फोरेक्स टुटोरिअल

क्या क्रिप्टोकरेंसी एक अच्छा निवेश है

क्या क्रिप्टोकरेंसी एक अच्छा निवेश है
Updated on: Jan 01, 2022 | 7:30 AM

Cryptocurrency News: क्रिप्टोकरेंसी पर सरकार लेगी 30 फीसदी टैक्स, निवेश से पहले जरूर जान लें ये बड़ी बातें

By: नीतू झा | Updated at : 01 Feb 2022 07:09 PM (IST)

Cryptocurrency News: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज देश का सालाना बजट पेश किया. इस बजट को पेश करते हुए वित्त मंत्री ने बताया की जल्द ही आम लोगों के बीच डिजिटल रुपया भी पेश होने वाला है. इसके साथ सरकार क्रिप्टो करेंसी पर 30 फीसदी टैक्स भी लेगी. अगर आप भी क्रिप्टो करेंसी का इस्तेमाल करते हैं और इसमें निवेश करने वाले हैं तो आपको यह खबर आपके काम की हो सकती है.

क्या है डिजिटल करेंसी
सबसे पहले बात करते हैं डिजिटल करेंसी की, दरअसल वित्त मंत्री ने कहा की डिजिटल करेंसी आने से फिलहाल जो करेंसी मैनेजमेंट का सिस्टम है वो काफी आसान और सस्ता हो जाएगा. क्रिप्टो करेंसी निवेश को लेकर अर्थशास्त्री आकाश जिंदल ने बताया कि दुनिया में क्रिप्टोकरेंसी में इसे एसेट की तरह माना जाता है. वहीं कई देश में ये बैन भी है और कुछ ऐसे भी देश है जहां इसे करेंसी की तरह इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन ये एक ऐसा इन्वेस्टमेंट मार्केट है जहां इन्वेस्टर को मोटी कमाई होती है. यही वजह है की लोगों के बीच इसका क्रेज बढ़ क्या क्रिप्टोकरेंसी एक अच्छा निवेश है गया है लेकिन इसमें रिस्क भी काफी ज्यादा है क्योंकि किसी बैंक की तरह यहां कोई रेगुलेटरी बॉडी नहीं है, इसलिए आपको इसमें इन्वेस्ट करने से पहले कुछ चीजों का ध्यान रखना चाहिए.

Cryptocurrency क्या है?

क्रिप्टोकरंसी या क्रिप्टो एक डिजिटल संपत्ति है जिसे एक्सचेंज के माध्यम के रूप में काम करने के लिए डिजाइन किया गया है,

क्रिप्टोकरंसी एक प्रकार का मुद्रा है. इसे डिजिटल मुद्रा के नाम से भी जाना जाता है. दोस्तों क्रिप्टोकरंसी को आप छू नहीं सकते हो बस आप इसे डिजिटली रूप में यूज कर सकते हैं. इसीलिए इसे डिजिटल करेंसी भी कहा जाता है. इसका पूरा कारोबार ऑनलाइन के जरिए होता है. या हम अपनी भाषा में क्रिप्टोकरंसी को समझे तो क्रिप्टो करेंसी दो शब्दों के मेल से बना है. पहला क्रिप्टो जो कि Cryptography लेटिन भाषा सबसे उत्पत्ति हुई है इस शब्द का मतलब छुपा हुआ। जब की करेंसी भी Currentia लेटिन शब्द बना है. जो कि रुपए पैसे के लिए इस्तेमाल होता है.

क्रिप्टोकरंसी एक्ट डिजिटल ऐसैट्स होता है जिसका इस्तेमाल चीजों को खरीदारी असर विशेष के लिए किया जाता है. यह एक Peer to Peer इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम होता है. जिसका इस्तेमाल हम ऑनलाइन चीजों की खरीदारी के लिए करते हैं। आपको बता दूं कि क्रिप्टोकरंसी पर सरकार या बैंक का कोई अधिकार नहीं होता है. चलिए एक और उदाहरण के क्या क्रिप्टोकरेंसी एक अच्छा निवेश है साथ क्रिप्टोकरंसी को सरल भाषा में समझने की कोशिश करते हैं.

Crypto मुद्रा

Bitcoin, जिसे पहली बार 2009 में ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के रूप में जारी किया गया था, पहला केंद्रीकृत क्रिप्टो करेंसी है। बिटकॉइन के आने के बाद अन्य क्रिप्टोकरंसी बनाई गई है।

दोस्तों जब भी क्रिप्टोकरंसी में निवेश की बात आती है तो हमारे मन में यह डर सा लगा रहता है, किस क्रिप्टो करेंसी में निवेश करें जिसमें अपने पैसे को लगाएं।

Tether सबसे स्टेबल कॉइन की गिनती में आता है। जो निवेशक स्थित टुकड़ों में पैसा लगाना चाहते हैं उनके लिए कॉइन पहली पसंद है। एक्सपोर्ट के अनुसार, VeChain सबसे ज्यादा ऑफर डबल क्रिप्टो करेंसी है। Dogecoin की तरह ही शीबा इनु टॉप किट्टू कलसी के रूप में उभरा है।

सबसे बेस्ट क्रिप्टोकरेंसी कौन सी है?

  • Polygon
  • Dogecoin
  • Cardano
  • Tether
  • XRP
  • Lucky Block
  • EOS
  • VeChain
  • Shiba inu
  • Axie Infinity

इस प्रकार की फोटो करेंसी क्या क्रिप्टोकरेंसी एक अच्छा निवेश है की कुछ सालों में लोकप्रियता बढ़ी है। यह एक डिजिटल ऐसैट्स बनकर उभरा है। लोग ज्यादातर स्वीकार कर रहे हैं। यह इंडेक्स 80% मार्केट मूवमेंट को कैप्चर करता है. यह फंडामेंटल मार्केट ट्रैकिंग और एसएससी टूल है जो डिसीजन पर बेस्ड है और ट्रांसपेरेंसी को बढ़ाता है।

क्या भारत में cryptocurrency वैध है?

दोस्तों आप लोगों के मन में यह सवाल जरूर आता होगा कि क्रिप्टोकरंसी भारत में वैध है या नहीं या भारत में बिटकॉइन का भविष्य क्या है? तो चली जानते हैं। इस क्रिप्टो टैक्स के लिए बजट 2022 में नए सेक्शन 115BBH को पेश करने का प्रस्ताव किया गया था, दत्त के प्रपंच और दूसरे वर्चुअल ऐसैट्स का इनकम टैक्स लगाया जा सकेगा। हालांकि कृपया करेंसी पर टैक्स लगाने से इसे कानूनी वैधता नहीं मिली है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने इस बात को संसद में साफ किया था।

Leave a Comment Cancel reply

Name Email Website

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

तो क्या क्रिप्टो करेंसी लीगल हो गई?

बजट में हुए इस ऐलान के बाद ज्यादातर लोगों के मन में ये सवाल क्या क्रिप्टोकरेंसी एक अच्छा निवेश है है कि क्या सरकार ने डिजिटल करेंसी पर टैक्स लगा कर इसे लीगल कर दिया है? जवाब है- नहीं. इसे ऐसे समझिए, सरकार सिर्फ उस डिजिटल करेंसी (Digital Currency) को लीगल यानी वैध मानती है, जिसे Reserve Bank of India-RBI जारी करता है या करेगा. मतलब अभी जो Bitcoin जैसी Crypto Currency हैं, वो वैध नहीं है. बजट भाषण के बाद पत्रकारों से सवाल-जवाब में वित्तमंत्री ने साफ किया कि क्रिप्टो की वैधता को लेकर सरकार में चर्चा जारी है लेकिन अब तक कोई फैसला नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि सेंट्रल बैंक के फ्रेमवर्क के बाहर जो भी क्रिप्टोकरेंसी हैं, वे करेंसी नहीं हैं. अगर कोई आपसे कहे कि ये लीगल हो गई हैं तो जब तक सरकार नहीं कहती, मानिएगा नहीं. यहां पर गौर करने की बात ये भी है कि सरकार अप्रैल से शुरू होने वाले कारोबारी साल में अपनी डिजिटल करेंसी लाने की भी तैयारी में है जिसका जिक्र वित्तमंत्री ने अपने भाषण में किया. जाहिर है ये करेंसी पूरी तरह लीगल होगी.

वर्चुअल एसेट से वित्तमंत्री का मतलब क्या है?

आसान तरीके से समझें तो आप जो सोना खरीदते हैं या जो घर खरीदते हैं, वो आपकी Assets होती है. मतलब आपकी सम्पत्ति, ना कि ये करेंसी है. ठीक इसी तरह Crypto Currency भारत सरकार के लिए एक Asset होगी और इस पर लोगों से टैक्स वसूला जाएगा. अगर आप ये सोच रहे हैं कि Bitcoin, Ethereum, Tether, Ripple जैसी डिजिटल करेंसी को लीगल माना गया है तो तकनीकी तौर पर बिल्कुल सही नहीं है. हालांकि, लोग इसमें निवेश कर सकेंगे.

सरकार के प्रतिनिधियों ने ये भी बताया कि देश में क्रिप्टोकरेंसी ट्रांजैक्शन साल 2017 से ही सरकार के राडार पर है. इस पर टैक्स लगाने से सरकारी खजाने में मोटी रकम पहुंचनी तय है. अभी अमेरिका, ब्रिटेन, इटली, Netherlands और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों में वर्चुअल करेंसी (Virtual Currency) पर वहां की सरकारें टैक्स लगाती हैं. सरकार के इस फैसले के पीछे एक बड़ी वजह ये हो सकती है कि, हमारे देश में जितने लोगों ने CryptoCurrency में निवेश किया है, वो देश की आबादी का लगभग 8% हैं. RBI के आंकड़ों के मुताबिक, इन लोगों ने अपने 70 हजार करोड़ रुपए इस समय ऐसी Virtual Currency में लगाए हुए हैं. पूरी दुनिया में CryptoCurrency में ट्रेड करने के मामले में भारतीय सबसे आगे हैं. सरल शब्दों में कहें तो ये 30 प्रतिशत टैक्स, सीधे तौर पर 70 हजार करोड़ रुपए के निवेश को एक गारंटी देगा और हो सकता है कि भारत में इसका इस्तेमाल बढ़ जाए.

गिफ्ट पर भी लगेगा टैक्स, ऐसे होगा कैलकुलेट

बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री ने वर्चुअल एसेट्स (Virtual Assets) के ट्रांजैक्शन से हुई कमाई पर 30% टैक्स लगाने का प्रस्ताव किया. क्रिप्टोकरेंसी गिफ्ट करने को भी ट्रांजेक्शन माना जाएगा. मतलब अगर आप क्रिप्टोकरेंसी किसी को गिफ्ट में देते हैं तब भी 30 फीसदी टैक्स की देनदारी बनेगी. गिफ्ट किए जाने के मामले में उस समय की वैल्यू पर टैक्स लगेगा. इस वैल्यू को Recipient का इनकम माना जाएगा और उसे वैल्यू पर क्या क्रिप्टोकरेंसी एक अच्छा निवेश है टैक्स देना होगा.

एक और बात जो नोटिस करने वाली है कि ये नया टैक्स आने वाले कारोबारी साल यानी 1 अप्रैल से लागू होगा. यानी क्रिप्टो में कारोबार करने वालों के पास फिलहाल 31 मार्च तक की मोहलत है. वित्त मंत्री ने यह भी प्रस्ताव किया कि डिजिटल एसेट्स के दायरे में क्रिप्टोकरेंसी के अलावा NFT समेत सारे टोकन आते हैं, जो सेंट्रल बैंक के फ्रेमवर्क में नहीं हैं. वित्त मंत्री ने यह भी बताया कि रिजर्व बैंक की डिजिटल करेंसी आने आने वाली है. ये सारे बदलाव बजट पर कैबिनेट की मुहर लगने के बाद 1 अप्रैल 2022 से लागू हो जाएंगे.

Gold vs Crypto: फेस्टिव सीजन गोल्ड या क्रिप्टो में से किसमें निवेश करना है बेहतर? जानें कहां मिलेगा निवेशकों को ज्यादा रिटर्न

By: ABP Live | Updated at : 24 Oct 2022 01:49 PM (IST)

गोल्ड vs क्रिप्टोकरेंसी

Gold vs Cryptocurrency: भारत समेत पूरी दुनिया में क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने वालों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हुई है. इसमें कुछ सालों में कुछ निवेशकों को तगड़ा रिटर्न दिया है. ऐसे में आजकल इन्वेस्टर्स इसमें निवेश करना बहुत पसंद कर रहे हैं. वहीं गोल्ड भारतीयों का सबसे पुराना और पसंदीदा कमोडिटी रहा है.

गोल्ड ने लगभग हर साल अपने निवेशकों को अच्छा रिटर्न दिया है, लेकिन ज्यादा रिटर्न क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency Investment) ने ही दिया है. ऐसे में अक्सर निवेशकों के मन में यह सवाल उठता है कि अखिर वह गोल्ड या क्रिप्टोकरेंसी (Gold vs Cryptocurrency) में से किस ऑप्शन में निवेश करें, जहां उन्हें ज्यादा के साथ-साथ सुरक्षित रिटर्न की गारंटी मिलती है.

फंडामेंटल ऐनालिसिस के लिए डेटा का अभाव

क्रिप्टोकरेंसी जानकारों का कहना है कि अभी इतना ज्यादा डेटा नहीं है जिसके आधार पर फंडामेंटल ऐनालिसिस किया जा सके. डिजिटल असेट के निवेशकों की संख्या भी काफी कम है. हालांकि, कुछ बेसिक रूल्स हमेशा फॉलो करने चाहिए. इससे आप होने वाले नुकसान को लिमिटेड रख सकते हैं.

1>> कई क्रिप्टोकरेंसी ऐसी हैं जो कुछ सप्ताह में हजारों फीसदी चढ़ जाती है. ऐसे में निवेशकों को ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है. क्रिप्टोकरेंसी का पोर्टफोलियो बहुत छोटा रखें. आप इसमें इतना ही निवेश करें जितना आप गंवा सकते हैं. आपके इन्वेस्टमेंट पोर्टफोलियो में इसका शेयर अधिकतम 10-15 फीसदी तक होना चाहिए.

क्रैश होने पर 80-90 फीसदी तक टूटती है करेंसी

2>> अगर कोई क्रिप्टोकरेंसी क्रैश होता है तो घबराने की जरूरत नहीं है. ऐसा देखा गया है कि ब्लूचिप करेंसी 70-80 फीसदी तक क्रैश होती है. हालांकि, धीरे-धीरे यह मजबूत भी हो जाती है.

3>> क्रिप्टोकरेंसी रेग्युलेटेड नहीं है ऐसे में किसी भी प्लैटफॉर्म का इस्तेमाल करने से पहले उसके बारे में सबकुछ जानें. कोशिश करें कि पॉप्युलर ऐप की मदद से ही क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करें. आपका इन्वेस्टमेंट ऑनलाइन रहता है. ऐसे में साइबर अटैक का खतरा भी बना रहता है. अपने क्रिप्टो वॉलेट को साइबर अटैक से बचाकर रखें.

हर किसी के टिप पर नहीं करें निवेश

4>> क्रिप्टोकरेंसी को लेकर व्यावहारिक डेटा बहुत कम है. ऐसे में किसी भी वॉट्सऐप यूनिवर्सिटी से मिलने वाली सलाह पर आंख मूंदकर भरोसा नहीं करें. अगर आप हर शख्स के टिप पर भरोसा करेंगे तो पछताएंगे.

5>> निवेश के लिए हजारों क्रिप्टोकरेंसी उपलब्ध है, लेकिन अपने लिए ब्लूचिप करेंसी का चुनाव करें. ब्लूचिप डिजिटल करेंसी महंगी जरूर है, लेकिन यह ज्यादा क्रेडिबल है. आप किसी भी करेंसी में 100 रुपए भी निवेश कर सकते हैं. Bitcoin and Ethereum को क्रिप्टोकरेंसी दुनिया का ब्लूचिप कहा जाता है. दोनों करेंसी की चाल से ही क्रिप्टोकरेंसी बाजार का हाल पता चलता है.

रेटिंग: 4.16
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 173
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *