वायदा का उपयोग करके व्यापार कैसे करें

आईफोरेक्स क्या है

आईफोरेक्स क्या है
Pakistan’s foreign minister state Hina Rabbani Khar reached Kabul.
I hope that along with our security concern and attacks from Afghanistan border, she will bring the matter of #AfghanWomen , their education and rights. pic.twitter.com/U3PyPkWDGw — Shama Junejo (@ShamaJunejo) November 29, 2022

पॉवेल ने फेड मामले को आगे बढ़ाया तो अमेरिकी डॉलर दक्षिण की ओर बढ़ा। USD कितना नीचे जा सकता है? Hindi-khabar

पहली नज़र में, पावेल की टिप्पणियाँ फेड में उनके कई साथी बोर्ड सदस्यों के अनुरूप प्रतीत हुईं। यानी दरों में बढ़ोतरी जारी रहेगी, लेकिन उस जंबो फॉर्म में नहीं, जो वे पहले उठा चुके हैं। फिर भी, उन्होंने दोहराया कि दर अधिक होगी।

विशेष रूप से, उन्होंने कहा, “दरों में वृद्धि की गति को नियंत्रित करने का समय दिसंबर की बैठक के रूप में आ सकता है।”

दिसंबर के कॉन्क्लेव में 50 बीपी की बढ़ोतरी के साथ अल्पकालिक ब्याज दर बाजारों ने पहले ही इस पर विचार कर लिया है पावेल की टिप्पणियों से पहले और बाद में और पिछले महीने की फेडरल ओपन मार्केट कमेटी (एफओएमसी) की बैठक से पहले इसकी कीमत तय की गई थी। यह अब भी जारी है।

डैनियल मैककार्थी द्वारा सुझाया गया

ट्रेडिंग फॉरेक्स समाचार: रणनीति

श्री पॉवेल ने कहा, “नीति को कसने में हमारी प्रगति को देखते हुए, उस संयम का समय इस सवाल से कहीं कम महत्वपूर्ण है कि हमें मुद्रास्फीति को नियंत्रित करने के लिए दरों को कितना बढ़ाने की आवश्यकता है और हमें इसे कितने समय तक बनाए रखने की आवश्यकता है। एक सीमित स्तर पर नीति।

ऐसा प्रतीत होता है कि बाजार वही सुनना चाहता था जो वे सुनना चाहते थे, चाहे जो कहा जा रहा हो। AUD, CAD, NOK और NZD की विकास से जुड़ी मुद्राओं ने बाद में सबसे बड़ा लाभ देखा।

अमेरिकी डेटा को रातोंरात मिला दिया गया था, लेकिन यूएस जीडीपी साल-दर-साल 2.8% की अपेक्षा 2.9% की तुलना में तीसरी तिमाही में समाप्त हो गई।

कोर पीसीई, फेड की मुद्रास्फीति का पसंदीदा उपाय, अक्टूबर के अंत तक तिमाही में 4.6% पर आ गया, जो 4.5% के पूर्वानुमान से ऊपर था।

फेड की बेज बुक भी रातों-रात जारी कर दी गई। इससे आगे चलकर धीमी आर्थिक गतिविधियों की धारणा का पता चला।

नवीनतम कमोडिटी फ्यूचर्स ट्रेडिंग कमिशन डेटा से पता चलता है कि सटोरियों के पास US$1.8 बिलियन की कमी है। अमेरिकी डॉलर (डीएक्सवाई) सूचकांक ने नवंबर में 2010 के बाद से अपनी सबसे बड़ी मासिक गिरावट देखी।

1 दिसम्बर से यूनी कार्ड हो जायेगा बंद। अभी करलो ये उपाय, वर्ना हाथ मलते रह जाओगे।

Uni NX Wave Credit Card: आईफोरेक्स क्या है यदि आपको शॉपिंग करना काफी अच्छा लगता होगा तो आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल तो शॉपिंग करने में जरूर करते होंगे और हाल ही में यूनी कार्ड ने अपने यूनी पे 1/3 कार्ड लॉंच किया था वह कार्ड 1 दिसंबर 2022 से बंद कर दिया जायेगा।

uni nx wave credit card in hindi.

1 दिसम्बर 2022 से यूनी कार्ड बंद

Table of Contents

हाल ही में यूनी कार्ड ने ये फ़ैसला लिया की जो यूनी कार्ड ग्राहक आईफोरेक्स क्या है बिल की 3 महीनों की आसान किश्तों का फ़ायदा उठा रहे थे। अब बो नहीं उठा पायेंगे। इसके चलते 1 दिसम्बर 2022 से यूनी कार्ड बंद हो जायेगा।

हालाकि जिन लोगों के बिल बकाया होगे उन लोगों को परेशान होने की बात नहीं हैं। उन लोगों को एक साथ बिल भुगतान नहीं करना होगा। जैसे पहले करते आये हैं। तीन महीनों की आसान किश्तों में ही बिल भुगतान करने हैं।

यदि आप इस समय यूनि का कोई पुराना क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल कर रहे हैं तो वह भी 1 दिसंबर 2022 के बाद बंद हो जाएगा लेकिन आपको चिंता करने की कोई भी जरूरत नहीं है क्योंकि यूनि ने अपना नया कार्ड लांच कर दिया है और आज हम आपको उसी कार्ड के बारे में विस्तार से बताएंगे और साथ ही मैं आपको यह भी बताएंगे कि यदि आप भी इस कार्ड को लेना चाहते हैं तो आप इसे कैसे ले सकते हैं।

लेकिन इसमें आपके लिये बुरी खबर ये हैं की इस से आपको बिल एक बार में ही पूरा चुकाना होगा। अब आपको तीन महीनों की आसान किस्तों का फ़ायदा नहीं मिलेगा।

यूनी का नया एनएक्स वेव कार्ड (Uni NX Wave Credit card)

यदि आप मौजूदा समय में यूनि की तरफ से आने वाला यूनि पे ⅓ कार्ड या यूनि पे ½ कार्ड इस्तेमाल करते थे तो अब 1 दिसंबर 2022 से वह कार्ड नहीं चलेगा लेकिन आपको उस कार्ड को फेंकना नहीं है बल्कि यूनी ने अपने ग्राहकों के लिए एक नया कार्ड लांच किया है जिस कार्ड का नाम है यूनि एनएक्स वेव कार्ड (Uni NX Wave credit Card) और यह कार्ड काफी कमाल का है और नए फीचर्स के साथ आता है और इसी के साथ यूनी ने अपने दो नए लोन प्रोडक्ट भी लॉन्च किए हैं।

और यूनी ने इस कार्ड की एप्लीकेशन लेना भी शुरू कर दी हैं और यूनी अपने पुराने कार्ड को एनएक्स वेव कार्ड में कन्वर्ट कर रही है और यह एक मोबाइल बेस्ड कार्ड है और आने वाले समय में इसका फिजिकल कार्ड भी लोगों को मिलने लगेगा लेकिन इस समय यह कार्ड सिर्फ मोबाइल बेस्ड ही है।

और इस कार्ड में काफी ज्यादा कैशबैक भी आपको मिलेगा क्योंकि यदि आप कभी भी शॉपिंग करेंगे तो आपको हर शॉपिंग पर फ्लैट 1% का कैशबैक मिलेगा और यह कैशबैक अनलिमिटेड रहेगा आप जितनी बार चाहे उतनी बार 1% कैशबैक ले सकते हैं और इसीलिए यह क्रेडिट कार्ड लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है और कुछ चीजें जैसे फ्यूल, एटीएम विड्रोल, रेंट, वॉलेट और इंटरनेशनल ट्रांजैक्शन पर आपको कोई भी कैशबैक नहीं मिलेगा।

यूनी एनएक्स वेव कार्ड के फायदे (Benefits of Uni NX Wave Card)

यदि आप यूनि के एक पुराने कस्टमर हैं और आप पहले से आईफोरेक्स क्या है इसके पुराने क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करते थे तभी आपको यूनी का यह नया क्रेडिट कार्ड मिलेगा और इसके लिए आपको इस कार्ड के लिए अप्लाई करना पड़ेगा और हो सकता है कि यह कार्ड मिलने में आपको थोड़ा समय भी लग जाए और इस कार्ड के कई फायदे हैं ।

जैसे यह कार्ड लाइफ टाइम फ्री रहेगा। इसका मतलब ना तो आपको इसके लिए कोई भी जॉइनिंग फीस देनी पड़ेगी और ना ही कोई एनुअल फीस देनी पड़ेगी और हर बार शॉपिंग करने पर 1% का कैशबैक भी मिलेगा। और इसी के साथ यूनि बहुत जल्द अपना एक नया प्लेटफार्म लाने वाला है जिसका नाम है यूनि स्टोर और यदि आप यूनि एनएक्स वेव कार्ड का इस्तेमाल करके इस पर शॉपिंग करते हैं तो आपको 5x तक रिवॉर्ड मिलेंगे।

और हर महीने इस कार्ड से आपको ₹500 तक का फ्यूल सरचार्ज वेवर भी मिलेगा और यदि आप इस कार्ड की मदद से इंटरनेशनल ट्रांजैक्शन भी करते हैं तो आपको कोई भी फॉरेक्स मार्कअप(Forex Markup) चार्जेस नहीं देने होंगे और यदि आपने पहले कोई भी क्रेडिट कार्ड लिया होगा तो वह एक ही कलर में आता है लेकिन यह क्रेडिट कार्ड आपको 6 कलर में मिल सकता है ।

और अपने पसंद के हिसाब से आप किसी भी कलर का क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं और यह कार्ड आप तभी ले पाएंगे यदि आप मौजूदा समय में यूनि का कोई भी क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल कर रहे होंगे और आपने उसको बंद नहीं कराया होगा और यदि आप यूनी के पुराने कस्टमर नहीं है तो कोई बात नही क्योंकि जल्द ही यूनी की तरफ से नए लोगों के लिए भी यह कार्ड मिलने लगेगा और आप आसानी से इस कार्ड को ले सकते हैं।

बिना हिजाब काबुल पहुंची PAK विदेश राज्यमंत्री हिना रब्बानी खार, तालिबान नेताओं से मिलीं

ABC News: पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच करीब 6 महीने से सीमा पर जबरदस्त तनाव चल रहा है. पिछले दिनों तालिबान की फायरिंग में 6 पाकिस्तानी सैनिकों की मौत हो गई थी. इस तनाव को कम करने के लिए पाकिस्तान की विदेश राज्यमंत्री हिना रब्बानी खार मंगलवार को अफगानिस्तान पहुंचीं. उनके साथ फॉरेन और डिफेंस मिनिस्ट्री के अफसरों का एक डेलिगेशन भी था.

Pakistan’s foreign minister आईफोरेक्स क्या है state Hina Rabbani Khar reached Kabul.
I hope that along with our security concern and attacks from Afghanistan border, she will bring the matter of #AfghanWomen , their education and rights. pic.twitter.com/U3PyPkWDGw

— Shama Junejo (@ShamaJunejo) November 29, 2022

खास बात यह है कि महिलाओं को चारदीवारी और हिजाब में कैद रखने की हिमायती तालिबान हुकूमत के अफसर जब काबुल एयरपोर्ट पर हिना को रिसीव करने पहुंचे तो वो अपने पुराने ग्लैमरस अंदाज में थीं. हिजाब पहनना तो दूर उन्होंने सिर पर दुपट्टा भी नहीं डाला था. अफगानिस्तान में महिलाओं पर सख्त पाबंदियां हैं और दुनिया में इसका जबरदस्त विरोध हो रहा है. यही वजह है कि तालिबान हुकूमत कायम हुए एक साल होने के बावजूद अब तक किसी देश ने उसे मान्यता नहीं दी है. यहां लड़कियों के स्कूल और कॉलेज जाने पर पाबंदी है. उन्हें तालीमी हक यानी शिक्षा के अधिकार नहीं दिए गए हैं.

अगर वो बाजार या किसी और जगह जाती हैं तो साथ में पुरुष गार्जियन का होना जरूरी है. ऐसे माहौल में जब हिना रब्बानी खार मंगलवार को काबुल एयरपोर्ट पर उतरीं तो उनका अंदाज सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. हिजाब पहनना तो दूर उनके सिर पर साधारण चुन्नी या दुपट्टा भी नहीं था. इसके बाद जब वो डेलिगेशन लेवल की बातचीत के लिए फॉरेन मिनिस्ट्री पहुंचीं तो वहां भी तालिबान नेताओं के सामने बैठकर बातचीत की. इस दौरान भी उन्होंने किसी तरह का पर्दा नहीं किया था.

पाकिस्तान सरकार हर कीमत पर अफगानिस्तान सीमा पर अमन चाहती है. इसकी वजह यह है कि भारत के साथ उसका तनाव है. ईरान बॉर्डर पर भी आए दिन फायरिंग होती है.अगर अफगान सीमा पर भी हमले होते रहे तो मुल्क की सुरक्षा करना बेहद मुश्किल हो जाएगा. यह मुश्किल इसलिए भी बड़ी है, क्योंकि पाकिस्तान बिल्कुल दिवालिया होने की कगार पर है. उसके फॉरेन डिपॉजिट (फॉरेक्स रिजर्व) महज 7.96 अरब डॉलर हैं. ये पैसा भी चीन, सऊदी अरब और UAE का गारंटी डिपॉजिट है. इसे शाहबाज शरीफ सरकार खर्च नहीं करती. तीनों ही देश 36 घंटे के नोटिस पर यह अमाउंट वापस ले सकते हैं. जाहिर है, बिना पैसे के मुल्क की हिफाजत नहीं की जा सकती. पिछले दिनों IMF ने पाकिस्तान की डिफॉल्ट प्रॉबेबिलिटी (दिवालिया होने की आशंका) 79% बताई थी. इसके बाद से वहां की फौज और सरकार सकते में हैं. हिना की विजिट का मकसद अफगानिस्तान की तालिबान हुकूमत को इस बात के लिए मनाना है कि वो डूरंड लाइन पर फेंसिंग उखाड़ना बंद करे और TTP को पाकिस्तान में हमले करने से रोके. भारत-पाकिस्तान सीमा पर इन दिनों सीजफायर है. लिहाजा, वहां फिलहाल कोई खतरा नहीं है.

रेटिंग: 4.62
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 832
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *