एफएक्स विकल्प

शेयर बाजार कैसे काम करता है

शेयर बाजार कैसे काम करता है

भारतीय शेयर बाजार - Indian Stock Exchanges

शेयर बाजार क्या है और शेयर बाजार कैसे काम करता है, शेयर कैसे खरीदें हिंदी में विस्तार से जानिए आसान भाषा में शेयर मार्किट गाईड. जब भी हम किसी बाज़ार की कल्पना करते है तो हमारे दिमाग में किसी ऐसी जगह की इमेज बनती है जहाँ बहुत-सी दुकानें होंगी या कोई मॉल जहां जाकर आप खरीदारी कर सकते हैं मगर शेयर बाजार ऐसा बाजार नहीं है. शेयर बाजार में खरीदने और बेचने का काम पूरी तरह से कंप्यूटर द्वारा ऑटोमेटिक तरीके से होता है. कोई भी शेयर खरीदने या बेचने वाला अपने ब्रोकर के द्वारा एक्सचेंज पर अपना आर्डर देता है और पलक झपकते ही पेंडिंग आर्डरों के अनुसार ऑटोमेटिकली सौदे का मिलान हो जाता है.

शेयर बाजार में काम के घंटों में ब्रोकर अपने ग्राहकों के लिए उनके द्वारा दिए गए आर्डर टर्मिनल में डाल देते हैं.

इसके बदले में ब्रोकर को ब्रोकरेज या दलाली मिलती है. हम कह सकते हैं कि मुख्यतः शेयर बाजार की तीन कड़ियाँ हैं स्टॉक एक्सचेंज, ब्रोकर और निवेशक ब्रोकर स्टॉक एक्सचेंज के सदस्य होते है और केवल वे शेयर बाजार कैसे काम करता है ही उस स्टॉक एक्सचेंज में ट्रेडिंग कर सकते हैं. ग्राहक सीधे जाकर शेयर खरीद या बेच नहीं सकते उन्हें केवल ब्रोकर के जरिए ही जाना पड़ता है.

देश में मुख्यतः BSE यानी मुंबई स्टॉक एक्सचेंज और NSE यानी नेशनल स्टॉक एक्सचेंज हैं जिन पर शेयरों का कारोबार होता है. BSE और NSE दुनिया के बड़े स्टॉक एक्सचेंज हैं. अधिकतर कंपनियां जिनके शेयर मार्केट में ट्रेड होते हैं इन दोनों स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड है मगर यह भी हो सकता है की कोई कंपनी इन दोनों में से किसी एक ही एक्सचेंज पर लिस्टेड हों.

देश के मुख्यता सभी बड़े बैंक या उनकी सबसिडी कंपनियां और अन्य बड़ी वित्तीय कंपनियां इन एक्सचेंजों में ब्रोकर के तौर पर काम करती हैं, ग्राहक इन ब्रोकर कम्पनियों के पास जाकर अपने डीमैट अकाउंट की जानकारी देकर अपना खाता ब्रोकर के पास खुलवा सकता है. इस प्रकार ग्राहक का डीमैट एकाउंट ब्रोकर के अकाउंट से जुड़ जाता है और खरीदी अथवा बेची गई शेयर्स ग्राहक के डीमैट अकाउंट से ट्रांसफर हो जाती हैं. इसी प्रकार ग्राहक अपना बैंक खाता भी ब्रोकर के खाते के साथ जोड़ सकता है जिससे खरीदे अथवा बेचे गए शेयरों की धनराशि ग्राहक के खाते में ट्रांसफर की जाती है. ग्राहक द्वारा खरीदे गए शेयर इलेक्ट्रॉनिक रूप में उसके डीमैट एकाउंट में पड़े रहते हैं

जब भी कोई कंपनी डिविडेंड की घोषणा करती है तो डीमैट अकाउंट से जुड़े बैंक खाते में डिविडेंड की राशि पहुंच जाती है. इसी प्रकार यदि कंपनी बोनस शेयरों की घोषणा करती है तो बोनस शेयर भी शेयरहोल्डर के डीमैट अकाउंट में पहुंच जाते हैं. ग्राहक जब शेयर बेचता है तो उसी डीमैट अकाउंट से वह शेयर ट्रान्सफर हो जाता है.

शेयरों में कारोबार करने के लिए एक निवेशक के पास डीमैट अकाउंट, ब्रोकर के पास ट्रेडिंग अकाउंट और उससे जुड़ा एक बैंक खाता होना जरूरी है, कई बैंक इसके लिए थ्री इन वन खाता खोलने की सुविधा भी देते हैं, अधिकतर ब्रोकर हाउस आपको शेयर बाजार कैसे काम करता है ऑनलाइन शेयर ट्रेडिंग की सुविधा भी प्रदान करते हैं इसके अलावा आप फोन करके भी अपने ऑर्डर दे सकते है.

इन्वेस्ट करने में मेरी सहायता करें

अपने पैसे का निवेश करना चाहते हैं, लेकिन सुनिश्चित नहीं है कि कहां? आपकी बेहतर निवेश करने में मदद करने के लिए और अपने पैसे का अधिकतम लाभ उठाने के बारे में सूचित निर्णय लेने के लिए हमारे पास अनेक विचार हैं।

स्टॉक मार्केट निवेश के लिए मोतीलाल ओसवाल क्यों चुनें

  • इंडस्ट्री लीडर
  • धन सृजन के 30 वर्ष
  • 10 लाख + ग्राहकों
  • 70k cr + भंडार संपत्ति
  • 2,200 + लोकेशन्स

मोतीलाल ओसवाल के साथ डीमैट खाता अभी खोलें!

Loading.

Portfolio Investments

निवेश करने के लिए तैयार पोर्टफोलियो

स्टॉक मार्केट में भाग लेना चाहते हैं, लेकिन अपने निवेश पोर्टफोलियो का प्रबंधन करने के लिए बिल्कुल समय नहीं है? अपनी आवश्यकताओं के लिए पूर्व-पैक इक्विटी उत्पादों की एक विविध रेंज के साथ एक सलाहकार चुनें।

  • निष्पक्ष ए.आई-संचालित निवेश सलाह
  • आपके निवेश की आवश्यकताओं के लिए अनुकूलित पोर्टफोलियो
  • पोर्टफोलियो वास्तविक समय में फिर से संतुलित
  • निष्पादित करने के लिए विवेक की शक्ति

जैसे आप चाहते हैं वैसे निवेश करें

  • एस.आई.पी (सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान)कम से कम 10, 000 रुपए तक
  • केवल 2.5 लाख रूपए का एकमुश्त निवेश

मेरे पोर्टफोलियो में सुधार करें

क्या आपका निवेश पोर्टफोलियो जोखिम और प्रतिलाभ के सही मिश्रण के साथ गुणकारी है? हमारे विकसित बहुभाषी पोर्टफोलियो पुनर्गठन उपकरण को आपका मार्गदर्शन करने दें।

हमारा पोर्टफोलियो पुनर्गठन टूल कैसे कार्य करता है

अपने मौजूदा पोर्टफोलियो को अपलोड करें

अपने मौजूदा पोर्टफोलियो को अपलोड करने से शुरूआत करें

हमारी समीक्षा और व्यक्तिगत अंतर्दृष्टि प्राप्त करें

हम आपके पोर्टफोलियो की समीक्षा करेंगे और व्यक्तिगत अंतर्दृष्टि साझा करेंगे

अपने पोर्टफोलियो पर हमारी अनुशंसाएं प्राप्त करें

हम आपको सलाह देंगे कि आप अपने पोर्टफोलियो को कैसे बदल सकते हैं और सुधार सकते हैं

कहां निवेश करें

अभी भी सोच रहे हैं कि कहाँ निवेश करें?

प्रतिलाभ , शेयर बाजार कैसे काम करता है कमाई, या अधिक - चाहे कुछ भी आपकी निवेश की आवश्यकता हो, हमारे ए.आई- संचालित उपकरण आपको समझते हैं और आपके लिए सही पोर्टफ़ोलियो की सिफारिश करते हैं। केवल एक निवेश की आवश्यकता चुनें, कुछ सवालों के जवाब दें और आप शुरू करने के लिए तैयार हैं।

बाजार का रुख कैसा भी हो, निवेश करते रहें: शेयर बाजार निचले स्तर पर हो या ऊंचाई पर, धैर्य हो तो हर शेयर बाजार कैसे काम करता है हाल में होता है फायदा

रिटेल निवेशक आम तौर पर इक्विटी में निवेश से कतराते हैं। धैर्य, जिज्ञासा और जानकारी का अभाव इसकी वजह होती है। ऐसे में वे सही तरीके से पैसा कमाने के इस शानदार जरिए का पूरा फायदा नहीं उठा पाते। कुछ लोग इक्विटी में निवेश के बारे सोचते भी हैं तो बाजार में उतार-चढ़ाव को लेकर सीमित समझ उन्हें ऐसा करने से रोक देती है।

ज्यादातर लोगों को लगता है कि "सस्ता खरीदो और महंगा बेचो'' का नियम शेयर बाजार में काम नहीं करता है। कभी-कभार भारी उतार-चढ़ाव इसकी वजह होती है। लेकिन यह समझ गलत है क्योंकि शेयरों के मामले में यह नियम लंबी अवधि में काम करता है। असल में कोई भी निवेशक या विश्लेषक इस बात का सटीक अंदाजा नहीं लगा सकते कि बाजार कब चढ़ेगा और किस लेवल से इसमें शेयर बाजार कैसे काम करता है गिरावट शुरू होगी। इसलिए बाजार का रुख कैसा भी हो, निवेश करते रहेंगे तो निश्चित तौर पर जोरदार कमाई होगी। यूनियन म्यूचुअल फंड के सीईओ जी प्रदीप कुमार आपको इक्विटी इन्वेस्टमेंट की बारीकियों को समझा रहे हैं.

पहली स्थिति: मान लीजिए कि एक निवेशक ने 2002 में सालाना 1 लाख रुपए का निवेश तब शुरू किया था, जब निफ्टी-50 निचले स्तर पर था। उसने लगातार 10 साल यानी 2011 तक निवेश जारी रखा। फिर 2011 से लेकर 2022 तक कोई निवेश नहीं किया। लेकिन पहले किया गया निवेश भी नहीं भुनाया। अभी उसकी 10 लाख रुपए की पूंजी बढ़कर 1.09 करोड़ रुपए हो गई है।

सबक: हालात कैसे भी हों, लंबे समय तक टिके रहने वाले निवेशकों को शेयर बाजार मालामाल कर देता है। शेयर बाजार के उतार-चढ़ाव को नजरअंदाज करते हुए धैर्य रखना इसके लिए जरूरी है।

दूसरी स्थिति: बाजार की बारीकियों से अनजान एक निवेशक ने 2002 में सालाना 1 लाख का निवेश तब शुरू किया था, जब निफ्टी-50 अपने सबसे ऊंचे स्तर पर था। उसने लगातार 10 साल यानी 2011 तक निवेश किया। फिर 2022 तक कोई निवेश नहीं किया। लेकिन पहले किया गया निवेश भी नहीं भुनाया। अभी उसकी भी 10 लाख की पूंजी बढ़कर 67.86 लाख रुपए हो गई है।

सबक: आप शेयर बाजार के सबसे बदकिस्मत निवेशक ही क्यों न हों, लेकिन अगर आपने लंबी अवधि के लिए निवेश कर रखा है तो अंत में आपको बाजार से कई गुना अधिक रिटर्न जरूर मिलेगा।

गिरावट का इंतजार न करें
निवेश के लिए बाजार नीचे आने का इंतजार न करें। बाजार जब चढ़ रहा हो तो कई निवेशक यह सोचकर शेयर नहीं खरीदते कि अभी निवेश महंगा साबित होगा। उन्हें लगता है कि बाजार जल्द गिर सकता है। ऐसे लोग दर्शक बने रह जाते हैं। उनके लिए निवेश का सही वक्त कभी नहीं आता।

शेयर मार्केट कैसे सीखें

शेयर बाजार कैसे सीखें

शेयर मार्केट कैसे सीखें PART 1 में आज मैं चर्चा करूंगा शेयर क्या है स्टॉक मार्केट क्या है शेयर बाजार के बारे में जानकारी शेयर कैसे खरीदे और बेचे जाते हैं शेयर बाजार कैसे सीखे इस सीरीज में आप पार्ट वन पढ़ रहे हैं

शेयर मार्केट सीखने के तरीके

शेयर मार्केट दो तरीकों से सीखा जा सकता है या तो आप शेयर मार्केट के कोर्स सिखाने वाले institute में कोचिंग क्लास में एडमिशन ले या online सामग्री जैसे website YouTube या ब्रोकर कंपनी के माध्यम से शेयर मार्केट सीख सकते हैं

👉 शेयर क्या है
किसी कंपनी का वह छोटा सा हिस्सा जो कंपनी निवेशकों को अपना बिजनेस बढ़ाने के लिए बेचती हैं बिजनेस बढ़ाने के लिए और पैसे इकट्ठा करती है और निवेशक या ट्रेडर इस आशय से शेयर खरीदते हैं कि कंपनी को यदि प्रॉफिट हुआ तो उस लाभ का उनको भी हिस्सा मिलेगा

पहले शेयर बांड या स्टांप पेपर फिजिकल तौर से खरीदा और बेचा जाता था किंतु आज ऑनलाइन के इस दौर में शेयरों को ऑनलाइन खरीदा और बेचा जाता है अब किसी बांड या स्टांप पेपर की जरूरत नहीं पड़ती आप ऑनलाइन ही शेयर खरीद सकते हैं और बेच सकते हैं इसके लिए आपको डीमैट अकाउंट की आवश्यकता पड़ती है डीमैट अकाउंट के बारे में शेयर बाजार कैसे सीखे पार्ट 2 में चर्चा की जाएगी

शेयर मार्केट कैसे सीखें

👉स्टॉक एक्सचेंज क्या है
भारत में प्रमुख दो स्टॉक एक्सचेंज है मुंबई स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज जो मुंबई में स्थित है और भी बहुत सारे स्टॉक एक्सचेंज भारत में हैं स्टॉक एक्सचेंज के माध्यम से ही लिस्टेड सभी कंपनियों के शेयर ऑनलाइन खरीदने और बेचने का काम किया जाता है आप घर बैठे लिस्टेड किसी भी कंपनी के शेयर खरीद और बेच सकते हैं.

☝मुंबई स्टॉक एक्सचेंज BSE दलाल स्ट्रीट फोर्ट एरिया मुंबई में स्थित है इसकी स्थापना 9 जुलाई 1877 में की गई थी मुंबई स्टॉक एक्सचेंज की करेंसी Indian rupees है मुंबई स्टॉक एक्सचेंज का सूचकांक सेंसेक्स है यह शेयर बाजार दुनिया के बड़े शेयर बाजारों में से एक है

शेयर बाजार कैसे सीखें
howto learn stock market

✌नेशनल स्टॉक एक्सचेंज
NSE भारत का पूर्णतया डिजिटल स्टॉक एक्सचेंज है नेशनल स्टॉक एक्सचेंज मुंबई में स्थित है पूर्ण ऑटोमेटिक व्यवस्था और सरल ट्रेडिंग की व्यवस्था इस स्टॉक एक्सचेंज में है नेशनल स्टॉक एक्सचेंज स्थापना 1992 ईस्वी में हुई थी यह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया लिमिटेड के स्वामित्व में काम करता है
शेयर बाजार कैसे सीखे.

👉 स्टॉक एक्सचेंज कैसे कार्य करता है
मौजूदा समय में मुंबई स्टॉक एक्सचेंज पूर्णतया डिजिटल तरीके से शेयरों की खरीद बिक्री करता है यह कार्य मुंबई स्टॉक एक्सचेंज या और भी स्टाक एक्सचेंज में हाई सिक्योरिटी कंप्यूटरों के माध्यम से किया जाता है
शेयर खरीदने और बेचने के लिए बांड या कोई भी स्टांप पेपर की जरूरत नहीं पड़ती है अब ऑनलाइन ही शेयरों की खरीद और बिक्री की जाती है किसी भी स्टॉक एक्सचेंज में ट्रेडिंग करने के लिए ब्रोकरों की आवश्यकता पड़ती है ब्रोकरों के माध्यम से ही आप स्टॉक एक्सचेंज में ट्रेडिंग कर सकते हैं मुंबई स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज मौजूदा समय में भारत के दो प्रमुख स्टॉक एक्सचेंज है.

शेयर बाजार कैसे सीखें
howto learn stock market

शेयर बाजार कैसे सीखे हिंदी में

👉 शेयर कैसे खरीदे और बेचे जाते हैं
यदि आप भारतीय शेयर बाजार में शेयर खरीदना और बेचना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको किसी ब्रोकर या बैंक के माध्यम से डीमैट अकाउंट खुलवाना होगा क्योंकि स्टॉक एक्सचेंज सिर्फ लिस्टेड ब्रोकर , बैंकों के माध्यम से ही शेयर को खरीदने बेचने का अधिकार देती है खरीदे गए शेयरों के पैसे की जिम्मेदारी ब्रोकर्स की होती है इसीलिए ब्रोकर सबसे पहले अपने अकाउंट में आपके पैसे ले लेता है और जैसे ही सौदा हो जाता है वह स्टॉक एक्सचेंज को आपके द्वारा लिए गए शेयरों के हिसाब से पैसे स्टॉक एक्सचेंज को दे देता है और यदि आपने शेयर बेचे हैं तो ब्रोकर्स शेयर बेचकर आपको पैसे दे देगा
शेयर बाजार कैसे सीखे पार्ट 2 ( डीमैट अकाउंट क्या है )

👉 शेयर बाजार की जानकारी

शेयर बाजार से पैसे कमाने के लिए आपको शेयर बाजार की जानकारी होना आवश्यक है यदि आप को शेयर खरीदना है तो सबसे पहले शेयर मार्केट के नियम जानने होंगे शेयर बाजार को समझने के लिए आपको शेयर मार्केट न्यूज़ बिजनेस न्यूज़ न्यूज़ पेपर पर ध्यान देना होगा

👉 कैसे होती है शेयर मार्केट से कमाई
शेयर मार्केट में भी आपको मोबाइल से आर्डर करने की सुविधा उपलब्ध है इसलिए आप कहीं भी घर में ऑफिस में बाजार में कहीं भी आसानी से शेयर खरीद और बेच सकते हैं और कमाई कर सकते हैं आप कुछ कंपनियों के शेयरों पर नजर रखें जिन कंपनियों के शेयर निचले स्तर पर ट्रेड कर रहे हो और शेयर की कीमत बढ़ने का अनुमान हो उन कंपनियों के शेयर खरीद लीजिए
मान लीजिए आपने एसबीआई का शेयर ₹180 में 100 शेयर खरीद लिया और भाव बढ़ने पर उसे ₹185 में बेच दिया तो आपकी ₹500 की कमाई हो जाएगी

👉निफ्टी क्या है
नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का सूचकांक निफ्टी है नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में अलग-अलग सेक्टरों से 50 कंपनियों के तेजी या मंदी के भाव को निफ़्टी दर्शाती है

👉सेंसेक्स क्या है

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के सूचकांक को सेंसेक्स कहते हैं बॉम्बे स्टाक एक्सचेंज में अलग-अलग सेक्टरों की शेयर बाजार कैसे काम करता है 30 कंपनियों के तेजी या मंदी के भाव को सेंसेक्स दर्शाता है

👉ट्रेडिंग किसे कहते हैं
शेयरों की खरीद और बिक्री ही ट्रेडिंग कहलाती है और जिसे अकाउंट के माध्यम से आप ट्रेडिंग करते करते हैं उसे ट्रेडिंग अकाउंट कहते हैं
भारतीय शेयर बाजार का पूरा संचालन सेबी की देखरेख में होता है सभी प्रकार की ब्रोकर्स कंपनियां सभी प्रकार की शेयर लिस्टेड कंपनियां सेबी की देखरेख में कार्य करती हैं .

howto learn stock market
howto learn stock market

👉 शेयर बाजार कैसे सीखे पूरी सीरीज पढ़ने के लिए नीचे दिए गए शेयर बाजार कैसे काम करता है लिंक पर क्लिक करें

शेयर बाजार कैसे सीखे पार्ट 1
( शेयर क्या है शेयर बाजार के बारे में जानकारी )

रेटिंग: 4.34
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 193
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *