विदेशी मुद्रा विश्लेषण

बिटकॉइन की खोज

बिटकॉइन की खोज
#सीएमसी समुदाय श्रेणी जितना अधिक आप किसी चीज में रुचि रखते हैं, उतनी ही आप उस पर प्रतिक्रिया करते हैं।
भीड़ ने हाल ही में इन शीर्ष 3 परियोजनाओं के बिटकॉइन की खोज लिए अतिरिक्त देखभाल दिखाई है: @ToonSwapFinance @defichain @FCF_Bsc कुछ नए चेहरे भी देखने को मिल रहे हैं: @जेरिटेक्स @VitaInuCoin @Pandora_DEX pic.twitter.com/I5HaXelpJi– कॉइनमार्केटकैप (@CoinMarketCap) 26 अक्टूबर, 2022

Web3 प्लेटफ़ॉर्म टून फ़ाइनेंस, CoinMarketCap की खोज सूची में सबसे ऊपर है

क्रिप्टोक्यूरेंसी उद्योग लंबे समय से अपने शुरुआती चरण से आगे निकल गया है जो एक दशक पहले बिटकॉइन ब्लॉकचेन के लॉन्च के साथ आया था। डिजिटल संपत्ति की दुनिया का प्रतिनिधित्व करने के बीच में अनगिनत परियोजनाएं, वेबसाइटें, कंपनियां और सब कुछ हैं।

दुनिया की सबसे बड़ी उद्योग वेबसाइट कॉइनमार्केटकैप है, जिसका स्वामित्व दुनिया के सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंज – बिनेंस के पास है। प्रति माह करोड़ों विज़िट वाली साइट होने के नाते, यह क्रिप्टो नवागंतुकों, निवेशकों और व्यापारियों के लिए पसंदीदा स्थान बन गया है।

इस तरह, यह जो डेटा प्रदान करता है, जब यह कुछ परियोजनाओं, उनकी संभावनाओं, मूल मूल्यों आदि की खोज करने वाले उपयोगकर्ताओं के लिए बहुत महत्वपूर्ण हो सकता है। पिछले सप्ताह के परिणाम काफी भारी थे, यह दिखाते हुए कि खोजों के मामले में स्पष्ट नेता ToonSwanFinance था। और इसकी मूल क्रिप्टोक्यूरेंसी – टीएफटी।

#सीएमसी समुदाय श्रेणी

जितना अधिक आप किसी चीज में रुचि रखते हैं, उतनी ही आप उस पर प्रतिक्रिया करते हैं।
भीड़ ने हाल ही में इन शीर्ष 3 परियोजनाओं के लिए अतिरिक्त देखभाल दिखाई है: @ToonSwapFinance @defichain @FCF_Bsc

कुछ नए चेहरे भी देखने को मिल रहे हैं: @जेरिटेक्स @VitaInuCoin @Pandora_DEX pic.twitter.com/I5HaXelpJi

– कॉइनमार्केटकैप (@CoinMarketCap) 26 अक्टूबर, 2022

परियोजना के पीछे की टीम इसे एक प्रोटोकॉल के रूप में वर्णित करती है, जिसका लक्ष्य वेब 3 शब्दावली के तहत सभी उभरती हुई तकनीकों का सबसे अच्छा संयोजन करना है – विकेंद्रीकृत वित्त, अपूरणीय टोकन, मेटावर्स और प्ले-टू-अर्न।

पारंपरिक तरीके से जाने के बजाय, टून फाइनेंस ने प्रमुख SHA256 एन्क्रिप्शन मॉडल द्वारा समर्थित एक P2E प्लेटफॉर्म मेटावर्स प्लेटफॉर्म विकसित किया है। यह उपयोगकर्ताओं की सुरक्षा को बढ़ाता है और सदा-महत्वपूर्ण गुमनामी कारक को बढ़ाता है।

ERC-20 टोकन के रूप में एथेरियम के शीर्ष पर संचालित, TFT एक समुदाय-संचालित शासन और उपयोगिता सिक्का है। यह धारकों को एक निर्दिष्ट उपकरण के माध्यम से निष्क्रिय आय अर्जित करने की अनुमति देता है और क्रिप्टोकॉम जैसे कुछ सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंजों पर उपलब्ध है।

इसमें 2% डेवलपर कर लगता है, साथ ही P2E पुरस्कार पूल को आवंटित 25% कर लगता है, जिसे P2R प्रणाली में NFT खरीद पर रखा जाएगा।

तून वित्त के बारे में

Web3 के उद्भव की शुरुआत में, टून फाइनेंस एकल-उद्देश्य वाले प्लेटफ़ॉर्म से अधिक प्रदान करता है। इसके उपयोगकर्ता एक सुरक्षित जगह का लाभ उठा सकते हैं जहां वे NFTs, DeFi, मेटावर्स और बीच में सब कुछ से निपट सकते हैं।

अतिरिक्त लाभों में बढ़ी हुई गुमनामी और तेज़ इंटरफ़ेस शामिल हैं।

कॉइनमार्केटकैप की खोज सूची में वेब3 प्लेटफॉर्म टून फाइनेंस सबसे ऊपर है, जो सबसे पहले क्रिप्टोपोटैटो पर दिखाई दिया।

Owner of Bitcoin – बिटकॉइन का मालिक कौन है – Know about the Origin of Bitcoin

Bitcoin Everything about Crypto Currency

Owner of Bitcoin – बिटकॉइन का मालिक कौन है – Know about the Origin of Bitcoin

Owner of Bitcoin – Know about the Origin of Bitcoin // दोस्तों Bitcoin ka malik kaun hai आपने कई बार BITCOIN का नाम तो आपने काफी बार सुना ही होगा जिसके बारे में बहुत सारे लोग भली-भांति जानते भी होंगे मगर फिर भी कुछ लोगों को इस बात का बहुत ही ज्यादा असमंजस रहता है कि आखिर यह बिटकॉइन है क्या तो दोस्तों आज हम हमारी इस आर्टिकल में बिटकॉइन के बारे में बताइए कि आखिर बिटकॉइन क्या है? और बिटकॉइन का मालिक कौन है? बिटकॉइन किस देश की करेंसी है? बिटकॉइन का सीईओ कौन है? बिटकॉइन का ओनर कौन है?

Bitcoin Everything about Crypto Currency

तो दोस्तों इन सभी सवालों का जवाब जानने के लिए आप हमारे इस आर्टिकल को आगे जरूर पढ़ें। हम अपनी इस आर्टिकल में बिटकॉइन से जुड़ी हर जानकारी बताऊंगा तो अगर आप बिटकॉइन से जुड़ी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारी आर्टिकल को आगे जरूर पढ़ें।

हर देश की एक अलग जिसे उस देश में खरीददारी के लिए इस्तेमाल किया जाता है लेकिन कुछ ऐसी भी मुद्रा है जिसके जरिये किसी भी देश में लेनदेन कर सकते है ठीक उसी प्रकार बिटकॉइन है लेकिन यह एक ऐसी मुद्रा है जिसे ना तो हम देख सकते है और ना ही उसे छू सकते है क्योंकि यह एक डिजिटल करेंसी है. जो Peer to Peer सिक्योर नेटवर्क के जरिये लेनदेन किया जाता है.

इस मुद्रा को ऑनलाइन वॉलेट के माध्यम से ख़रीदा जा जाता है जिस तरह पेटीएम में मनी लोड करते है ठीक उसी तरह उसे भी डिजिटल वॉलेट के माध्यम से लोड किया जा सकता है यानि ख़रीदा जा सकता उसके बाद इसका यूज़ ऑनलाइन लेनदेन के लिए कर सकते है.

काफी लोग Bitcoin में इन्वेस्ट भी करते है क्योंकि इसका रेट हर दिन घटता बढ़ता रहते है इसलिए जब इसका रेट कम होता है तो बिटकॉइन को खरीद लेते है और जब इसका रेट बढ़ता है तो इसे सेल कर देते है ये सारा काम ऑनलाइन प्लेटफार्म के जरिये किया जाता है. इसके लिए काफी सारे प्लेटफार्म है जिसमे सबसे पॉपुलर Zebpay है जिसके जरिये बिटकॉइन को ऑनलाइन ख़रीदा या बेचा जा सकता है.

बिटकॉइन क्या है – What is Bitcoin

हर देश की एक अलग मुद्रा होती है जिसे आप केवल उसी देश में कोई भी चीज को खरीदने के लिए इस्तेमाल करते हैं। लेकिन कुछ ऐसे भी मुद्रा है जिसके जरिए आप किसी भी देश में लेन देन कर सकते हैं और कुछ भी खरीद सकते हैं ठीक उसी तरह बिटकॉइन भी है आप बिटकॉइन से किसी भी देश में लेनदेन कर सकते हैं लेकिन बिटकॉइन एक ऐसी मुद्रा है जिसे ना हम छू सकते हैं और ना ही इसे देख सकते हैं.

Bitcoin Everything about Crypto Currency

क्योंकि यह एक डिजिटल करेंसी है जो peer to peer सिक्योर नेटवर्क के जरिए लेनदेन किया जाता है इस मुद्रा को ऑनलाइन वॉलेट के जरिए खरीदा जाता है | वेसे बिटकॉइन का इस्तेमाल बहुत सारे एप के माध्यम से किया जाता जहां आप उस एप मे बिटकॉइन को खरीद ओर बेच सकते है वेसे आपलोग को coinswitch app kya hai इसके बारे मे पता तो होगा ही क्योंकि कोइनस्विटच एप मे बिटकॉइन मे इन्वेस्ट किया जाता है | ओर भी बहुत सारे एप है जहां बिटकॉइन (BITCOIN) को खरीद ओर बेचा जाता है आप लोग वजज़ीर एप मे से भी बिटकॉइन मे इन्वेस्ट कर सकते है |

Bitcoin का मालिक कौन है – Who is the Owner of Bitcoin

बिटकॉइन का ऑथर Satoshi Nakamoto है. वैसे इसका कोई एक व्यक्ति मालिक नहीं है क्योंकि यह एक ओपन सोर्से डीसेण्ट्रलाइज डिजिटल करेंसी है इसे सातोशी का नाम दिया गया है. और यह एक इलेक्ट्रॉनिकली स्टोर रहने वाली मुद्रा है जिसे किसी डिजिटल वॉलेट के माध्यम से स्टोर करके रखा जा सकता है. लोग Bitcoin एक व्यवसाय के रूप में भी इस्तेमाल करते है शुरुआती दिनों में इसका रेट काफी कम था उस समय बहुत से लोगों ने इसमें इन्वेस्ट किया और जब बिटकॉइन के मूल्य में बढ़ोतरी हुई तो लोगों ने इसे सेल करके काफी अच्छा मुनाफा कमाया था.

अब बिटकॉइन का रेट काफी बढ़ चूका है यदि इस समय Bitcoin के मूल्य की बात करे तो भारतीय रुपए में 1 बिटकॉइन का रेट 25,45,947 है. कुछ ऐसी वेबसाइट भी है जिसके जरिये माइनिंग करके बिटकॉइन बनाये जा सकते है ये साइटें कम्प्यूटर पॉवर के जरिये एक ट्रांजैक्शन प्रोसेस करती है जिससे Bitcoin का निर्माण होता है. Bitcoin Mining करने के बाद वॉलेट में भी ले सकते है.

Bitcoin Everything about Crypto Currency

कई लोगों का यह मानना है कि सतोशी नाकामोतो किसी एक व्यक्ति का नाम नहीं बल्कि यह एक ग्रुप है, जिसने मिलकर क्रिप्टोकरंसी पर काम किया था और बिटकॉइन की शुरुआत की थी लोगों का मानना है कि सतोशी नाकामोतो नाम का ग्रुप ब्लॉकचेन तकनीक पर काफी समय से रिसर्च कर रहा था और इसी ग्रुप ने आगे चलकर बिटकॉइन और कई और क्रिप्टोकरंसीज की शुरुआत की थी।

इंटरनेट पर सतोशी नाकामोतो नाम के व्यक्ति की उम्र 42 वर्ष बताई गई है बिटकॉइन की खोज लेकिन इसका भी कोई प्रमाण उपलब्ध नहीं है Bitcoin जितना रहस्यमय है उतना ही रहस्यमय सतोशी नाकामोतो भी है क्योंकि एक ऐसी क्रिप्टोकरंसी जिसकी वैल्यू देखते ही देखते करोड़ों में पहुंच गई और जिसने बड़े बड़े इन्वेस्टर्स को मालामाल कर दिया क्रिप्टोकरंसी के नाम पर जिस बिटकॉइन को सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है, उस बिटकॉइन के आविष्कारक के बारे में कोई नहीं बिटकॉइन की खोज जानता।

बिटकॉइन आने के बाद जब धीरे धीरे इसकी पहचान बढ़ने लगी तो इसी के साथ साथ बहुत सारी अन्य क्रिप्टोकरेंसीज ने भी मार्केट में अपना कदम रखा आज मार्केट में मुख्य क्रिप्टोकरंसी के नाम पर बिटकॉइन, इथेरियम, डॉग कैश जैसी कई क्रिप्टोकरंसी है सभी क्रिप्टोकरेंसीज काफी सही चल रही है और लोग क्रिप्टोकरंसी में ज्यादा इन्वेस्टमेंट कर रहे हैं।

बिटकॉइन किस देश की मुद्रा है – Bitcoin is of Which Country

इसे बनाने वाले व्यक्ति जापान के नागरिक है परन्तु बिटकॉइन को आमतौर पर किसी एक देश की करेंसी नहीं कहा जा सकता है क्योंकि यह एक डिजिटल करेंसी है और इसे हर कोई व्यक्ति ऑनलाइन खरीद या बेच सकता है या ऑनलाइन इस्तेमाल कर सकता है. Bitcoin की शुरुआत 3 जनवरी 2009 में सातोशी नकामोतो नामक व्यक्ति द्वारा की गई थी. इनका जन्म 5 अप्रैल 1975 को जापान में हुआ था.

दोस्तों बिटकॉइन ब्लॉकचेन नाम की टेक्नोलॉजी पर काम करने वाली एक क्रिप्टोकरंसी है अगर यह धारणा सही है कि Bitcoin की शुरुआत सतोशी नाकामोतो नाम के जापानी व्यक्ति ने की थी तो हम यह कह सकते हैं कि बिटकॉइन जापान देश की क्रिप्टोकरेन्सी है क्योंकि इसकी शुरुआत जापान देश में ही हुई लेकिन यह धारणा सौ परसेंट सही नहीं है।

Bitcoin Everything about Crypto Currency

इसलिए हम यह नहीं मान सकते कि बिटकॉइन किसी देश के साथ जुड़ी हुई एक क्रिप्टोकरंसी है वैसे क्रिप्टोकरंसी किसी भी देश के साथ जुडी हुई नहीं हो सकती हां क्रिप्टो करेंसी की शुरुआत अगर किसी देश में हुई है तो हम मान सकते हैं कि उस देश में उस करंसी की खोज हुई है लेकिन किसी भी देश का क्रिप्टोकरंसी पर मालिकाना हक नहीं हो सकता।

भारत में bitcoin का भविष्य – India me Bitcoin ka future

दुनिया भर में दो करोड़ के क़रीब बिटकॉइन चलन में हैं जिनमें से दो हज़ार भारत में बताए जाते हैं. इसकी क़ीमत में लगातार भारी उतार चढ़ाव दिख रहा है, कुछ जानकारों का कहना है कि यह अगले कुछ महीनों में इसकी वैल्यू 50 प्रतिशत गिर सकती है, तो कुछ दूसरे विशेषज्ञों का मानना है कि यह 30 लाख से बढ़कर 75 लाख तक हो सकता है. पर इसके बारे में बिलकुल fixed तरीके से कुछ कहा नहीं जा सकता है। भारत में नए नए कानून भी बन सकते हैं जिसके कारन bitcoin के भविष्य के बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता है।

फेसबुक जल्द ला सकती है अपना बिटकॉइन, भुगतान करने में मिलेगी मदद

नई दिल्ली। दुनिया की दिग्गज सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ( Facebook ) के बारे में आज के समय में हर कोई जानता है। वर्तमान में फेसबुक के बिना लोग अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं। सोशल मीडिया के बाद अब फेसबुक एक और बड़ी योजना पर प्लान कर रही है। आपको बता दे कि फेसबुक अब आभासी मुद्रा ( क्रिप्टो करेंसी ) आधारित भुगतान प्रणाली ( पेमेंट सिस्टम ) लाने की योजना में है। इसे वह अपने दुनियाभर के करोड़ों यूजर्स के लिए जल्द ही पेश कर सकती है।

bitcoin

मीडिया से मिली जानकारी

अमरीकी अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल से मिली जानकारी के अनुसार यह पेमेंट बिटकॉइन ( Bitcoin ) की तरह ही डिजिटल क्वाइन का उपयोग करेगी, लेकिन यह थोड़ा अलग होगा। फेसबुक का लक्ष्य इसके मूल्य के स्थिर रखना होगा। वॉल स्ट्रीट जर्नल ने अपनी रिपोर्ट में मामले से जुड़े लोगों का हवाला दिया है।

क्या होता है बिटकॉइन

बिटकॉइन एक वर्चुअल करेंसी है। इसका कोई दस्तावेज नहीं होता है, किसी भी वर्चुअल करेंसी को खरीदने के लिए उससे संबधित एप को डाउनलोड करना होता है। एप के जरिए आप इसका भुगतान करके इसे खरीद सकते हैं।

कंपनी कर रही विचार

इसमें कहा गया है कि फेसबुक नेटवर्क को पेश करने के लिए दर्जनों वित्तीय कंपनियों और ऑनलाइन मर्चेंट की नियुक्ति कर रही है। फेसबुक का सिर्फ इतना कहना है कि वह आभासी मुद्रा प्रौद्योगिकी के लिए विभिन्न समाधानों की खोज कर रही है।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार,फाइनेंस,इंडस्‍ट्री,अर्थव्‍यवस्‍था,कॉर्पोरेट,म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App

बीटीसी माइनर अरकॉन एनर्जी ने खनन क्षमता को बढ़ावा देने के लिए $28 मिलियन का अनुदान संचय किया

हाल ही में देखे गए एक दस्तावेज़ के अनुसार क्रिप्टो आलू, हाइड्रोक्राफ्ट एएस की खरीद अपनी वैश्विक पहुंच का विस्तार करने के लिए अरकॉन एनर्जी की योजना का हिस्सा थी। दोनों संस्थाएँ बिटकॉइन की खान के लिए अक्षय ऊर्जा का उपयोग करती हैं, कम लागत वाले उत्पादन और कम पर्यावरणीय क्षति को सुनिश्चित करती हैं।

मौजूदा बाजार में गिरावट और बिटकॉइन की अपेक्षाकृत कम कीमत के बावजूद, आर्कन एनर्जी के सीईओ – जोश पायने – ने तर्क दिया कि इस तरह के मल्टीमिलियन फंडराइज़र और अधिग्रहण उनके संगठन के लिए “एक सम्मोहक अवसर प्रदान कर सकते हैं”।

“हम इस लेनदेन को पूरा करने के लिए उत्साहित हैं, और हम निकट भविष्य में विकास के कई अतिरिक्त अवसरों को निष्पादित करने के लिए तत्पर हैं,” उन्होंने कहा।

बार्कर्स पॉइंट कैपिटल एडवाइजर्स के मैनेजिंग पार्टनर बैरी कुफेरबर्ग ने राय दी कि मुश्किल समय विजेता और हारने वाले बना सकते हैं। अपने नवीनतम कार्यों के साथ, अरकॉन एनर्जी आने वाले महीनों में समृद्ध होने के लिए “अच्छी तरह से तैनात” है, उन्होंने समझाया।

ऑस्ट्रेलियाई संगठन ने इक्विटी पूंजी और वरिष्ठ ऋण के संयोजन के साथ लेनदेन को वित्तपोषित किया। ब्लू स्काई कैपिटल और शिमा कैपिटल सहित प्रमुख निवेशकों ने भी फंडरेसर में भाग लिया।

जबकि दुनिया भर में कई बीटीसी खनिकों को लंबे समय तक क्रिप्टो सर्दियों के कारण गंभीर मौद्रिक मुद्दों का सामना करना पड़ता है, यह अक्रोन एनर्जी के मामले में नहीं है। यह 100% नवीकरणीय ऊर्जा का उपयोग करता है और कम ऋण वाले वित्तीय मॉडल को प्राथमिकता देता है, जो इसे बाजार में गिरावट के दौरान बचाए रखने की अनुमति देता है और इसकी बैलेंस शीट को स्थिर रखता है।

क्षेत्र भर में समस्याएं

चल रहे भालू बाजार ने बिटकॉइन खनन उद्योग को कड़ी टक्कर दी है। सबसे बुरी तरह प्रभावित संस्थाओं में शामिल हैं
क्षेत्र के दिग्गज, जैसे कि कोर साइंटिफिक और दंगा ब्लॉकचैन।

कई रिपोर्टों ने संकेत दिया कि पूर्व वर्ष के अंत तक नकदी से बाहर हो सकता है और दिवालियापन के लिए फाइल कर सकता है। फर्म के शेयरों ने अफवाहों पर नकारात्मक प्रतिक्रिया व्यक्त की और काफी गिर गए। इन पंक्तियों को लिखते समय, वे पिछले महीने के आंकड़ों की तुलना में लगभग $0.20 या 82% की गिरावट पर व्यापार कर रहे थे।

दंगा ब्लॉकचैन ने Q3 के लिए निराशाजनक राजस्व पोस्ट किया। इस अवधि के लिए कंपनी का शुद्ध घाटा $36.6 मिलियन के बराबर था, जबकि राजस्व $46.3 मिलियन था (उम्मीद थी कि लाभ $54 मिलियन से अधिक होगा)।

अमेरिकी कंपनी टेक्सास में कई अन्य खनिकों में शामिल हो गई, जिन्होंने चरम मांग के दौरान बिजली नेटवर्क की सुरक्षा के लिए पिछले कुछ महीनों में स्वेच्छा से अपनी कुछ सुविधाओं को बंद कर दिया। नतीजतन, दंगा का बिटकॉइन उत्पादन वर्ष की तीसरी तिमाही के दौरान काफी गिर गया।

पोस्ट बीटीसी माइनर अरकॉन एनर्जी ने खनन क्षमता को बढ़ावा देने के लिए $ 28 मिलियन का फंडराइजर हासिल किया, जो कि क्रिप्टोपोटैटो पर पहली बार दिखाई दिया।

Bitcoin का मालिक कौन है और बिटकॉइन किस देश की करेंसी है

bitcoin ka malik kaun hai

चलिए जानते है Bitcoin का मालिक कौन है और बिटकॉइन किस देश की करेंसी है. इसका नाम तो आपने काफी बार सुना होगा जिसमे से बहुत से लोग इसके बारे में भलीभांति जानते भी है परन्तु कुछ लोग इस करेंसी को लेकर काफी कंफ्यूज है उनकों इसके बारे में यह समझ में नहीं आ रहा है की ये असल में है क्या तो आज आपको इससे रिलेटेड सारी जानकारी देंगे.

हर देश की एक अलग जिसे उस देश में खरीददारी के लिए इस्तेमाल किया जाता है लेकिन कुछ ऐसी भी मुद्रा है जिसके जरिये किसी भी देश में लेनदेन कर सकते है ठीक उसी प्रकार बिटकॉइन है लेकिन यह एक ऐसी मुद्रा है जिसे ना तो हम देख सकते है और ना ही उसे छू सकते है क्योंकि यह एक डिजिटल करेंसी है. जो Peer to Peer सिक्योर नेटवर्क के जरिये लेनदेन किया जाता है.

इस मुद्रा को ऑनलाइन वॉलेट के माध्यम से ख़रीदा जा जाता है जिस तरह पेटीएम में मनी लोड करते है ठीक उसी तरह उसे भी डिजिटल वॉलेट के माध्यम से लोड किया जा सकता है यानि ख़रीदा जा सकता उसके बाद इसका यूज़ ऑनलाइन लेनदेन के लिए कर सकते है.

काफी लोग Bitcoin में इन्वेस्ट भी करते है क्योंकि इसका रेट हर दिन घटता बढ़ता रहते है इसलिए जब इसका रेट कम होता है तो बिटकॉइन को खरीद लेते है और जब इसका रेट बढ़ता है तो इसे सेल कर देते है ये सारा काम ऑनलाइन प्लेटफार्म के जरिये किया जाता है. इसके लिए काफी सारे प्लेटफार्म है जिसमे सबसे पॉपुलर Zebpay है जिसके जरिये बिटकॉइन को ऑनलाइन ख़रीदा या बेचा जा सकता है.

Bitcoin का मालिक कौन है

बिटकॉइन का ऑथर Satoshi Nakamoto है. वैसे इसका कोई एक व्यक्ति मालिक नहीं है क्योंकि यह एक ओपन सोर्से डीसेण्ट्रलाइज डिजिटल करेंसी है इसे सातोशी का नाम दिया गया है. और यह एक इलेक्ट्रॉनिकली स्टोर रहने वाली मुद्रा है जिसे किसी डिजिटल वॉलेट के माध्यम से स्टोर करके रखा जा सकता है. लोग Bitcoin एक व्यवसाय के रूप में भी इस्तेमाल करते है शुरुआती दिनों में इसका रेट काफी कम था उस समय बहुत से लोगों ने इसमें इन्वेस्ट किया और जब बिटकॉइन के मूल्य में बढ़ोतरी हुई तो लोगों ने इसे सेल करके काफी अच्छा मुनाफा कमाया था.

अब बिटकॉइन का रेट काफी बढ़ चूका है यदि इस समय Bitcoin के मूल्य की बात करे तो भारतीय रुपए में 1 बिटकॉइन का रेट 25,45,947 है. कुछ ऐसी वेबसाइट भी है जिसके जरिये माइनिंग करके बिटकॉइन बनाये जा सकते है ये साइटें कम्प्यूटर पॉवर के जरिये एक ट्रांजैक्शन प्रोसेस करती है जिससे Bitcoin का निर्माण होता है. Bitcoin Mining करने के बाद वॉलेट में भी ले सकते है.

बिटकॉइन किस देश की करेंसी है

इसे बनाने वाले व्यक्ति जापान के नागरिक है परन्तु बिटकॉइन को आमतौर पर किसी एक देश की करेंसी नहीं कहा जा सकता है क्योंकि यह एक डिजिटल करेंसी है और इसे हर कोई व्यक्ति ऑनलाइन खरीद या बेच सकता है या ऑनलाइन इस्तेमाल कर सकता है. Bitcoin की शुरुआत 3 जनवरी 2009 में सातोशी नकामोतो नामक व्यक्ति द्वारा की गई थी. इनका जन्म 5 अप्रैल 1975 को जापान में हुआ था.

आशा करती हूँ की आपको मेरे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी होगी और अब आपको पता चल गया होगा की Bitcoin का मालिक कौन है और बिटकॉइन किस देश की करेंसी है. इसका मुख्य Symbol – ₿ ये है और इसे BTC के नाम से भी जाना जाता है.

नोट: भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा बिटकॉइन को अधिकारिक अनुमति नहीं दी है एक प्रेस के जरिये चेतावनी देते हुए कहा है की इसका लेनदेन जोखिम हो सकता है.

रेटिंग: 4.23
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 340
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *