फोरेक्स टुटोरिअल

इथेरियम की कीमत में उतार

इथेरियम की कीमत में उतार
क्रिप्टोकरेंसी में तेज गिरावट, बिटक्वाइन में निवेश घटा

27 साल के लड़के ने भारत को कोरोना से लड़ने के लिए दिया 7000 करोड़ रुपए का दान

नई दिल्ली। कोरोना (Corona) महामारी के इस संकट में कई देश भारत (India) की मदद कर रहे हैं. इस बीच 27 साल के एक लड़के ने भारत को सबसे बड़ा दान दिया है. बता दें कि इस युवक ने भारत को एक बिलियन डॉलर से ज्यादा यानी कि करीब 7000 करोड़ रुपए दान किए हैं. तो आइए जानते हैं कि कौन है ये लड़का, जो इतनी छोटी सी उम्र में अरबपति बन गया है.

कौन है वितालिक बुतेरिन
27 साल का वितालिक बुतेरिन ( Vitalik Buterin ) क्रिप्टोकरेंसी प्लेटफॉर्म इथेरियम ( Cryptocurrency Platform Ethereum ) के फाउंडर हैं. वितालिक ने कोविड रिलीफ फंड ( Covid Relief Fund ) में यह दान दिया है. कोविड रिलीफ में मिले इस दान को अब तक का सबसे बड़ा दान माना जा रहा है. सेलिब्रिटी नेटवर्थ वेबसाइट के हवाले से बुतेरिन की कुल संपत्ति 21 बिलियन डॉलर है. बुतेरिन ने जो दान दिया है वो क्रिप्टोकरेंसी में है. इनमें 500 इथेर सिक्के और 50 ट्रिलियन से ज्यादा शिबा इनु सिक्के शामिल हैं.

रूस में जन्म और अब कनाडा में रह रहे बुतेरिन ने अपने पिता से बिटकॉइन के बारे में जाना. बुतेरिन के पिता इथेरियम की कीमत में उतार एक सॉफ्ट फर्म के मालिक हैं. बुतेरिन ने 17 साल की उम्र में ही बिटकॉइन मैगजीन की शुरुआत कर दी थी. वह यूनिवर्सिटी ऑफ वाटरलू में कंप्यूटर साइंस की पढ़ाई कर रहे थे लेकिन बाद में पढ़ाई छोड़ दी. बुतेरिन को Thiel Fellowship में 1 लाख डॉलर भी मिले थे.

यह भी पढ़ें इथेरियम की कीमत में उतार | टीम इंडिया के मैच का वेन्यू बदला गया, धमकी मिलने के बाद बड़ा फैसला

क्रिप्टोकरेंसी की कीमत में काफी उतार चढ़ाव देखने को मिलता है. यही वजह है कि बुतेरिन की संपत्ति में बीते एक सप्ताह में ही एक अरब डॉलर से बढ़कर 21 अरब डॉलर हो गई है.

दान की रकम ऐसे मिलेगी भारत को
क्रिप्टो स्टार्टअप पोलिगोन के फाउंडर संदीप नेनवाल ने ट्वीट कर बुतेरिन को उनकी मदद के लिए धन्यवाद कहा है. नेनवाल ने बताया कि दान की हुई क्रिप्टोकरेंसी पहले यूएई स्थित ईकाई – क्रिप्टो रिलीफ इंडिया को मिलेगी. यह ईकाई इस दान को इंटरनेशनल क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज से बदलकर उस फंड को बैंक में जमा कराएगी. जहां से फॉरेन कॉन्ट्रिब्यूटर रेगुलेशन एक्ट से अप्रूव एनजीओ के जरिए वह पैसा भारत आएगा.

क्रिप्टोकरेंसी के बढ़ने या गिरने का क्या कारण है ?

विभिन्न कारक बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरेंसी के मूल्य को प्रभावित कर सकते हैं। क्रिप्टोकरेंसी को अस्थिर माना जाता है, इसलिए आप सोच रहे होंगे कि उन्हें क्या मूल्यवान बनाता है। बिटकॉइन (CRYPTO: BTC) को कुछ दिनों में 5% या 10% की वृद्धि या गिरावट देखना असामान्य नहीं है। क्रिप्टोक्यूरेंसी जितनी छोटी होगी, कीमत में उतार-चढ़ाव की संभावना उतनी ही अधिक होगी। इस लेख को पढ़ने के बाद, आपको इस बात की बेहतर समझ होगी कि क्रिप्टोकरेंसी मूल्यवान क्यों हैं और दिन भर कीमतों में तेजी से उतार-चढ़ाव क्यों होता है।

क्रिप्टोकरेंसी के मूल्य को समझना

क्रिप्टोकरेंसी आमतौर पर केंद्रीय अधिकारियों द्वारा समर्थित नहीं होती हैं जैसे कि फिएट करेंसी और अन्य सरकार द्वारा अनुमोदित एक्सचेंज मीडिया। सरकारी समर्थन मुद्रा के मूल्य में उपभोक्ता का विश्वास बढ़ा सकता है और बड़े पैमाने पर खपत और मुद्रा की वसूली प्रदान कर सकता है। (बिटकॉइन के साथ करों का भुगतान करने का प्रयास करें।) हालांकि, क्रिप्टोकरेंसी आमतौर पर विकेंद्रीकृत होती हैं, इसलिए उनका मूल्य अन्य स्रोतों से आता है जैसे:

क्रिप्टोकरेंसी की आपूर्ति और मांग

क्रिप्टोकरेंसी का मूल्य आपूर्ति और मांग पर निर्भर करता है, जैसा कि अन्य चाहते हैं। जब मांग आपूर्ति की तुलना में तेजी से बढ़ती है, तो कीमतें बढ़ती हैं। उदाहरण के लिए, सूखे की स्थिति में, मांग में बदलाव नहीं होने पर अनाज और कृषि उत्पादों की कीमतें बढ़ेंगी। आपूर्ति और मांग के समान सिद्धांत क्रिप्टोकरेंसी पर लागू होते हैं। जब आपूर्ति की तुलना में मांग अधिक होती है तो क्रिप्टोकरेंसी अधिक मूल्यवान होती है।

क्रिप्टोक्यूरेंसी आपूर्ति तंत्र हमेशा ज्ञात होते हैं; प्रत्येक क्रिप्टोक्यूरेंसी अपने टोकन निर्माण और लेखन के लिए एक शेड्यूल प्रकाशित करती है। कुछ, जैसे कि बिटकॉइन, की एक निश्चित अधिकतम आपूर्ति होती है। हम जानते हैं कि हमेशा केवल 21 मिलियन बिटकॉइन होते हैं। इथेरियम (CRYPTO: ETH) जैसे अन्य की कोई आपूर्ति सीमा नहीं है। कुछ क्रिप्टोकाउंक्शंस में सर्कुलर आपूर्ति के अतिवृद्धि और धीमी मुद्रास्फीति को रोकने के लिए मौजूदा टोकन को “बर्न” करने के लिए एक तंत्र है। टोकन लिखने का अर्थ है ब्लॉकचैन पर एक अप्राप्य पते पर टोकन भेजना।

प्रत्येक क्रिप्टोकरेंसी की मौद्रिक नीति अलग होती है। ब्लॉकचेन पर खनन किए गए प्रत्येक नए ब्लॉक के साथ बिटकॉइन की आपूर्ति बढ़ेगी। एथेरियम प्रत्येक खनन ब्लॉक के लिए एक निश्चित इनाम प्रदान करता है, लेकिन यह नए ब्लॉकों में “चाचा” को शामिल करने के लिए भी भुगतान करता है, जिससे ब्लॉकचैन को और अधिक कुशल बनाने में मदद मिलती है। नतीजतन, आपूर्ति वृद्धि तय नहीं है। कुछ क्रिप्टोकरेंसी की आपूर्ति पूरी तरह से परियोजना के लिए जिम्मेदार टीम के विवेक पर है। आपूर्ति का प्रबंधन करने के लिए टीम अधिक टोकन प्रकाशित करना या टोकन लिखना चुन सकती है।

एक परियोजना के अधिक लोकप्रिय या उपयोगी होने पर मांग बढ़ सकती है। एक निवेश के रूप में क्रिप्टोकरेंसी को व्यापक रूप से अपनाने से मांग में वृद्धि हुई है और चक्रीय आपूर्ति को प्रभावी रूप से प्रतिबंधित किया गया है। उदाहरण के लिए, जब संस्थागत निवेशकों ने 2021 की शुरुआत में बिटकॉइन खरीदना और रखना शुरू किया, तो मांग नए सिक्के के निर्माण की दर इथेरियम की कीमत में उतार से अधिक हो गई और बिटकॉइन की कुल उपलब्ध आपूर्ति प्रभावी रूप से कम हो गई। कीमत आसमान छू गई है।

इसी तरह, जैसे-जैसे एथेरियम ब्लॉकचेन पर अधिक विकेन्द्रीकृत वित्त (डीएफआई) परियोजनाएं शुरू की जाती हैं, एथेरियम की मांग बढ़ रही है। लेन-देन के लिए उपयोग की जाने वाली क्रिप्टोकरेंसी के बावजूद, ब्लॉकचेन पर लेनदेन को निष्पादित करने के लिए ईथर की आवश्यकता होती है। या, यदि डीआईएफआई परियोजना अपने आप शुरू हो जाती है, तो आपके अपने टोकन अधिक उपयोगी होंगे और मांग बढ़ेगी।

खनन नामक प्रक्रिया के माध्यम से नए क्रिप्टोकुरेंसी टोकन उत्पन्न होते हैं। क्रिप्टोक्यूरेंसी खनन ब्लॉकचेन पर अगले ब्लॉक को मान्य करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग करता है। खनिकों का एक विकेन्द्रीकृत नेटवर्क क्रिप्टोकाउंक्शंस को काम करता है। इसके बजाय, प्रोटोकॉल क्रिप्टोकुरेंसी टोकन के रूप में पुरस्कार उत्पन्न करता है, इसके अलावा लेनदेन खनिकों का भुगतान करता है।

ब्लॉकचेन को सत्यापित करने के लिए कम्प्यूटेशनल शक्ति की आवश्यकता होती है। प्रतिभागी माइन क्रिप्टोकरेंसी के लिए महंगे उपकरण और बिजली में निवेश करते हैं। बिटकॉइन और एथेरियम में उपयोग किए जाने वाले प्रूफ-ऑफ-वर्क सिस्टम में, क्रिप्टोक्यूरेंसी खनन जितना अधिक प्रतिस्पर्धी होगा, यह मेरे इथेरियम की कीमत में उतार लिए उतना ही कठिन होगा। ऐसा इसलिए है क्योंकि ब्लॉकों को मान्य करने के लिए जटिल गणितीय समस्याओं को हल करने के लिए खनिक अनिवार्य रूप से एक दूसरे के साथ प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं। इसलिए, खनन की लागत बढ़ जाती है क्योंकि सफल खनन के लिए अधिक शक्तिशाली उपकरण की आवश्यकता होती है। जैसे-जैसे खनन की लागत बढ़ती है, क्रिप्टोकरेंसी के मूल्य में वृद्धि की आवश्यकता होती है। यदि आपके द्वारा खदान की गई मुद्रा का मूल्य लागत की भरपाई के लिए पर्याप्त नहीं है, तो खनिक मेरा नहीं होगा। इसके अलावा, ब्लॉकचैन के कामकाज के लिए खनिक आवश्यक हैं, इसलिए जब भी आपको ब्लॉकचैन का उपयोग करने की आवश्यकता होगी, तो कीमत बढ़ जाएगी।

बिटकॉइन और एथेरियम जैसी प्रमुख क्रिप्टोकरेंसी का कई एक्सचेंजों पर कारोबार होता है। लगभग सभी क्रिप्टोक्यूरेंसी एक्सचेंज सबसे लोकप्रिय सिक्कों की सूची बनाते हैं।

हालाँकि, कुछ प्रतिबंध हैं क्योंकि कुछ छोटे टोकन केवल कुछ एक्सचेंजों पर उपलब्ध हैं।

साल 2022 में यह 5 Cryptocurrency दे सकती है तगड़ा रिटर्न, क्या आपके पास है यह Coin

This 5 Cryptocurrency Can Give Strong Return In 2022, Do You Have This Coin

5 Cryptocurrency जो दे सकती है साल 2022 में तगड़ा मुनाफा

Cryptocurrency की कीमतों का अनुमान लगाना बड़ा मुश्किल काम है। क्योंकि यह कब लुढ़क जाए और कब मुनाफा दें जाएं इसकी कोई गारंटी नहीं हैं। लेकिन Cryptocurrency एक्सपर्ट बताते हैं कि साल 2022 में कई बड़े उतार-चढ़ाव क्रिप्टों बाजार में देखने को मिलेंगे। बात साल 2021 की जाए तो कई ऐसी करेंसियां रही जिन्होंने निवेशकों को तगड़ा मुनाफा दिया है। साल 2021 के शुरूआती दिनों में जिन Cryptocurrency की कीमत बेहद कम थी। उन्हीं करेंसियों के दाम साल के अंत तक आसमान में पहुंच गए। आज हम पांच ऐसी करेसियों के बारे में जानेंगे। जिन्हें लेकर एक्सपर्ट का कहना है कि यह साल 2022 में निवेशकों को तगड़ा मुनाफा करा सकती हैं।

Subscription Image

Other Pages

Popular News

Honda Bike Scooty Offer : 3,999 रूपए में घर लें जाएं होण्डा की बाइक व स्कूटी, 5000 कैशबैक भी पाएं, ऑफर नवम्बर महीने तक

Honda Bike Scooty Offer : 3,999 रूपए में घर लें जाएं होण्डा की बाइक व स्कूटी, 5000 कैशबैक भी पाएं, ऑफर नवम्बर महीने तक

  • Manoj Shukla
  • इथेरियम की कीमत में उतार
  • November 22, 2022

Honda Bike Scooty Offer : यदि आप होण्डा की बाइक अथवा स्कूटी खरीदने की सोच रहे हैं तो नवम्बर महीने में कंपनी शानदर ऑफर लेकर आई है। जिसके तहत आप…

Nora Fatehi को जब एक के बाद एक कई थप्पड़ हीरो ने कर दिए थे रशीद, जानिए दिलचस्प किस्सा

Nora Fatehi को जब एक के बाद एक कई थप्पड़ हीरो ने कर दिए थे रशीद, जानिए दिलचस्प किस्सा

  • Manoj Shukla
  • November 22, 2022

नोरा फतेही (Nora Fatehi) ने पहली फिल्म की शूटिंग का किस्सा बयां किया। उन्होंने बताया कि एक हीरो ने उन्हें एक के बाद एक कई थप्पड़ रशीद कर दिए थे।…

जेरोधा के को फाउण्डर निखिल कामथ को डेट कर रही Manushi Chhillar, तलाकशुदा है अभिनेत्री के ब्वॉयफ्रेंड

जेरोधा के को फाउण्डर निखिल कामथ को डेट कर रही Manushi Chhillar, तलाकशुदा है अभिनेत्री के ब्वॉयफ्रेंड

  • Manoj Shukla
  • November 22, 2022

पृथ्वीराज फिल्म से सिने जगत में कदम रखने वाली अभिनेत्री मानुषी छिल्लर (Manushi Chhillar) जेरोधा के को फाउण्डर निखिल कामथ के साथ रिश्ते में हैं। मानुषी छिल्लर (Manushi Chhillar) अब…

Shilpi Raj के एक पोस्ट ने इंटरनेट पर मचा दी खलबली, जानिए क्या लिखा भोजपुरी सिंगर ने…

Shilpi Raj के एक पोस्ट ने इंटरनेट पर मचा दी खलबली, जानिए क्या लिखा भोजपुरी सिंगर ने…

  • Manoj Shukla
  • November 22, 2022

शिल्पी राज (Shilpi Raj) का एक पोस्ट इन दिनों इंटरनेट पर तहलका मचा रहा है। उन्होंने अपने इस पोस्ट में कुछ ऐसी बातें लिखी है जिसे पढ़ने वाले लोग हैरान…

Trending News

LIC ने ग्राहकों के हितों को ध्यान में रखकर किया बड़ा बदलाव, Policy लेने से पहले जान लें पूरी जानकारी

LIC ने ग्राहकों के हितों को ध्यान में रखकर किया बड़ा बदलाव, Policy लेने से पहले जान लें पूरी जानकारी

  • Manoj Shukla
  • November 21, 2022

एलआईसी (LIC) द्वारा हाल ही में पॉलिसी (Policy) के नियमों में एक बड़ा बदलाव किया गया है। यह बदलाव ग्राहकों के हितों को ध्यान में रखकर किया गया है। रिपोर्ट…

unity small finance bank : फिक्स डिपॉजिट पर यह बैंक दे रहा तगड़ा ब्याज, जाने डीटेल्स

unity small finance bank : फिक्स डिपॉजिट पर यह बैंक दे रहा तगड़ा ब्याज, जाने डीटेल्स

  • Manoj Shukla
  • November 21, 2022

unity small finance bank : फिक्स डिपॉजिट पर कई बैंको ने ब्याजदरों में बढ़ोत्तरी की है। मौजूद समय में सबसे ज्यादा कौन सा बैंक ब्याज दे रहा हैं चलिए इस…

Post Office की यह स्कीम 5 साल में देगी 4 लाख का नेट प्रॉफिट, जाने कितना करना होगा निवेश

Post Office की यह स्कीम 5 साल में देगी 4 लाख का नेट प्रॉफिट, जाने कितना करना होगा निवेश

  • Manoj Shukla
  • November 20, 2022

पोस्ट ऑफिस (Post Office) देशभर के नागरिकों के लिए शानदार प्रॉफिट देने वाली योजनाएं पेश करता है। ऐसी ही एक योजना के बारे में आज हम जानेंगे। जिसमें 5 साल…

Maruti की सबसे ज्यादा बिकने वाली कार की कीमत में मिल रही भारी छूट, तुरंत खरीदी पर एक बाइक के लिए बच जाएगा पैसा

Maruti की सबसे ज्यादा बिकने वाली कार की कीमत में मिल रही भारी छूट, तुरंत खरीदी पर एक बाइक के लिए बच जाएगा पैसा

  • Manoj Shukla
  • November 20, 2022

मारूति सुजुकी (Maruti Suzuki) की सबसे ज्यादा बिकने वाली दूसरी कार की कीमत में इन दिनों भारी छूट दी जा रही। यदि इस कार की अभी खरीदी करते हैं तो…

Cryptocurrency Down : बिटक्वाइन में भारी गिरावट, क्रिप्टोकरेंसी से एक ही सप्ताह में निवेशकों ने निकाल लिए चार करोड़ डॉलर

टॉप क्रिप्टोकरेंसी की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई. पिछले सात दिनों में बिटक्वाइन 57 हजार डॉलर से गिर कर 46,581 डॉलर पर आ गया है.

Cryptocurrency Down : बिटक्वाइन में भारी गिरावट, क्रिप्टोकरेंसी से एक ही सप्ताह में निवेशकों ने निकाल लिए चार करोड़ डॉलर

क्रिप्टोकरेंसी में तेज गिरावट, बिटक्वाइन में निवेश घटा

क्रिप्टोकरेंसी की कीमतों में गिरावट का असर क्रिप्टोकरेंसी फंड प्रोडक्ट पर साफ दिख रहा है. पिछले सप्ताह क्रिप्टो में गिरावट की वजह से इससे जुड़े फंड और प्रोडक्ट से निवेशकों के निकलने की रफ्तार तेज हुई है. पिछले सप्ताह निवेशकों ने क्रिप्टोकरेंसी में 18.40 करोड़ डॉलर का निवेश किया लेकिन शुक्रवार को उन्होंने 4 करोड़ डॉलर निकाल भी लिए. इसके पिछले सप्ताह क्रिप्टोकरेंसी प्रोडक्ट में 30.6 करोड़ डॉलर का निवेश हुआ था और यह रिकार्ड 9.5 अरब डॉलर तक पहुंच गया था .

टॉप क्रिप्टोकरेंसी में गिरावट

पिछले सप्ताह टॉप क्रिप्टोकरेंसी की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई. पिछले सात दिनों में बिटक्वाइन 57 हजार डॉलर से गिर कर 46,581 डॉलर पर आ गया है.
CoinMarketCap के मुताबिक इथेरियम ( Ethereum), बिनान्स ( Binance Coin), कारडानो ( Cardano),Polkadot, Dogecoin, Avalanche, shiba Inu में भी गिरावट दर्ज की गई है. हालांकि इस गिरावट की क्या वजह है इसका कोई स्पष्ट कारण नहीं पता चल पा रहा है.

LIC New Endowment Plan: एलआईसी के इस प्लान में रोज बचाएं सिर्फ 71 रुपये, मैच्‍योरिटी पर मिलेंगे 48.75 लाख रुपये

निवेशक डटे रहे तो क्रिप्टोकरेंसी में आ सकती है मजबूती

Cashaa के फाउंडर और सीईओ कुमार गौरव ने कहा कि क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में उतार-चढ़ाव स्वाभाविक है लेकिन जब निवेशकों को यह समझ में आ जाता है कि किसी क्वाइन की क्या अहमियत है और यह इसका प्रोजेक्ट क्या है तो वे इसमें बने रह सकते हैं. निवेशकों के बने रहने पर क्वाइन में स्थिरता आ सकती है. निवेशकों के इन-फ्लो बढ़ने से यह संकेत भी मिलता है कि क्रिप्टोकरेंसी में गिरावट के दौरान लोग खरीदारी कर रहे हैं.

पिछले सप्ताह बिटक्वाइन में 14.50 करोड़ डॉलर का निवेश हुआ था. भले ही शुक्रवार को 4.20 करोड़ डॉलर की निकासी हो चुकी है. दूसरी ओर इथेरियम (Etherium) में निवेश बढ़ता दिखा. निवेशकों ने इसमें ढाई करोड़ डॉलर का निवेश किया हालांकि शुक्रवार को उन्होंने इसमें 47 लाख डॉलर निकाल लिए. बिनान्स और सोलाना में 14 लाख डॉलर का निवेश हुआ है. जबकि सोलाना में 46 लाख डॉलर का निवेश हुआ. जबकि पोलकाडॉट से निवेशकों ने 30 लाख डॉलर निकाल लिए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Gold-Silver Rate Today, 15 Sept 2022: 50,000 से कम है 10 ग्राम सोने की कीमत, चांदी का इतना है दाम

डिंपल अलावाधी

Gold and Silver Rate Today (आज का सोने-चांदी का भाव), 15 September 2022: चालू महीने की शुरुआत से ही सोने की हाजिर कीमत 51,000 रुपये प्रति 10 ग्राम से नीचे बनी हुई है, जबकि चांदी पिछले सत्र की तुलना में 900 रुपये इथेरियम की कीमत में उतार प्रति किलोग्राम से अधिक गिर गई है।

Gold and Silver Rate Today: Gold futures on MCX

  • अमेरिका की बढ़ती ब्याज दरों के प्रति सोना अत्यधिक संवेदनशील है।
  • आज क्रिप्टो मार्केट में लाल निशान पर कारोबार हो रहा है।
  • कच्चे तेल में तेजी है। ब्रेंट क्रूड 1.52 फीसदी बढ़कर 94 डॉलर प्रति बैरल के ऊपर है।

Gold and Silver Rate Today, 15 September 2022: अमेरिकी डॉलर के मुकाबले भारतीय रुपये में उतार-चढ़ाव से सोने की कीमत प्रभावित होती है। गुरुवार को सोने की कीमत में भारी गिरावट देखी जा रही है। अमेरिकी फेडरल रिजर्व की ओर से दर में एक और बड़ी वृद्धि की उम्मीद ने पीली धातु को और प्रभावित किया। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर सोना वायदा (Gold futures on MCX) 0.39 फीसदी या 195 रुपये की गिरावट के साथ 49,823 रुपये प्रति 10 ग्राम पर कारोबार कर रहा था। हालांकि चांदी वायदा (Silver Price) 0.25 फीसदी या 141 रुपये की गिरावट के साथ 56,845 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई।

इंडियन बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन (Indian Bullion and Jewellers Association) के अनुसार हाजिर बाजार में बुधवार को सबसे ज्यादा शुद्धता वाला सोना 50,300 रुपये प्रति 10 ग्राम, जबकि चांदी 56,350 रुपये प्रति किलोग्राम पर बिकी। आज डॉलर के मुकाबले रुपया 79.53 के स्तर पर खुला।

ग्लोबल मार्केट में सोना 0.48 फीसदी सस्ता होकर 1709 डॉलर पर पहुंच गया। चांदी का दाम 0.40 फीसदी ऊपर 19.57 डॉलर पर पहुंच गया। कॉपर 1.01 फीसदी सस्ता होकर 352 डॉलर और जिंक 0.95 फीसदी महंगा होकर 3227 डॉलर तक आ गया। सप्लाई को लेकर चिंता से कच्चे तेल में तेजी (Crude Oil Price) है।

ऐसा रहा क्रिप्टो मार्केट का हाल
क्रिप्टो मार्केट की बात करें, तो पिछले 25 घंटों में दुनिया की सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) 1.51 फीसदी गिरकर 20010 डॉलर के करीब पहुंच गई है। इथेरियम 1.61 फीसदी लुढ़ककर 1592.98 डॉलर पर और XRP 0.33556 डॉलर तक पहुंच गए। सभी शीर्ष क्रिप्टो में गिरावट है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें Business News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

रेटिंग: 4.41
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 840
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *