हर्ष गोयंका ने दी जानकारी

Bengaluru Tea seller accepted Crypto वहीं, क्रिप्टोकरेंसी में पेमेंट लेने की वजह से ही बेंगलुरु का ये चाय वाला पूरे देश में फेमस हो गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस चाय वाले का नाम शुभम सैनी है। वह एक क्रिप्टो ट्रेडर हैं। वह बीसीए का कोर्स कर रहे थे, लेकिन फाइनल ईयर में जाकर अपनी पढ़ाई क्रिप्टो कोड छोड़ दी, ताकि क्रिप्टो में फुलटाइम ट्रेडिंग कर सकें और ज्यादा से ज्यादा पैसे कमा सकें।शुरुआत में तो शुभम ने क्रिप्टो कोड क्रिप्टो से अच्छा खासा पैसा कमाया।

साल 2020 में जब क्रिप्टो बाजार में भारी गिरावट आई थी तब उन्होंने करीब डेढ़ लाख रुपये का निवेश इसमें किया था और महज कुछ महीनों में ही उनके डेढ़ लाख रुपये 30 लाख बन गए। हालांकि साल 2021 में एक बार फिर से जब क्रिप्टो मार्केट में गिरावट आई तो शुभम फिर से वहीं पर आ गए, जहां से उन्होंने शुरुआत की थी।

उनके क्रिप्टो पोर्टफोलियो की 90 फीसदी पूंजी डूब गई. इसके बाद ही उन्होंने चाय का स्टॉल खोला और आज वो चाय का पेमेंट क्रिप्टो में भी लेते हैं।

बिटकॉइन क्यूआर कोड क्या है? प्रारूप और निजी कुंजी समझाया

बिटकॉइन क्यूआर कोड क्या है

QR कोड्स आमने-सामने पॉइंट-ऑफ-सेल लेनदेन के लिए काम करते हैं। उपयोगकर्ता इन लेनदेनों की जानकारी कॉपी और पेस्ट नहीं कर सकते हैं। QR तकनीक उपयोगकर्ताओं को बहुत लंबे कोड के मैनुअल टाइपिंग से बचने में मदद करती है। लेन-देन शून्य हो सकता है यदि केवल एक चरित्र गलत है।

आप एक डिवाइस से दूसरे में Cryptocurrency भेजने के लिए QR कोड का उपयोग कर सकते हैं:

बिटकॉइन क्यूआर कोड जनरेटर

प्राप्तकर्ता के पते का क्यूआर कोड प्रदर्शित करना। वॉलेट ऐप जैसे सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करें। आप विशेष रूप से Cryptocurrency भेजने के लिए डिज़ाइन किए गए व्यावसायिक सॉफ़्टवेयर का भी उपयोग कर सकते हैं।

मैं क्यूआर कोड का उपयोग करके क्रिप्टो कैसे भेजूं या प्राप्त करूं?

आपके पास Cryptocurrency वॉलेट होना चाहिए। आपको क्रिप्टो प्राप्त करने या भेजने के लिए क्यूआर कोड का उपयोग करने के लिए प्रेषक और रिसीवर क्रिप्टो कोड के पते को दर्ज करना होगा। क्रिप्टो की मात्रा टाइप करना और एक लेनदेन को पूरा करने के लिए क्यूआर कोड को स्कैन करना आसान है। हमने यहां पूरी प्रक्रिया का वर्णन किया है।

विभिन्न प्रकार के क्रिप्टो को भेजने या प्राप्त करने की प्रक्रिया अलग-अलग हो सकती है। प्रत्येक मुद्रा एक अलग वॉलेट का उपयोग करती है। फिर भी, क्यूआर कोड के माध्यम से एक सामान्य क्रिप्टो लेनदेन निम्नानुसार जा सकता है:

सबसे पहले, आपको अपने बटुए में लॉग इन करना होगा। बटन या टैब पर क्लिक करके प्राप्त / भेजें स्क्रीन पर जाएं। अब चयन करें कि आप Cryptocurrency क्रिप्टो कोड प्राप्त करना चाहते हैं या भेजना चाहते हैं। आप एक बार में केवल एक प्रकार के क्रिप्टोकरंसी का लेन-देन कर क्रिप्टो कोड सकते हैं। एक बिटकॉइन वॉलेट किसी अन्य क्रिप्टोकरेंसी के वॉलेट से नहीं भेज या प्राप्त कर सकता है।

Cryptocurrency भेजने के लिए

प्राप्तकर्ता के बटुए का पता प्राप्त करने के लिए आप एक क्यूआर कोड का उपयोग कर सकते हैं। अब आप उस क्रिप्टो की राशि का चयन कर सकते हैं जिसे आप प्राप्तकर्ता को भेजना चाहते हैं। आपके बटुए में पर्याप्त मात्रा में सिक्के होने चाहिए क्योंकि आपको लेनदेन शुल्क भी देना होगा। उस क्रिप्टो की संख्या की जांच करें और पुष्टि करें जिसे आप भेजना चाहते हैं। इसके बाद, एंड ट्रांजैक्शन बटन दबाएं।

आपको केवल अपना सार्वजनिक पता प्रदान करने के लिए प्रेषक के साथ QR कोड साझा करना होगा। प्रेषक शेष लेनदेन पूरा करता है।

इस प्रकार, आप Cryptocurrency को भेजने क्रिप्टो कोड या प्राप्त करने के लिए एक क्यूआर कोड का उपयोग कर सकते हैं।

Highlights

  • बिटकॉइन सहित दूसरी क्रिप्टो करेंसी में 15 क्रिप्टो कोड फीसदी की गिरावट दर्ज की जा चुकी है
  • क्रिप्टो करेंसी में पैसा लगाने के मामले में भारत दुनिया का नंबर 1 देश है
  • दुनिया में इसका इस्तेमाल करने वाले 30 करोड़ से ज्यादा लोग हैं

अगर आप भी देश के उन क्रिप्टो कोड लाखों लोगों में हैं जो क्रिप्टो में पैसा लगा चुके हैं या पैसा लगाने की तैयारी में हैं तो आपके क्रिप्टो कोड लिए बुरी खबर है। केंद्र सरकार ने क्रिप्टोकरेंसी पर शिकंजा कसने की तैयारी कर ली है। सिर्फ इसी खबर के चलते कल से क्रिप्टो करेंसी की कीमतों में बड़ी गिरावट देखने को मिल रही है। बिटकॉइन सहित दूसरी क्रिप्टो करेंसी में 15 फीसदी की गिरावट दर्ज की जा चुकी है। एक आंकड़े के मुताबिक, क्रिप्टो करेंसी में पैसा लगाने के मामले में भारत दुनिया का नंबर 1 देश है। अमेरिका दूसरे नंबर पर है वहां लगभग 3 करोड़ इन्वेस्टर है

आरबीआई लाएगा अपनी क्रिप्टो करेंसी

क्रिप्टो करेंसी टेक्नोलॉजी को बढ़ावा देने के लिए सरकार कुछ ढील भी दे सकती है। किस क्रिप्टोकरेंसी को राहत मिलेगी। ये अभी साफ नहीं है। वहीं बिल की मदद से रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया को अपनी आधिकारिक डिजिटल करेंसी जारी करने के लिए सुविधाजनक फ्रेमवर्क मिलेगा।

क्रिप्टो करेंसी बैन के लिए संसद में विधेयक पेश करने की खबर के बाद क्रिप्टो बाजार धरशायी हो गया। बीती रात 11 बजे के करीब सभी प्रमुख क्रिप्टो करेंसी में क्रिप्टो कोड लगभग 15 प्रतिशत या उससे अधिक की गिरावट देखी गई। बिटकॉइन में 17 प्रतिशत से अधिक कमी दर्ज की गई। वहीं, इथीरियम में लगभग 15 प्रतिशत की गिरावट देखी गई। टेदर में लगभग 18 प्रतिशत और कारडानी में 17 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई।

किस क्रिप्टो करेंसी में कितनी गिरावट?

  • बिटकॉइन 17%
  • इथीरियम 15%
  • टेदर 16%
  • कारडानो 17%

अब सवाल है कि क्रिप्टो करेंसी पर अगर बैन लगती है तो इसका क्या असर होगा। इसे आपको आसान भाषा में समझाते हैं। देश में लगभग 9-10 करोड़ लोगों का क्रिप्टो करेंसी में निवेश है। अभी तक लोगों ने करीब 70 हजार करोड़ रुपये डिजिटल करेंसी के रूप में इन्वेस्टमेंट किया है। देश में बैन के बाद दुनिया भर में क्रिप्टो करेंसी के दाम गिरेंगे। भारत में जो निवेशक हैं उन्हें हर हाल में अपना क्रिप्टो बेचकर निकलना होगा। तकरीबन 10 करोड़ निवेशकों को सिर्फ और सिर्फ बेचना होगा, वे खरीद नहीं सकते। ऐसे में जब सभी को बेचना ही है तो फिर खरीदेगा कौन? - इस हालात में जिन लोगों ने अपना पैसा लगाया है उन्हें नुकसान सहकर भी अपना क्रिप्टो बेचना होगा।

पीएम मोदी ने भी किया आगाह

अभी हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी ने दुनिया को बताया भी था कि जिस तरह से क्रिप्टो करेंसी में लोग पैसा लगा रहे हैं, वो खतरनाक हो सकता है।

क्रिप्टो करेंसी एक तरह की वर्चुअल क्रिप्टो कोड करेंसी है। आसान भाषा में कहे तो ये कि इसे नोट या सिक्के की तरह हाथ में नहीं ले सकते। इसका कोई फिजिकल एग्जीस्टेंस नहीं होता है। ये डिजिटल एसेट्स होते हैं। क्रिप्टोग्राफी से इन्हें सेक्योर किया जाता है। इसमें लेन-देन पर कोई नियंत्रण नहीं होता है। हर एक क्रिप्टोकरेंसी, यूनिक प्रोग्राम कोड से बनाई जाती है जिससे कि एक ही क्रिप्टोकरेंसी की कॉपी बना लेना या धोखाधड़ी कर पाना तकरीबन नामुमकिन है। ये दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी करेंसी है।

रेटिंग: 4.12
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 444
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *