फोरेक्स टुटोरिअल

विदेशी मुद्रा वीडियो

विदेशी मुद्रा वीडियो
डॉलर की वैल्यू में विदेशी मुद्रा भंडार में सोने की हिस्सेदारी सितंबर 2019 के 6.14 फीसदी से बढ़कर मार्च 2020 में 6.40% पर पहुंच गई है.

विदेशी मुद्रा भंडार

रिकॉर्ड उंचाई पर पहुंचा विदेशी मुद्रा भंडार, जानिए कितना हुआ इजाफा

Foreign exchange reserves reached record high, know how much increase

नई दिल्ली। आयात कम करने, निर्यात ज्यादा करने और विदशी निवेश में ज्यादा बढ़ोतरी होने से देश के विदेशी मुद्रा भंडार ( Forex Resrve at Record Level ) में जबरदस्त इजाफा देखने को मिला है। लगातार दूसरे सप्ताह विदेशी मुद्रा भंडार में इजाफा होने से रिकॉर्ड स्तर को पार कर गया है। वहीं दूसरी ओर स्वर्ण भंडार और विदेशी परिसंपत्ति में भी बढ़ोतरी देखने को मिली है। आपको बता दें कि देश में लगातार कोरोना वायरस का कहर है। साथ ही चीन के साथ संबंध खराब होने के कारण आयात में काफी गिरावट देखने को मिल रही है। जिसकी वजह से देश में विदेशी मुद्रा भंडार में तेजी देखने को मिली है। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर रिजर्व बैंक की ओर से किस तरह के आंकड़े जारी किए गए हैं।

भारत की इकोनॉमी में आई उछाल, देश का विदेशी मुद्रा भंडार 2.229 अरब डॉलर विदेशी मुद्रा वीडियो बढ़कर हुआ 634.965 अरब डॉलर

India economy boomed country foreign exchange reserves increased by $ 2.229 billion to $ 634.965 billion | भारत की इकोनॉमी में आई उछाल, देश का विदेशी मुद्रा भंडार 2.229 अरब डॉलर बढ़कर हुआ 634.965 अरब डॉलर

Highlights भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 2.229 अरब डॉलर से बढ़कर 634.965 अरब डॉलर हो गया है। रिजर्व बैंक ने बताया कि एफसीए 1.345 अरब डॉलर से बढ़कर 570.737 अरब डॉलर हो गया है। आईएमएफ के पास विशेष आहरण अधिकार भी बढ़ा है।

मुंबई: देश का विदेशी मुद्रा भंडार 14 जनवरी को समाप्त सप्ताह में 2.229 अरब डॉलर बढ़कर 634.965 अरब डॉलर हो गया। भारतीय रिजर्व बैंक के शुक्रवार को यह जानकारी दी है। भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार इससे पहले सात जनवरी को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 87.8 करोड़ डॉलर घटकर 632.736 अरब डॉलर हो गया था। जबकि तीन सितंबर, 2021 को समाप्त सप्ताह में यह रिकार्ड 642.453 के उच्च स्तर पर पहुंच गया था।

हफ्ते के आखिरी में आई एक और अच्छी खबर- भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 5 दिन में 21 हजार करोड़ बढ़ा

हफ्ते के आखिरी में आई एक और अच्छी खबर- भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 5 दिन में 21 हजार करोड़ बढ़ा

विदेशी मुद्रा भंडार का क्या होता है? विदेशी भंडार में ज्यादा रकम होने से विदेशी निवेशकों और क्रेडिट रेटिंग कंपनियों को यह भरोसा रहता है कि देश की आर्थिक नीतिया काफी बेहतर है. इससे करेंसी में भी मजबूती आती है. मौजूदा समय में चीन के पास सबसे ज्यादा विदेशी मुद्रा भंडार है, जिसके बाद जापान विदेशी मुद्रा वीडियो और स्विट्जरलैंड आते हैं.

आरबीआई की ओर से आए आकंड़ों के मुताबिक भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 254 करोड़ अमेरिकी डॉलर करीब 20800 करोड़ रुपये बढ़ा है.

मौजूदा समय में भारत का विदेशी विदेशी मुद्रा वीडियो मुद्रा भंडार करीब 54725 करोड़ अमेरिकी डॉलर है. यह भारतीय रुपये में करीब 44,32,725 करोड़ रुपये है.

देश का विदेशी मुद्रा भंडार 4.23 अरब डॉलर बढ़ा, गोल्ड रिजर्व में भी हुआ इजाफा

मुंबईः भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 20 मई को समाप्त सप्ताह में 4.23 अरब डॉलर बढ़कर 597.509 अरब डॉलर हो गया। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के आंकड़ों के अनुसार यह वृद्धि विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियों में हुई बढ़ोतरी के कारण हुई है। इससे पूर्व 13 मई को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 2.676 अरब डॉलर घटकर 593.279 अरब डॉलर रह गया था।

रिजर्व बैंक के आंकड़ों के अनुसार, समीक्षाधीन सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार में वृद्धि का कारण विदेशी मुद्रा आस्तियों में वृद्धि होना है जो कुल मुद्रा भंडार का एक महत्वपूर्ण घटक है। आंकड़ों के अनुसार विदेशी मुद्रा आस्तियां (एफसीए) 3.825 अरब डॉलर बढ़कर 533.378 अरब डॉलर हो गई। डॉलर में अभिव्यक्त विदेशी मुद्रा भंडार में रखे जाने वाली विदेशी मुद्रा आस्तियों में यूरो, पौंड और येन जैसी गैर-अमेरिकी मुद्राओं में मूल्यवृद्धि अथवा मूल्यह्रास के प्रभावों को शामिल किया जाता है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Mokshada Ekadashi: मोक्षदा एकादशी पर खुलेंगे वैकुण्ठ के द्वार, अवश्य करें ये काम

Mokshada Ekadashi: मोक्षदा एकादशी पर खुलेंगे वैकुण्ठ के द्वार, अवश्य करें ये काम

Festivals in December 2022: दिसम्बर महीने के पहले पखवाड़े के ‘व्रत-त्यौहार’ आदि

3 सितंबर 2021 को ऑल टाइम हाई पर पहुंच गया था विदेशी मुद्रा भंडार

आरबीआई के आंकड़ों के अनुसार, 14 अक्टूबर को खत्म हुए हफ्ते में विदेशी मुद्रा भंडार 4.50 अरब डॉलर घटकर 528.37 अरब डॉलर पर आ गया है. 7 अक्टूबर को खत्म हुए सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 10वें सप्ताह में पहली बार अप्रत्याशित रूप से बढ़ा था. भारत का कोष 20.4 करोड़ डॉलर बढ़कर 532.868 अरब डॉलर पर पंहुच गया था. वहीं 30 सितंबर को खत्म हुए सप्ताह में यह 4.854 अरब डॉलर घटकर 532.66 अरब डॉलर पर पहुंच गया. जबकि 3 सितंबर 2021 को विदेशी मुद्रा भंडार 642.45 बिलियन डॉलर के ऑल टाइम हाई पर पहुंच गया था.

विदेशी मुद्रा भंडार में एफसीए का महत्वपूर्ण हिस्सा होता है. अगर एफसीए बढ़ती है तो भारत के विदेशी मुद्रा भंडार में भी बढ़त देखने को मिलती है. वहीं अगर एफसीए घटती है तो देश के भंडार में भी कमी आती है. हालांकि रिपोर्टिंग वीक में भारत की एफसीए (FCA) 5.77 अरब डॉलर बढ़कर 470.84 अरब डॉलर पर पहुंच गयी. इससे पहले 21 अक्टूबर को खत्म हुए सप्ताह में यह 3.59 अरब डॉलर घटकर 465.08 अरब डॉलर पर आ गया था.

रेटिंग: 4.68
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 750
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *