फोरेक्स टुटोरिअल

शेयर दलाल क्या है?

शेयर दलाल क्या है?

शेयर मार्केट क्या है और कैसे काम करता हैं | Share Market In Hindi

Share Market In Hindi: शेयर बाजार एक ऐसा मंच है जहां निवेशक शेयर, बांड और डेरिवेटिव जैसे वित्तीय साधनों में व्यापार करने के लिए आते हैं। स्टॉक एक्सचेंज इस लेनदेन के एक सूत्रधार के रूप में काम करता है और शेयरों की खरीद और बिक्री को सक्षम बनाता है।

भारतीय शेयर बाजार का परिचय (Introduction to the Indian Stock Market)

Table of Contents

शेयर बाजार निवेश का सबसे बड़ा जरिया है। भारत में मुख्य रूप से दो स्टॉक एक्सचेंज हैं, बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई)। कंपनियां पहली बार अपने शेयरों को आईपीओ के जरिए स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध करती हैं। निवेशक इन शेयरों में द्वितीयक बाजार के माध्यम से व्यापार कर सकते हैं।

भारत में दो शेयर दलाल क्या है? स्टॉक एक्सचेंजों में कुछ अवसरों पर INR 6,00,000 करोड़ के शेयरों का कारोबार हुआ है। भारत में शुरुआती लोग अक्सर शेयर बाजार में जुए में निवेश करने पर विचार करते हैं, लेकिन शेयर बाजार की एक बुनियादी समझ उस धारणा को बदल सकती है।

भारतीय शेयर बाजारों का विनियमन (Regulation of the Indian Stock Markets)

भारत में शेयर बाजारों का विनियमन और पर्यवेक्षण भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड के पास है। सेबी का गठन 1992 के सेबी अधिनियम के तहत एक स्वतंत्र पहचान के रूप में किया गया था और स्टॉक एक्सचेंजों का निरीक्षण करने की शक्ति रखता है। निरीक्षण प्रशासनिक नियंत्रण के पहलुओं के साथ बाजार के संचालन और संगठनात्मक संरचना की समीक्षा करते हैं। सेबी की मुख्य भूमिका में शामिल हैं:

  • निवेशकों के विकास के लिए एक निष्पक्ष और न्यायसंगत बाजार सुनिश्चित करना
  • एक्सचेंज संगठन का अनुपालन, सिस्टम सिक्योरिटीज कॉन्ट्रैक्ट्स (विनियमन) अधिनियम (एससी (आर) अधिनियम), 1956 के तहत बनाए गए नियमों के अनुसार इसका अभ्यास करता है।
  • सेबी द्वारा जारी दिशा-निर्देशों और निर्देशों का कार्यान्वयन सुनिश्चित करें
  • जाँच करें कि क्या एक्सचेंज शेयर दलाल क्या है? ने सभी शर्तों का अनुपालन किया है और एससी (आर) अधिनियम 1956 की धारा 4 के तहत, यदि आवश्यक हो तो अनुदान का नवीनीकरण किया है।

शेयर बाजार के प्रकार (Share Market In Hindi)

शेयर बाजार दो प्रकार के होते हैं, प्राथमिक और द्वितीयक बाजार।

प्राथमिक शेयर दलाल क्या है? शेयर बाजार (Primary Share Market)

यह प्राथमिक बाजार में है कि कंपनियां अपने शेयर जारी करने और धन जुटाने के लिए खुद को पंजीकृत करती हैं। इस प्रक्रिया को स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टिंग के रूप में भी जाना जाता है। प्राथमिक बाजार में प्रवेश करने का उद्देश्य धन जुटाना है और यदि कंपनी पहली बार अपने शेयर बेच रही है तो इसे प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) कहा जाता है। इस प्रक्रिया के माध्यम से, कंपनी एक सार्वजनिक इकाई बन जाती है।

द्वितीयक बाजार (Secondary Market)

प्राथमिक बाजार में नई प्रतिभूतियों के बेचे जाने के बाद कंपनी के शेयरों का द्वितीयक बाजार में कारोबार होता है। इस तरह निवेशक अपने शेयर बेचकर बाहर निकल सकते हैं। द्वितीयक बाजार में होने वाले ये लेन-देन व्यापार कहलाते हैं। इसमें निवेशकों की एक-दूसरे से खरीदारी करने और सहमत मूल्य पर आपस में बेचने की गतिविधि शामिल है। एक दलाल एक मध्यस्थ है जो इन लेनदेन की सुविधा प्रदान करता है।

शेयर बाजार कैसे काम करते हैं (How do the Share Markets work)

स्टॉक एक्सचेंज प्लेटफॉर्म को समझना (Understanding the Stock Exchange Platform)

स्टॉक एक्सचेंज वास्तव में एक ऐसा मंच है जो स्टॉक और डेरिवेटिव जैसे वित्तीय साधनों का व्यापार करता है। इस प्लेटफॉर्म पर गतिविधियों को भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड द्वारा नियंत्रित किया जाता है। ट्रेड करने के लिए प्रतिभागियों को सेबी और स्टॉक एक्सचेंज में पंजीकरण कराना होता है। व्यापारिक गतिविधियों में दलाली, कंपनियों द्वारा शेयर जारी करना आदि शामिल हैं।

सेकेंडरी मार्केट में कंपनी की लिस्टिंग (Listing of the Company in the Secondary Market)

किसी कंपनी के शेयर पहली बार प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश या आईपीओ के माध्यम से द्वितीयक बाजार में सूचीबद्ध होते हैं। शेयरों का आवंटन लिस्टिंग से पहले होता है और शेयरों के लिए बोली लगाने वाले निवेशकों को निवेशकों की संख्या के आधार पर अपना हिस्सा मिलता है।

द्वितीयक बाजार में व्यापार (Trading in the Secondary Market)

एक बार कंपनी सूचीबद्ध हो जाने के बाद, निवेशकों द्वारा द्वितीयक बाजार में शेयरों का कारोबार किया जा सकता है। यह खरीदारों और विक्रेताओं के लिए लेन-देन करने और मुनाफा कमाने या कुछ मामलों में नुकसान का बाजार है।

स्टॉक ब्रोकर्स (Stock Brokers)

हजारों की संख्या में निवेशकों की संख्या के कारण, उन्हें एक स्थान पर इकट्ठा करना मुश्किल है। इसलिए, व्यापार करने के लिए, स्टॉक ब्रोकर और ब्रोकरेज फर्म तस्वीर में आते हैं।

ये ऐसी संस्थाएं हैं जो स्टॉक एक्सचेंज में पंजीकृत हैं और निवेशकों और एक्सचेंज के बीच मध्यस्थ के रूप में काम करती हैं। जब आप किसी शेयर को किसी निश्चित दर पर खरीदने का ऑर्डर देते हैं, तो ब्रोकर इसे एक्सचेंज में प्रोसेस करता है जहां कई पार्टियां शामिल होती हैं।

आपके आदेश का पारित होना (Passing of your order)

आपका खरीद ऑर्डर ब्रोकर द्वारा एक्सचेंज को पास कर दिया जाता है, जहां उसका मिलान उसी के लिए बेचने के ऑर्डर के लिए किया जाता है। विनिमय तब होता है जब विक्रेता और खरीदार एक कीमत पर सहमत होते हैं और इसे अंतिम रूप देते हैं; फिर आदेश की पुष्टि की जाती है।

समझौता (Settlement)

एक बार जब आप किसी कीमत को अंतिम रूप दे देते हैं, तो एक्सचेंज यह सुनिश्चित करने के लिए विवरण की पुष्टि करता है कि लेनदेन में कोई चूक नहीं है। एक्सचेंज तब शेयरों के स्वामित्व के हस्तांतरण की सुविधा प्रदान करता है जिसे निपटान के रूप में जाना जाता है। ऐसा होने पर आपको एक संदेश प्राप्त होता है। इस संदेश के संचार में ब्रोकरेज ऑर्डर विभाग, एक्सचेंज फ्लोर ट्रेडर्स आदि जैसे कई पक्ष शामिल होते हैं।

SENSEX TODAY: क्या कच्चे तेल की बढ़ती कीमतें दलाल-स्ट्रीट में पैदा कर रही हैं भय का माहौल?

SENSEX TODAY: शेयर बाजार में गिरावट का माहौल लगातार बना हुआ है. अगर आज भी सेंसेक्स गिरकर बंद होता है तो लगातार पांचवें दिन मार्केट कमजोरी के साथ बंद होगा. इसके लिए यह माना जा रहा है कि रूस-यूक्रेन के बीच छिड़ जंग से कच्चे तेल की कीमतों में उबाल आने से हो रहा है.

Updated: March 8, 2022 2:23 PM IST

BSE Sensex (File Image)

SENSEX TODAY: आज शेयर बाजार (SHARE MARKET) में कारोबार की सपाट शुरुआत हुई थी. सेंसेक्स (SENSEX) और निफ्टी ने मंगलवार को अपने नुकसान को बढ़ा दिया है. कच्चे तेल की कीमतें (CRUDE OIL PRICES) 14 साल के उच्च स्तर पर पहुंच गई है. इससे मुद्रास्फीति (INFLATION) का खतरा और बढ़ता जा रहा है. आर्थिक विकास की धीमा रफ्तार से भी इन आशंकाओं को बल मिल रहा है.

Also Read:

ब्लू-चिप एनएसई निफ्टी 50 इंडेक्स एनएसईआई 0.83 फीसदी या 131.95 अंक नीचे 15,731.20 पर और एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स 0.72 फीसदी या 380.52 अंक गिरकर 52,462.23 पर कारोबार करता हुआ देखा गया. अगर सेंसेक्स गिरकर बंद होता है तो सूचकांक लगातार पांचवें दिन गिरावट के साथ निपटेगा.

उत्तर प्रदेश का एग्जिट पोल

रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, आज कारोबार के शुरुआत में दोनों सूचकांक कुछ समय के लिए सकारात्मक हो गए, क्योंकि एक्जिट पोल के नतीजों के बाद यह संभावना जताई गई कि सत्तारूढ़ भारतीय शेयर दलाल क्या है? जनता पार्टी देश के सबसे अधिक आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश में अपनी सत्ता पर काबिज बनी रह सकती है. लेकिन रूस-यूक्रेन संकट से आर्थिक मंदी की चिंता बढ़ा दी.

रॉयटर्स की रिपोर्ट में मेहता इक्विटीज के शोध के उपाध्यक्ष प्रशांत तापसे ने कहा, “एग्जिट पोल ने बीजेपी को समर्थन देने वाले संकेत दिए हैं, जिससे बाजारों में कुछ सकारात्मक भावना फैल रही है.”

अंतरराष्ट्रीय तेल की कीमतें

2008 के बाद से तेल की कीमतें पहले से ही अपने उच्चतम स्तर पर पहुंचने के साथ, मास्को ने रूसी तेल आयात पर पश्चिमी प्रतिबंध की चेतावनी दी कि कीमत दोगुनी से अधिक $ 300 प्रति बैरल हो सकती है.

भारत कच्चे तेल का दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा आयातक है, और बढ़ती कीमतें देश के व्यापार और चालू खाता घाटे को बढ़ाती हैं, जबकि इसकी मुद्रा को नुकसान पहुंचाती है और मुद्रास्फीति को बढ़ावा देती है.

रूस-यूक्रेन

अनिश्चित भू-राजनीतिक स्थिति का हवाला देते हुए एचडीएफसी बैंक ने वित्तीय वर्ष 2023 के लिए भारत के लिए अपने आर्थिक विकास के अनुमान को 8.2% से घटाकर 7.5-7.7 प्रतिशत कर दिया.

हालांकि, तापसे ने कहा कि भू-राजनीतिक तनाव, कच्चे तेल और कमोडिटी की कीमतों में बढ़ोतरी और मुद्रास्फीति पर चिंता वर्तमान में बाजारों पर असर डालने वाले प्रमुख कारक थे.

बेलारूस में वार्ता में रक्तपात को कम करने के लिए रूस और यूक्रेन द्वारा तीसरे प्रयास के बाद, एक यूक्रेनी वार्ताकार ने कहा कि हालांकि नागरिकों की निकासी के लिए रसद पर सहमति पर छोटी प्रगति हुई थी, चीजें काफी हद तक अपरिवर्तित रहीं.

फोकस में स्टॉक

निफ्टी के बैंक इंडेक्स, फाइनेंशियल सर्विसेज इंडेक्स, प्राइवेट सेक्टर बैंक इंडेक्स और ऑटो इंडेक्स में 1-1 फीसदी से ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई. लाभ पाने वालों में निफ्टी का आईटी इंडेक्स और शेयर दलाल क्या है? एनर्जी इंडेक्स क्रमश: करीब 2 फीसदी और 0.3 फीसदी चढ़ा.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें व्यापार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

शेयर दलाल क्या है?

पुं० [अं०] १. संपत्ति आदि में होनेवाला अंश। २. व्यापार आदि में होनेवाला हिस्सा। पत्ती

RELATED SIMILAR WORDS (Synonyms):

Information provided about शेयर ( Sheyar ):

शेयर (Sheyar) meaning in English (इंग्लिश मे मीनिंग) is EQUITY (शेयर ka matlab english me EQUITY hai). Get meaning and translation शेयर दलाल क्या है? of Sheyar in English language with grammar, synonyms and antonyms by ShabdKhoj. Know the answer of question : what is meaning of Sheyar in English? शेयर (Sheyar) ka matalab Angrezi me kya hai ( शेयर का अंग्रेजी में मतलब, इंग्लिश में अर्थ जाने)

Tags: English meaning of शेयर , शेयर meaning in english, शेयर translation and definition in English.
English meaning of Sheyar , Sheyar meaning in english, Sheyar translation and definition in English language by ShabdKhoj (From HinKhoj Group). शेयर का मतलब (मीनिंग) अंग्रेजी (इंग्लिश) में जाने |

लाल हुई दलाल स्ट्रीट: शेयर बाजार में गिरावट के कारण और आगे दिशा, पढ़िए एक्सपर्ट का नजरिया

सेंसेक्स गुरुवार को 800 अंक से ज्यादा टूटकर बंद हुआ. निफ्टी ने 10600 का अहम स्तर तोड़ा. क्यों आई शेयर बाजार में गिरावट? कब संभलेगा बाजार? क्या करें निवेशक? पढ़िए मन में आने वाले हर सवाल का जवाब.

शेयर बाजार में गिरावट

संध्या द्विवेदी/मंजीत ठाकुर

  • 04 अक्टूबर 2018,
  • (अपडेटेड 04 अक्टूबर 2018, 6:28 PM IST)

भारतीय शेयर बाजार के प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स और निफ्टी गुरुवार के कारोबार में 2 फीसदी से ज्यादा टूटकर बंद हुए. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर सूचीबद्ध 126 कंपनियों की कुल 3 लाख करोड़ से ज्यादा (306747.25 करोड़) की मार्केट कैप (बाजार पूंजीकरण) साफ हो गई. बाजार की इस गिरावट में आज सेंसेक्स 806 अंक की गिरावट के साथ 35169 के स्तर पर बंद हुआ. वहीं 259 अंक की गिरावट के बाद निफ्टी का बंद स्तर 10599 रहा. टेक्निकल एक्सपर्ट 10700-10750 के बीच निफ्टी के लिए मजबूत समर्थन की संभावना लगा रहे थे. अब इस स्तर के टूटने के बाद बाजार में गिरावट और गहराने की आशंका है.

बाजार में गिरावट के बड़े कारण?

कार्वी स्टॉक ब्रोकिंग के हेड (रिसर्च) डॉ रवि सिंह कहते हैं, ''गुरुवार को बाजार में गिरावट, कच्चे तेल की कीमतों में उछाल और अमेरिकी फेडरल रिजर्व की ओर से ब्याज दरें बढ़ाने की चिंता के आई है.'' अमेरिका में ब्याज दरें बढ़ने के बाद भारत जैसे उभरते बाजार में विदेशी निवेश घटने की आशंका को बल मिलता है. साथ ही विदेशी निवेशकों की ओर से मुनाफावसूली का भी खतरा बढ़ता है. डॉ सिंह आगे कहते हैं, ''इसके अलावा रुपए और बॉण्ड यील्ड में गिरावट भी बाजार के लिए चिंता का विषय है. शुक्रवार को भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से ब्याज दरों बड़ी बढ़ोतरी की आशंका के चलते गुरुवार को बॉण्ड यील्ड में 84 बेसिस प्वाइंट का इजाफा देखने को मिला.''

कहां कितनी गिरावट?

बाजार की गिरावट चौतरफा थी. फार्मा, आईटी, एफएमसीजी शेयरों में आज सबसे ज्यादा गिरावट देखने को मिली. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर इस शेयरों से जुड़े सूचकांक में करीब 3 फीसदी की गिरावट देखने को मिली. इसके अलावा बैकिंग और ऑटो इंडेक्स भी 1 फीसदी से ज्यादा लुढ़के. सरकार की ओर से एक्साइज ड्यूटी घटाने की खबर के बाद ऑयल मार्केटिंग कंपनियों में भारी गिरावट देखने को मिली. एचपीसीएल, बीपीसीएल और आइओसी के शेयरों में 10 से 12 फीसदी की गिरावट देखने को मिली. निवेशकों ने छोटे मझौले शेयरों में भी जमकर बिकवाली की. एनएससी पर दोनों ही इंडेक्स 2 फीसदी से ज्यादा टूटे.

कहां तक गिरेगा बाजार?

बाजार विशेषज्ञ राजेश शर्मा कहते हैं, ''गुरुवार के सत्र में निफ्टी का बंद स्तर बेहद महत्वपूर्ण होगा. अगर निफ्टी की क्लोजिंग 10590 के नीचे आती है तो बाजार में नीचे की तरफ 150 से 200 अंक की गिरावट और आ सकती है.'' शुक्रवार का सत्र बाजार के लिए बेहद अहम है क्योंकि रिजर्व बैंक क्रेडिट पॉलिसी समीक्षा में नीतिगत दरों में बदलाव करेगा.

राजेश आगे कहते हैं, ''नीतिगत दरों में 50 बेसिस प्वाइंट तक की बढ़ोतरी को बाजार पचा चुका है. ऐसे में नीतिगत दरों में बढ़ोतरी का बाजार पर कोई बड़ा असर नहीं शेयर दलाल क्या है? होगा. लेकिन अगर रिजर्व बैंक की ओर से सीआरआर या एसएलआर में कटौती की जाती है तो यह राहत की खबर होगी और बाजार में एक शॉर्ट टर्म रिलीफ रैली देखने को मिल सकती है.'' निवेशकों के लिए राजेश फिलहाल बाजार से दूर रहने शेयर दलाल क्या है? की सलाह दे रहे हैं. उनके मुताबिक बाजार में ट्रेडिंग के मौके जरूर हैं निवेश के लिए निचले स्तर पर अच्छे मौके मिलेंगे.

रेटिंग: 4.64
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 409
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *