फोरेक्स टुटोरिअल

स्टॉप लॉस का उपयोग कैसे किया जाता है?

स्टॉप लॉस का उपयोग कैसे किया जाता है?

जानिए क्या होता है शेयर बाजार में स्टॉप लॉस, इससे ज्यादा घाटा होने से बच सकते हैं

मुंबई- बाजार में निवेश के समय स्टॉप लॉस का प्रयोग बार-बार होता है। जब भी आप शेयर खरीदते हैं तो स्टॉप लॉस जरूर एक बार आ जाता है। स्टॉप लॉस छोटी अवधि के लिए तो बहुत महत्वपूर्ण है, लेकिन अगर किसी को लंबी अवधि के लिए निवेश करना है तो फिर उसके लिए इसका कोई बहुत ज्यादा महत्व नहीं है।

आपका शेयर ब्रोकर हर शेयर के लिए एक टार्गेट प्राइस बताता है। मान लीजिये आप किसी कंपनी का शेयर खरीदना चाहते हैं। अभी इसकी कीमत 10 रुपए है। ब्रोकर आपको बताएगा कि तीन महीने में इसकी कीमत बढ़कर 12 रुपए हो जाएगी। इसका मतलब यह है कि आपने 10 रुपए की कीमत पर इस शेयर को 12 रुपए के लक्ष्य के साथ खरीदा है। आप 12 रुपए की कीमत पर पहुंचने पर इस शेयर को बेचकर मुनाफा हासिल कर सकते हैं।

इस शेयर में किसी वजह से गिरावट भी आ सकती है। इसकी कीमत 10 रुपए से कम होने पर आपको नुकसान उठाना पड़ेगा। नुकसान से बचने के लिए आपको स्टॉप लॉस लगाने की सलाह दी जाती है। मान लीजिए इस शेयर के मामले में आपको 9 रुपए की कीमत पर स्टॉप लॉस लगाने की सलाह दी जाती है। इसका मतलब यह हुआ कि किसी वजह से शेयरों में कमजोरी आने पर उसे 9 रुपए में बेच देना ठीक रहेगा।

स्टॉप लॉस वह मूल्य स्टॉप लॉस का उपयोग कैसे किया जाता है? होता है जिस पर आप अपने शेयर बेच देते हैं। स्टॉप लॉस प्राइस पर शेयर बेच देने की वजह से आप बड़े नुकसान से बच जाते हैं। किसी शेयर का स्टॉप लॉस वह मूल्य है जिस पर आपको ज्यादा नुकसान नहीं होता है। वास्तव में आप किसी शेयर की मौजूदा कीमत पर उसमें संभावित नुकसान की सीमा तय कर लेते हैं। इसके बाद ही आप स्टॉप लॉस लगाते हैं, जिससे आपका नुकसान कम हो जाता है।

स्टॉप लॉस का इस्तेमाल इसलिए किया जाता है ताकि शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव के दौर में आप नुकसान से बच सकें। शेयर बाजार काफी हद तक भावनाओं से चलता है. ऐसे में शेयरों में निवेश से आपको जितना लाभ होता है, उतना ही नुकसान भी हो सकता है।

स्टॉप लॉस इसी नुकसान को कम करने का तरीका है। लगाने का एक फायदा यह भी है कि अगर आप नियमित रूप से ट्रेडिंग नहीं करते और अपने निवेश को रेगुलर मॉनीटर नहीं कर सकते तो यह आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। स्टॉप लॉस वास्तव में इस स्थिति में आपको कई खतरों से बचा सकता है।

यहां बताया गया है कि 'वोलैटिलिटी फ़िल्टर' के साथ स्टॉप लॉस लेवल कैसे सुधारें!

स्टॉप लॉस एक ऐसा उपकरण है जिसके बिना व्यापारी लंबे समय तक खेल में बने रहने के लिए व्यापार नहीं कर सकते। यह न केवल हमारे नुकसान को कम करने में मदद करता है बल्कि जब हम अपनी स्थिति से बाहर निकलते हैं और बाजार हमारे खिलाफ चलता रहता है तो भावनात्मक राहत भी देता है। हालाँकि, हमेशा ऐसा नहीं होता है और कई बार बाजार हमारे स्टॉप लॉस को हिट कर देता है, हमें बाहर निकाल देता है और वापस पलट देता है (जिसे व्हिपसॉ कहा जाता है) जिसे पचाना थोड़ा मुश्किल होता है।

हर ट्रेडर को एक बात अपने दिमाग में लिखनी चाहिए कि व्हिपसॉ से बचा नहीं जा सकता। ऐसा समय आएगा और व्हिपसॉ से बचने का एकमात्र तरीका ट्रेडिंग बंद करना है! हालांकि, हमारे प्रवेश/निकास स्तरों पर कुछ फ़िल्टर लागू स्टॉप लॉस का उपयोग कैसे किया जाता है? करके इन व्हिपसॉ को कुछ हद तक कम करने के कुछ तरीके हैं।

कई बार बाजार हमारे स्टॉप लॉस को ट्रिगर करता है, केवल तुरंत वापस लौटने के लिए, जो प्रमुख रूप से बढ़ी हुई अस्थिरता के कारण होता है, जो कि अनियमित चालों को बढ़ावा देता है जो सामान्य नहीं हैं। इस बढ़ी हुई अस्थिरता के परिणामस्वरूप तेज स्पाइक्स (ऊपर/नीचे) होते हैं जो आपके स्टॉप लॉस को हिट करते हैं जो एक अच्छी दूरी पर भी रखा जाता है।

अत्यधिक अस्थिरता के कारण अपने स्टॉप लॉस को मारने की संभावना को कम करने का एक तरीका अस्थिरता फ़िल्टर का उपयोग कर रहा है और मेरा व्यक्तिगत पसंदीदा एटीआर (औसत ट्रू रेंज) है। एटीआर एक संकेतक है जिसे एक निश्चित समय अवधि में स्टॉक की औसत गति को दर्शाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। उदाहरण के लिए, यदि ITC (NS: ITC ) का वर्तमान 14-दिवसीय ATR 6.6 है, तो इसका मतलब है कि ITC ने पिछले 14 सत्रों में INR 6.6 (दिशा के बावजूद) की औसत चाल दी है।

यह जानकारी का एक उपयोगी टुकड़ा है क्योंकि यह आपको यह मापने का एक बहुत ही उचित तरीका देता है कि आपका स्टॉप लॉस सीएमपी से बहुत करीब/बहुत दूर या आदर्श दूरी पर है या नहीं। उपरोक्त उदाहरण को जारी रखते हुए, अगर मुझे पता है कि आईटीसी आसानी से एक दिन में 6.6 रुपये स्थानांतरित कर सकता है तो सीएमपी से 6.6 रुपये की दूरी के भीतर किसी भी स्टॉप लॉस को आसानी से केवल एक स्पाइक के साथ हटाया जा सकता है।

तो आप अस्थिरता में अचानक वृद्धि के कारण व्हिपसॉ की संभावना को कैसे कम कर सकते हैं? यह आसान है। बस मूल SL से INR 6.6 घटाएं जो आपको आपके बाहर निकलने के लिए एक नया निचला स्तर देगा (लंबी स्थिति के मामले में)। इस तरह आपका स्टॉप लॉस स्टॉक के औसत उतार-चढ़ाव से कम हो जाएगा। चूंकि आपका एसएल कम हो जाएगा, यदि यह ट्रिगर हो जाता है, तो आपको मूल की तुलना में अधिक नुकसान उठाना पड़ेगा, जाहिर है और इसलिए प्रवेश करने से पहले ऐसे फिल्टर पर भी विचार किया जाना चाहिए ताकि आप अपनी बेट को उचित आकार दे सकें।

व्हिपसॉ को कम करने के लिए ऐसे कई फिल्टर हैं। एक अन्य उदा. एक समय-आधारित फ़िल्टर है जिसमें आप स्थिति से बाहर निकलने से पहले कीमत को अपने SL के नीचे बनाए रखने के लिए 1 या दो दिन (या जो कुछ भी) प्रतीक्षा करते हैं।

Stocks for intraday trading: ये 6 शेयर आज दे सकते हैं अच्छा मुनाफा

आज इन शेयरों में निवेश करने पर मुनाफा मिलने की उम्मीद

  • Date : 29/08/2022
  • Read: 3 mins Rating : -->

अमेरिकी शेयर बाजारों में आई गिरावट को देखते हुए भारत के शेयरबाजारों में भी असमंजस का माहौल दिखाई दे रहा है। ऐसे में विश्लेषकों की सलाह पर ध्यान देना चाहिए।

Stocks for intraday trading

Stocks for investing in Intra-day trading: पिछले 26 अगस्त को अमेरिकी शेयर बाजारों में काफी गिरावट आई जिसका असर भारत के निवेशकों में भी दिखाई दे रहा है। हालांकि, भारत के शेयर बाजारों में कोई गिरावट नहीं आई और निफ्टी-फिफ्टी सूचकांक 36 अंक ऊपर जाकर 17,558 पर बंद हुआ। इसी तरह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज भी सेंसेक्स 58,833 पर बंद हुआ। निफ्टी बैंक इंडेक्स 36 अंक बढ़त के साथ 38,987 पर बंद स्टॉप लॉस का उपयोग कैसे किया जाता है? हुआ था। ऐसे में एवीपी के तकनीकी अनुसंधान विशेषज्ञ मेहुल कोठारी; आनंद राठी टेक्निकल रिसर्च की उपाध्यक्ष वैशाली पारेख; प्रभुदास लीलाधर; और राजेश भोसले जैसे शेयर बाजार के विश्लेषक आज इंट्रा डे के कारोबार के लिए इन 6 शेयरों को खरीदने की सलाह दे रहे हैं।

इन शेयरों में मेहुल कोठारी ने रेमंड के शेयरों को 995 रुपए का लक्ष्य रख कर 963 रुपए पर, और जिंदल स्टील के शेयरों को 440 रुपए का लक्ष्य रख कर 421 रुपए पर खरीदने की सलाह दी है। साथ ही, इन दोनों शेयरों के लिए क्रमशः 945 रुपए और 408 रुपए का स्टॉप लॉस भी निर्धारित किया गया है। एजिस लॉजिस्टिक्स के शेयर 300 रुपए का लक्ष्य रख कर 264 रुपए पर, और महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज के शेयर 225 रुपए का लक्ष्य रख कर 206 रुपए पर खरीदे जा सकते हैं। राजेश भोसले के अनुसार टाइटन कंपनी के शेयर को 2533 पर खरीदकर 2620 का लक्ष्य रखा जा सकता है, जबकि इसका स्टॉप लॉस 2480 रुपए रखा जाना चाहिए। एनटीपीसी के शेयर 163.40 रुपए पर खरीदकर 171 रुपए का लक्ष्य रख सकते हैं, जिसका स्टॉप लॉस 158.80 रुपए होना चाहिए।

इंट्राडे स्टॉक क्या होता है और इससे कैसे लाभ हो सकता है?

एक ही कारोबारी दिन के भीतर शेयर को खरीदने और बेचने को इंट्रा डे ट्रेडिंग कहा जाता है। इन शेयरों को निवेश करने के उद्देश्य से न खरीदकर स्टॉक इंडेक्स के उतार–चढ़ाव का फायदा उठाकर लाभ कमाने के उद्देश्य से खरीदा जाता है। शेयरों की खरीद-बिक्री से लाभ कमाने के लिए शेयरों की कीमतों में उतार–चढ़ाव पर लगातार निगाह रखी जाती है। हालांकि इंट्रा डे के लिए शेयरों को चुनना अक्सर चुनौतीपूर्ण होता है।

अगर बाजार आपके अनुमान के अनुसार काम करता है तो आप अच्छा लाभ पा सकते हैं। ज्यादा तरलता वाले स्टॉक चुने। जिस शेयर में विक्रेता और खरीदार ज्यादा होते हैं, उसे हाई लिक्वीडीटी शेयर कहते हैं। तो अगर आप एक दिन में लाभ कमाना चाहते हैं तो इन बातों पर खास ध्यान दें। दो या तीन तरल या लिक्वीडिटी वाले शेयर चुनना फायदेमंद हो सकता है। प्रवेश और लक्ष्य मूल्य निर्धारित कर लें। हानि का प्रभाव काम करने के लिए स्टॉप-लॉस का उपयोग करें। लक्ष्य तक पहुंचने पर अपना लाभ समेट लें। एक निवेशक बनने के बजाय व्यापारी बनें। अपने इच्छित शेयरों के बारे में अच्छी तरह से पता लगाएं और सबसे ज़रूरी बात किसी भी परिस्थिति में बाजार के खिलाफ न जाएं।

ये सारे शेयर्स Buy कर लेना

Stocks for investing in Intra-day trading: पिछले 26 अगस्त को अमेरिकी शेयर बाजारों में काफी गिरावट आई जिसका असर भारत के निवेशकों में भी दिखाई दे रहा है। हालांकि, भारत के शेयर बाजारों में कोई गिरावट नहीं आई और निफ्टी-फिफ्टी सूचकांक 36 अंक ऊपर जाकर 17,558 पर बंद हुआ। इसी तरह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज भी सेंसेक्स 58,833 पर बंद हुआ। निफ्टी बैंक इंडेक्स 36 अंक बढ़त के साथ 38,987 पर बंद हुआ था। ऐसे में एवीपी के तकनीकी अनुसंधान विशेषज्ञ मेहुल कोठारी; आनंद राठी टेक्निकल रिसर्च की उपाध्यक्ष वैशाली पारेख; प्रभुदास लीलाधर; और राजेश भोसले जैसे शेयर बाजार के विश्लेषक आज इंट्रा डे के कारोबार के लिए इन 6 शेयरों को खरीदने की सलाह दे रहे हैं।

इन शेयरों में मेहुल कोठारी ने रेमंड के शेयरों को 995 रुपए का लक्ष्य रख कर 963 रुपए पर, और जिंदल स्टील के शेयरों को 440 रुपए का लक्ष्य रख कर 421 रुपए पर खरीदने की सलाह दी है। साथ ही, इन दोनों शेयरों के स्टॉप लॉस का उपयोग कैसे किया जाता है? लिए क्रमशः 945 रुपए और 408 रुपए का स्टॉप लॉस भी निर्धारित किया गया है। एजिस लॉजिस्टिक्स के शेयर 300 रुपए का लक्ष्य रख कर 264 रुपए पर, और महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज के शेयर 225 रुपए का लक्ष्य रख कर 206 रुपए पर खरीदे जा सकते हैं। राजेश भोसले के अनुसार टाइटन कंपनी के शेयर को 2533 पर खरीदकर 2620 का लक्ष्य रखा जा सकता है, जबकि इसका स्टॉप लॉस 2480 रुपए रखा जाना चाहिए। एनटीपीसी के शेयर 163.40 रुपए पर खरीदकर 171 रुपए का लक्ष्य रख सकते हैं, जिसका स्टॉप लॉस 158.80 रुपए होना चाहिए।

इंट्राडे स्टॉक क्या होता है और इससे कैसे लाभ हो सकता है?

एक ही कारोबारी दिन के भीतर शेयर को खरीदने और बेचने को इंट्रा डे ट्रेडिंग कहा जाता है। इन शेयरों को निवेश करने के उद्देश्य से न खरीदकर स्टॉक इंडेक्स के उतार–चढ़ाव का फायदा उठाकर लाभ कमाने के उद्देश्य से खरीदा जाता है। शेयरों की खरीद-बिक्री से लाभ कमाने के लिए शेयरों की कीमतों में उतार–चढ़ाव पर लगातार निगाह रखी जाती है। हालांकि इंट्रा डे के लिए शेयरों को चुनना अक्सर चुनौतीपूर्ण होता है।

अगर बाजार आपके अनुमान के अनुसार काम करता है तो आप अच्छा लाभ पा सकते हैं। ज्यादा तरलता वाले स्टॉक चुने। जिस शेयर में विक्रेता और खरीदार ज्यादा होते हैं, उसे हाई लिक्वीडीटी शेयर कहते हैं। तो अगर आप एक दिन में लाभ कमाना चाहते हैं तो इन बातों पर खास ध्यान दें। दो या तीन तरल या लिक्वीडिटी वाले शेयर चुनना फायदेमंद हो सकता है। प्रवेश और लक्ष्य मूल्य निर्धारित कर लें। हानि का प्रभाव काम करने के लिए स्टॉप-लॉस का उपयोग करें। लक्ष्य तक पहुंचने पर अपना लाभ समेट लें। एक निवेशक बनने के बजाय व्यापारी बनें। अपने इच्छित शेयरों के बारे में अच्छी तरह से पता लगाएं और सबसे ज़रूरी बात किसी भी परिस्थिति में बाजार के खिलाफ न जाएं।

Stocks for intraday trading: ये 6 शेयर आज दे सकते हैं अच्छा मुनाफा

आज इन शेयरों में निवेश करने पर मुनाफा मिलने की उम्मीद

  • Date : 29/08/2022
  • Read: 3 mins Rating : -->

अमेरिकी शेयर बाजारों में आई गिरावट को देखते हुए भारत के शेयरबाजारों में भी असमंजस का माहौल दिखाई दे रहा है। ऐसे में विश्लेषकों की सलाह पर ध्यान देना चाहिए।

Stocks for intraday trading

Stocks for investing in Intra-day trading: पिछले 26 अगस्त को अमेरिकी शेयर बाजारों में काफी गिरावट आई जिसका असर भारत के निवेशकों में भी दिखाई दे रहा है। हालांकि, भारत के शेयर बाजारों में कोई गिरावट नहीं आई और निफ्टी-फिफ्टी सूचकांक 36 अंक ऊपर जाकर 17,558 पर बंद हुआ। इसी तरह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज भी सेंसेक्स 58,833 पर बंद हुआ। निफ्टी बैंक इंडेक्स 36 अंक बढ़त के साथ 38,987 पर बंद हुआ था। ऐसे में एवीपी के तकनीकी अनुसंधान विशेषज्ञ मेहुल कोठारी; आनंद राठी टेक्निकल रिसर्च की उपाध्यक्ष वैशाली पारेख; प्रभुदास लीलाधर; और राजेश भोसले जैसे शेयर बाजार के विश्लेषक आज इंट्रा डे के कारोबार के लिए इन 6 शेयरों को खरीदने की सलाह दे रहे हैं।

इन शेयरों में मेहुल कोठारी ने रेमंड के शेयरों को 995 रुपए का लक्ष्य रख कर 963 रुपए पर, और जिंदल स्टील के शेयरों को 440 रुपए का लक्ष्य रख कर 421 रुपए पर खरीदने की सलाह दी है। साथ ही, इन दोनों शेयरों के लिए क्रमशः 945 रुपए और 408 रुपए का स्टॉप लॉस भी निर्धारित किया गया है। एजिस लॉजिस्टिक्स के शेयर 300 रुपए का लक्ष्य रख कर 264 रुपए पर, और महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज के शेयर 225 रुपए का लक्ष्य रख कर 206 रुपए पर खरीदे जा सकते हैं। राजेश भोसले के अनुसार टाइटन कंपनी के शेयर को 2533 पर खरीदकर 2620 का लक्ष्य रखा जा सकता है, जबकि इसका स्टॉप लॉस 2480 रुपए रखा जाना चाहिए। एनटीपीसी के शेयर 163.40 रुपए पर खरीदकर 171 रुपए का लक्ष्य रख सकते हैं, जिसका स्टॉप लॉस 158.80 रुपए होना चाहिए।

इंट्राडे स्टॉक क्या होता है और इससे कैसे लाभ हो सकता है?

एक ही कारोबारी दिन के भीतर शेयर को खरीदने और बेचने को इंट्रा डे ट्रेडिंग कहा जाता है। इन शेयरों को निवेश करने के उद्देश्य से न खरीदकर स्टॉक इंडेक्स के उतार–चढ़ाव का फायदा उठाकर लाभ कमाने के उद्देश्य से खरीदा जाता है। शेयरों की खरीद-बिक्री से लाभ कमाने के लिए शेयरों की कीमतों में उतार–चढ़ाव पर लगातार निगाह रखी जाती है। हालांकि इंट्रा डे के लिए शेयरों को चुनना अक्सर चुनौतीपूर्ण होता है।

अगर बाजार आपके अनुमान के अनुसार काम करता है तो आप अच्छा लाभ पा सकते हैं। ज्यादा तरलता वाले स्टॉक चुने। जिस शेयर में विक्रेता और खरीदार ज्यादा होते हैं, उसे हाई लिक्वीडीटी शेयर कहते हैं। तो अगर आप एक दिन में लाभ कमाना चाहते हैं तो इन बातों पर खास ध्यान दें। दो या तीन तरल या लिक्वीडिटी वाले शेयर चुनना फायदेमंद हो सकता है। प्रवेश और लक्ष्य मूल्य निर्धारित कर लें। हानि का प्रभाव काम करने के लिए स्टॉप-लॉस का उपयोग करें। लक्ष्य तक पहुंचने पर अपना लाभ समेट लें। एक निवेशक बनने के बजाय व्यापारी बनें। अपने इच्छित शेयरों के बारे में अच्छी तरह से पता लगाएं और सबसे ज़रूरी बात किसी भी परिस्थिति में बाजार के खिलाफ स्टॉप लॉस का उपयोग कैसे किया जाता है? न जाएं।

ये सारे शेयर्स Buy कर लेना

Stocks for investing in Intra-day trading: पिछले 26 अगस्त को अमेरिकी शेयर बाजारों में काफी गिरावट आई जिसका असर भारत के निवेशकों में भी दिखाई दे रहा है। हालांकि, भारत के शेयर बाजारों में कोई गिरावट नहीं आई और निफ्टी-फिफ्टी सूचकांक 36 अंक ऊपर जाकर 17,558 पर बंद हुआ। इसी तरह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज भी सेंसेक्स 58,833 पर बंद हुआ। निफ्टी बैंक इंडेक्स 36 अंक बढ़त के साथ 38,987 पर बंद हुआ था। ऐसे में एवीपी के तकनीकी अनुसंधान विशेषज्ञ मेहुल कोठारी; आनंद राठी टेक्निकल रिसर्च की उपाध्यक्ष वैशाली पारेख; प्रभुदास लीलाधर; और राजेश भोसले जैसे शेयर बाजार के विश्लेषक आज इंट्रा डे के कारोबार के लिए इन 6 शेयरों को खरीदने की सलाह दे रहे हैं।

इन शेयरों में मेहुल कोठारी ने रेमंड के शेयरों को 995 रुपए का लक्ष्य रख कर 963 रुपए पर, और जिंदल स्टील के शेयरों को 440 रुपए का लक्ष्य रख कर 421 रुपए पर खरीदने की सलाह दी है। साथ ही, इन दोनों शेयरों के लिए क्रमशः 945 रुपए और 408 रुपए का स्टॉप लॉस भी निर्धारित किया गया है। एजिस लॉजिस्टिक्स के शेयर 300 रुपए का लक्ष्य रख कर 264 रुपए पर, और महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज के शेयर 225 रुपए का लक्ष्य रख कर 206 रुपए पर खरीदे जा सकते हैं। राजेश भोसले के अनुसार टाइटन कंपनी के शेयर को 2533 पर खरीदकर 2620 का लक्ष्य रखा जा सकता है, जबकि इसका स्टॉप लॉस 2480 रुपए रखा जाना चाहिए। एनटीपीसी के शेयर 163.40 रुपए पर खरीदकर 171 रुपए का लक्ष्य रख सकते हैं, जिसका स्टॉप लॉस 158.80 रुपए होना चाहिए।

इंट्राडे स्टॉक क्या होता है और इससे कैसे लाभ हो सकता है?

एक ही कारोबारी दिन के भीतर शेयर को खरीदने और बेचने को इंट्रा डे ट्रेडिंग कहा जाता है। इन शेयरों को निवेश करने के उद्देश्य से न खरीदकर स्टॉक इंडेक्स के उतार–चढ़ाव का फायदा उठाकर लाभ कमाने के उद्देश्य से खरीदा जाता है। शेयरों की खरीद-बिक्री से लाभ कमाने के लिए शेयरों की कीमतों में उतार–चढ़ाव पर लगातार निगाह रखी जाती है। हालांकि इंट्रा डे के लिए शेयरों को चुनना अक्सर चुनौतीपूर्ण होता है।

अगर बाजार आपके अनुमान के अनुसार काम करता है तो आप अच्छा लाभ पा सकते हैं। ज्यादा तरलता वाले स्टॉक चुने। जिस शेयर में विक्रेता और खरीदार ज्यादा होते हैं, उसे हाई लिक्वीडीटी शेयर कहते हैं। तो अगर आप एक दिन में लाभ कमाना चाहते हैं तो इन बातों पर खास ध्यान दें। दो या तीन तरल या लिक्वीडिटी वाले शेयर चुनना फायदेमंद हो सकता है। प्रवेश और लक्ष्य मूल्य निर्धारित कर लें। हानि का प्रभाव काम करने के लिए स्टॉप-लॉस का उपयोग करें। लक्ष्य तक पहुंचने पर अपना लाभ समेट लें। स्टॉप लॉस का उपयोग कैसे किया जाता है? एक निवेशक बनने के बजाय व्यापारी बनें। अपने इच्छित शेयरों के बारे में अच्छी तरह से पता लगाएं और सबसे ज़रूरी बात किसी भी परिस्थिति में बाजार के खिलाफ न जाएं।

रेटिंग: 4.59
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 421
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *