वायदा का उपयोग करके व्यापार कैसे करें

फाइनेंस कितने प्रकार का होता है?

फाइनेंस कितने प्रकार का होता है?

Land Loan: जमीन खरीदने के लिए लेना चाहते हैं लैंड लोन? पहले जान लें ये जरूरी बातें

Land Loan: लैंड लोन के लिए अप्लाई करते वक्त कुछ बातों की जानकारी होना जरूरी है. साथ ही यह होम लोन से कैसे अलग है, इस बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए.

By: एबीपी न्यूज़ | Updated at : 14 Aug 2021 11:40 PM (IST)

Land Loan: कुछ लोग जमीन लेकर घर बनवाते हैं जबकि कुछ तैयार फ्लैट्स या घर खरीदते है. अगर आपका भी ऐसा कोई प्लान हैं और आपको लोन लेना है तो यह तय कर लें कि आपको घर खरीदने के लिए लोन लेना है या फिर जमीन लेकर घर बनाने के लिए. यह ध्यान रखें की होम लोन और लैंड लोन अलग-अलग होते हैं. हम आपको जहां लैंड लोन के बारे में जरूरी बातें बताएंगे, वहीं होम लोन और लैंड लोन के बीच अंतर के बारे में आपको जानकारी देंगे. अगर आप लैंड लोन लेने का विचार कर रहे हैं तो ये जानकारियां आपके बहुत काम आएंगीं.

किन्हें मिल सकता है लैंड लोन

  • भारत में रहने वाला हर व्यक्ति होम लोन और लैंड लोन फाइनेंस कितने प्रकार का होता है? ले सकता है.
  • अनिवासी भारतीयों को होम लोन मिल सकता है लेकिन लैंड लोन उन्हें नहीं मिल सकता.
  • लैंड लोन केवल भारत में रहने वाले निवासी ही ले सकते हैं.

टैक्स डिडक्शन क्लेम

  • होम लोन के मूलधन के रिपेमेंट पर आयकर कानून के सेक्शन 80सी और ब्याज के रिपेमेंट पर सेक्शन 24बी के तहत टैक्स डिडक्शन क्लेम किया जा सकता है.
  • लैंड लोन पर ऐसा कोई टैक्स बेनिफिट उपलब्ध नहीं है.

किस तरह की प्रॉपर्टी फाइनेंस कितने प्रकार का होता है? मिल सकती हैं

News Reels

  • होम लोन लेंडिंग रूल्स फ्लेक्सिबल हैं.
  • लैंड लोन कुछ खास प्रकार की जमीन के लिए ही मिलता है.
  • कर्जदाता आमतौर पर डेवलपमेंट अथॉरिटीज द्वारा आवंटित जमीनों पर फंड देना पसंद करते हैं.

जमीन के इस्तेमाल का स्टेटस

  • लैंड लोन मिलने में जमीन के इस्तेमाल का स्टेटस अहमियत रखता है.
  • कर्जदाता आवासीय भूमि के लिए लोन देना पसंद करते हैं.
  • कृषि या व्यावसायिक भूमि खरीदने के लिए लैंड लोन नहीं मिलता.
  • कुछ विशेष लोन का इस्तेमाल कृषि भूमि खरीदने के लिए किया जा सकता है लेकिन ये लोन आसानी से नहीं मिल पाते.
  • सीमांत किसानों या भूमिहीन मजदूरों जैसे विशिष्ट बॉरोअर्स के लिए ही ये लोन होते हैं.
  • नगर निगम क्षेत्र के बाहर की संपत्ति के लिए भी होम लोन लिया जा सकता है.
  • लैंड लोन गांव या औद्योगिक क्षेत्र में स्थित जमीन पर आमतौर पर नहीं मिलता. यह निगम या नगरपालिका सीमा के भीतर स्थित होनी चाहिए और जमीन का भी स्पष्ट सीमांकन होना चाहिए.

अधिकतम कितना लैंड लोन मिल सकता है

  • होम लोन के मामले में संपत्ति के मूल्य का 90% तक लोन मिल सकता है.
  • लैंड लोन के लिए ऋण राशि कम होती है. जहां केवल भूमि खरीद के लिए फंडिंग होनी है वहां संपत्ति की लागत का 70%-75% तक लोन सकता है
  • लोन आवेदक अगर भूमि खरीद और कंस्ट्रक्शन लोन प्राप्त करता है, तो अधिक लोन मिलता है.फाइनेंस कितने प्रकार का होता है?
  • आवेदक डाउनपेमेंट के लिए कम से कम कम 30% या अधिक राशि की व्यवस्था करें तो बेहतर रहेगा.

ब्याज दर

  • होम लोन में ब्याज दर काफी कम रहती है.
  • लैंड लोन उच्च दर पर मिलता है.

कब तक चुकाया जा सकता है कर्ज

  • होम लोन के मामले में कर्ज चुकाने के लिए मिलने वाली अवधि 30 वर्षों तक जा सकती है.
  • लैंड लोन में कर्ज चुकाने की अधिकतम अवधि 15 वर्ष हो सकती है.

यह भी पढ़ें:

Published at : 14 Aug 2021 11:33 PM (IST) Tags: ABP News Home Bank Property Home Loan interest rate Land Loan हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे फाइनेंस कितने प्रकार का होता है? पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल फाइनेंस कितने प्रकार का होता है? जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Business News in Hindi

Home Loan : अगर आप भी ले रहे हैं लोन तो जान लीजिए कितने तरह के लगते हैं चार्ज

बैंक Home Loan पर कई तरह के चार्ज लगाता है, जिन्हें उधारकर्ता चुकाता है। अधिकतर चार्ज के बारे में बोरोअर को जानकारी तक नहीं होती है। होम लोन को अप्लाई करने से पहले सभी डॉक्युमेंट्स को ध्यान से पढऩा जरूरी है।

Home Loan: If you are also taking loan then know how many types of charges are there

बिजनेस डेस्क। जब आप होम लोन लेते हैं और उसका ईएमआई में भुगतान करते हैं तो आपको साथ में कई तरह के शुल्कों का भी भुगतान करना होता है। ये शुल्क सभी तरह के लेंडर्स (बैंक, होम फाइनेंस कंपनीज और नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनीज) में अलग-अलग होते हैं। इसके अलावा, कुछ लेंडर्स अलग से भी से शुल्क लगा सकते हैं या दूसरे शुल्कों को एक साथ जोड़ सकते हैं। कुछ शुल्क निश्चित राशिके होते हैं, वहीं कुछ शुल्क ऐसे भी हैं जो होम लोन की कुल राशि के प्रतिशत के रूप में होते हैं। अन्य होम लोन राशि के प्रतिशत के रूप में जुड़े हुए हैं। इन शुल्कों के बारे में जानना काफी जरूरी है, क्यों फाइनेंस कितने प्रकार का होता है? कि इन शुल्कों की वजह से आपके होम लोन की लागत में इजाफा हो जाता है।

लॉग-इन चार्ज
इसे आवेदन शुल्क के रूप में भी जाना जाता है, यह लोन आवेदन का मूल्यांकन करने के लिए लेंडर द्वारा लिया जाने वाला एक प्राइमरी चार्ज है। इस स्तर पर लेंडर यह आकलन करता है कि आवेदन में आगे के प्रोसेस के लिए आवश्यक दस्तावेजों के साथ सभी प्रासंगिक और सटीक जानकारी है या नहीं।

प्रोसेसिंग फीस
क्रेडिट अंडरराइटिंग प्रक्रिया के दौरान एक ऋण आवेदन का मूल्यांकन कई मापदंडों पर किया जाता है जिसमें केवाईसी सत्यापन, वित्तीय मूल्यांकन, रोजगार सत्यापन, निवास और कार्यालय का पता सत्यापन, क्रेडिट इतिहास मूल्यांकन आदि शामिल होता है। लेंडर प्रोसेसिंग फीस के माध्यम से क्रेडिट हामीदारी प्रक्रिया से संबंधित सभी लागतों की वसूली करता है। कुछ लेंडर प्रोसेसिंग फीस के रूप में एक समान शुल्क लेते हैं जबकि अन्य आमतौर पर ऋण राशि का 2 फीसदी तक लेते हैं।

तकनीकी मूल्यांकन शुल्क
जिस संपत्ति के लिए होम लोन लिया गया है, उसके फिजिकल हेल्थ और बाजार मूल्य का आकलन करने के लिए लेंडर्स तकनीकी विशेषज्ञों को नियुक्त करते हैं। ये विशेषज्ञ कई मानकों पर संपत्ति का मूल्यांकन करते हैं जैसे वैधानिक अनुमोदन, लेआउट अनुमोदन, भवन विनिर्देशों, निर्माण मानदंडों का अनुपालन आदि। वे विभिन्न माध्यमों से संपत्ति का बाजार मूल्य भी निर्धारित करते हैं जिसमें भूमि की लागत और निर्माण लागत भी शामिल होती है। जहां कई लेंडर इस शुल्क को अपने प्रोसेेसिंग फीस में शामिल करते हैं, वहीं कुछ इसे अलग से चार्ज करते हैं।

कानूनी शुल्क
सभी लेंडर्स लोन देने से पहले इस बात की भी जांच करते हैं कि जिस संपत्ति के लिए बोरोअर फाइनेंस कितने प्रकार का होता है? लोन ले रहा है वो प्रॉपर्टी किसी कानूनी विवाद में तो नहीं फंसी हुई है। जिसके वो लीगल एक्सपर्ट को हायर करते हैं। यह लीगल एक्सपर्ट प्रासंगिक कानूनी पहलुओं की जांच करते हैं जैसे कि टाइटल डीड, प्रॉपर्टी की डिवैल्यूएशन, अनापत्ति प्रमाण पत्र, ऑक्युपेंसी प्रमाण पत्र आदि उसके बाद वो लेंडर को अपनी अंतिम राय देते हैं कि इस प्रॉपर्टी पर लोन देना चाहिए या नहीं।

फ्रैंकिंग शुल्क
फ्रैंकिंग आपके गृह ऋण समझौते पर आम तौर पर एक मशीन फाइनेंस कितने प्रकार का होता है? के माध्यम से मुहर लगाने की प्रक्रिया है, इस प्रकार यह पुष्टि करता है कि आपने आवश्यक स्टाम्प शुल्क भुगतान किया है। गृह ऋण समझौते की फ्रैंकिंग आमतौर पर सरकार द्वारा फाइनेंस कितने प्रकार का होता है? अधिकृत बैंकों या एजेंसियों द्वारा की जाती है। यह शुल्क भारत के कुछ राज्यों जैसे महाराष्ट्र और कर्नाटक में ही लागू है। फ्रैंकिंग शुल्क आम तौर पर होम लोन मूल्य का 0.1 फीसदी होता है।

प्री-ईएमआई शुल्क
होम लोन के वितरण के बाद अगर उधारकर्ता को घर फाइनेंस कितने प्रकार का होता है? का कब्जा मिलने में देरी होती है, तो लेंडर एक साधारण ब्याज लेता है जिसे प्री-ईएमआई कहा जाता है जब तक कि उधारकर्ता को घर का कब्जा नहीं मिल जाता है, फाइनेंस कितने प्रकार का होता है? जिसके बाद ईएमआई भुगतान शुरू हो जाएगा।

वैधानिक या नियामक शुल्क
ये वे शुल्क हैं जो ऋणदाता द्वारा होम लोन प्राप्त करने की प्रक्रिया में वैधानिक निकायों की ओर से एकत्र किए जाते हैं। यह ज्यादातर विभिन्न शुल्कों पर स्टांप ड्यूटी और जीएसटी के रूप में होता है जो लेंडर द्वारा एकत्र किया जाता है और सरकार को भुगतान किया जाता है।

री-अप्रेजल फीस
होम लोन आवेदन की मंजूरी सीमित वैधता अवधि के साथ आती है। यदि आपका लोन अप्रूव्ड हो गया है, लेकिन आप लंबी अवधि के लिए संवितरण नहीं करते हैं, तो लेंडर आपके ऋण आवेदन के री-अप्रेजल के लिए जाएगा। यह अवधि सभी उधारदाताओं में भिन्न होती है और आमतौर पर छह महीने तक हो सकती है। उदाहरण के लिए, एचडीएफसी उन मामलों में 2,000 रुपए का री-अप्रेजल फीस लेता है, जहां छह महीने की प्रारंभिक मंजूरी समाप्त हो फाइनेंस कितने प्रकार का होता है? जाती है।

इंश्योरेंय प्रीमियम
कई लेंडर्स उधारकर्ताओं से संपत्ति को किसी भी भौतिक क्षति से होने वाले नुकसान को लेकर होम लोन इंश्योरेंस कराने के लिए कहते हैं। कुछ लेंडर्स उधारकर्ताओं को ऋण सुरक्षा जीवन बीमा पॉलिसी का लाभ उठाने के लिए प्रोत्साहित करते हैं ताकि उनके कानूनी उत्तराधिकारियों को बकाया लोन के बारे में परेशान न होना पड़े यदि उधारकर्ता को कुछ होता है। इसलिए, यदि आप होम लोन के साथ एक बीमा पॉलिसी लेने का निर्णय लेते हैं, तो आपको बीमा प्रीमियम का भुगतान करना होगा - यह अक्सर एक एकल प्रीमियम पॉलिसी होती है जिसे लेंडर अक्सर फाइनेंस करने के लिए तैयार रहते हैं।

नोटरी शुल्क
यदि आप होम लोन लेने वाले एनआरआई हैं तो आपको कुछ अतिरिक्त कागजी कार्रवाई करनी पड़ सकती है। आपके केवाईसी दस्तावेजों और पीओए (पावर ऑफ अटॉर्नी) को भारतीय दूतावास या विदेश में उपलब्ध स्थानीय नोटरी द्वारा नोटरीकृत करने की आवश्यकता है, जिसके लिए आपको लागू शुल्क का भुगतान करना होगा।

रेटिंग: 4.47
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 580
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *