निवेश के तरीके

Demat Account कैसे खोले इन हिंदी

Demat Account कैसे खोले इन हिंदी
डीमैट अकाउंट क्या होता है और Demat Account Kaise Khole

Demat Account कैसे खोलें? यहां जानें प्रोसेस; Share Market में ट्रेडिंग करने के लिए है जरूरी

अगर आप शेयर बाजार में ट्रेडिंग करने की इच्छा रखते हैं तो आपका डीमैट खाता होना जरूरी है। डीमैट खाते को बैंक वित्तीय संस्थान या ब्रोकर के साथ खाला जा सकता है। यह ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरीकों से खोला जा सकता है।

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। शेयर बाजार में निवेश और ट्रेडिंग करने के लिए डीमैट खाता होना जरूरी है। अगर किसी व्यक्ति का डीमैट खाता नहीं है तो वह शेयर बाजार में निवेश नहीं कर सकता है। डीमैट खाता खोलने के लिए सबसे पहले डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट (डीपी) का चुनाव करें, जिसके साथ आप डीमैट खाता खोलना चाहते हैं। यह कोई बैंक, वित्तीय संस्थान या ब्रोकर हो सकता है। डीपी का चुनाव आदर्श रूप से ब्रोकरेज शुल्क और वार्षिक शुल्क आदि के आधार पर करना चाहिए।

डीमैट खाता कैसे खोलें?

डीपी से संपर्क करें और फिर डीमैट खाता खोलने का फॉर्म तथा केवाईसी फॉर्म जमा करें। इसके साथ, पैन कार्ड, निवास प्रमाण और आईडी प्रूफ की कॉपी देनी होगी। यहां पासपोर्ट साइज के फोटो भी देने होते हैं। सत्यापन प्रक्रिया के लिए ऑरिजनल दस्तावेज भी अपने पास रखें। यहां आपको लाभांश बैंक विवरण के लिए एक कैंसिल चेक भी देना होगा।

फिर आपको एक समझौते पर हस्ताक्षर करने होंगे, जिसमें डीमैट खाता रखने से जुड़े सभी नियमों, विनियमों और अधिकारों का उल्लेख होगा। इन्हें ध्यान से पढ़ें और अपने सभी संदेहों को दूर करने में संकोच न करें। जब इसे डीपी को प्रस्तुत किया जाता है, तो इस पर एक अधिकृत व्यक्ति द्वारा हस्ताक्षर किए जाते हैं और इसकी एक प्रति आपको दी जाएगी।

जब खाता खोला जाता है, तो आपको डीपी से एक विशिष्ट ग्राहक आईडी प्राप्त होगी। यह, अन्य विवरणों के साथ, आपको अपने डीमैट खाते को ऑनलाइन एक्सेस करने में मदद करेगी। डीमैट खाता सिर्फ ऑफलाइन ही नहीं बल्कि ऑनलाइन भी खोला जा सकता है।

डीमैट खाता ऑनलाइन कैसे खोलें?

किसी भी डीपी के साथ डीमैट खाता खोलने के लिए ऑनलाइन भी आवेदन किया जा सकता है। आप अपने घर या दफ्तर में बैठे हुए सिर्फ कुछ ही क्लिक करके आसानी से ऑनलाइन डीमैट खाता खोल सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले अपने चुने हुए डीपी की वेबसाइट पर जाएं।

डीपी की वेबसाइट पर जाकर 'ओपन डीमैट अकाउंट' टैब पर क्लिक करें और नाम, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर, ओटीपी और शहर आदि की जानकारी भरें। इसके बाद डीमैट खाता खोलने की औपचारिकताओं को पूरा करने के लिए डीपी द्वारा आपसे संपर्क किया जाएगा।

शेयरों में निवेश शुरू करना चाहते हैं? जानिए कैसे खोलें डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट

अब आप फिजिकल डॉक्‍यूमेंट जमा किए बगैर ऑनलाइन ट्रेडिंग और डीमैट अकाउंट खोल सकते हैं. शेयरों में निवेश के लिए इन्‍हें खुलवाना जरूरी है.

photo2

डिजिटल फॉर्म भरें
पहले ब्रोकर की वेबसाइट पर जाएं. फिर अकाउंट खोलने का फॉर्म भरें. इसमें आपको नाम, पता, पैन और उस बैंक अकाउंट की डीटेल्‍स भरनी होंगी जिन्‍हें डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट से जोड़ना है. साथ ही सबसे उपयुक्‍त ब्रोकरेज प्‍लान को सेलेक्‍ट करने की जरूरत होती है.

डॉक्‍यूमेंट अपलोड करें
आधार, पैन, कैंसिल्‍ड चेक जैसे डॉक्‍यूमेंट की स्‍कैन कॉपी अपलोड करने की जरूरत पड़ती है. निवेशक की तस्‍वीर के साथ स्‍कैन किए हुए सिग्‍नेचर की भी जरूरत हो सकती है.

इन-पर्सन वेरिफिकेशन
इन-पर्सन वेरिफिकेशन ब्रोकर करते हैं. इसे डिजिटल कॉल या व्‍यक्ति की वीडियो रिकॉर्डिंग के माध्‍यम से किया जाता है. इसके लिए निवेशकों को स्‍क्रीन पर दिए जाने वाले निर्देशों का पालन करने के लिए कहा जाता है.

आधार ई-वेरिफिकेशन
व्‍यक्ति अब दोबारा फॉर्म चेक करके उसे जमा कर सकता है. इस फॉर्म को ओटीपी के जरिये आधार ऑथेंटिकेशन प्रक्रिया का इस्‍तेमाल करते हुए इलेक्‍ट्रॉनिक तरीके से साइन किया जा सकता है. एक बार जमा की गई जानकारी, स्‍कैंन्‍ड दस्‍तावेज और आईपीवी हो जाने पर डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट खुल जाता है. आप ट्रेडिंग अकाउंट में फंड ट्रांसफर कर सकते हैं और किसी अन्‍य डीमैट अकाउंट में रखी गई प्रतिभूतियों को नए अकाउंट में ला सकते हैं.

किन बातों का रखें ध्‍यान
- ब्रोकरेज फर्मों के अलग-अलग प्‍लानों का अध्‍ययन करें और तुलना करें कि कौन सबसे अच्‍छे रेट और सर्विस ऑफर कर रहा है.

- डिस्‍काउंट ब्रोकर्स के ब्रोकरेज चार्ज फुल सर्विस ब्रोकरों के मुकाबले कम होते हैं. फुल सर्विस ब्रोकर्स तमाम तरह की ऐड-ऑन सर्विस भी देते हैं. इनमें एडवाइजरी, ट्रेडिंग प्‍लेटफॉर्म इत्‍यादि शामिल हैं.

इस पेज की सामग्री सेंटर फॉर इंवेस्टमेंट एजुकेशन एंड लर्निंग (सीआईईएल) के सौजन्य से. गिरिजा गादरे, आरती भार्गव और लब्धि मेहता का योगदान.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

Demat Account Opening: जानें कैसे ऑनलाइन Demat अकाउंट खोला जाता है, स्टेप बाई स्टेप प्रोसेस है यहां

Demat Account Opening: शेयर बाजार की दुनिया में उतरने के लिए डीमैट अकाउंट की सबसे पहले जरूरत पड़ती है और आपके पास इसके लिए कई ऑप्शन हैं. यहां आप जान सकते हैं कि डीमैट अकाउंट कैसे खोल सकते हैं.

By: ABP Live | Updated at : 23 Nov 2021 04:35 PM (IST)

Edited By: Meenakshi

डीमैट खाता कैसे खोलें

Demat Account: घरेलू शेयर बाजार को देखें तो फिलहाल की गिरावट को छोड़कर ये निवेशकों को शानदार रिटर्न देने में कामयाब रहा है लिहाजा कई निवेशक शेयर बाजार में निवेश करना चाहते हैं. हालांकि इसके लिए क्या प्रोसेस है, इसकी जानकारी से वो अगर ठीक से परिचित नहीं हैं तो स्टॉक मार्केट में इंवेस्ट करने में दिक्कत आएगी. SEBI का आदेश है कि सभी तरह के शेयर ट्रेडिंग के लिए फिजिकल या ऑनलाइन मोड से डीमैट खाता खुलवाना जरूरी है. यहां हम बता रहे हैं कि शेयर बाजार में पैसा लगाने के लिए जिस डीमैट अकाउंट की जरूरत है, उसे कैसे खोला जा सकता है.

कैसे खोलें Demat अकाउंट
यहां हम ऑनलाइन तरीके से डीमैट अकाउंट खोलने की प्रक्रिया के बारे में बता रहे हैं जिसको 18 साल से ऊपर की उम्र का कोई भी शख्स खोल सकता है. डिजिटल तरीके से
डीमैट या ट्रेडिंग अकाउंट खोलने के लिए पहले फैसला कर लें कि आप किस कंपनी या ब्रोकरेज फर्म के जरिए ये खाता खोलना चाहते हैं.

किन डॉक्यूमेंट की पड़ेगी जरूरत
इसके लिए PAN, एक बैंक अकाउंट, आपका आइडेंटिटी कार्ड और एड्रेस प्रूफ का डॉक्यूमेंट आपको लगाना होगा.

कैसे खोलें डीमैट अकाउंट
पहले तय किए गए ब्रोकर की वेबसाइट पर जाएं और अकाउंट खोलने के लिए डिजिटल फॉर्म भरें. फॉर्म में आपको नाम, पता, परमानेंट अकाउंट नंबर और उस अकाउंट की डीटेल्स डालनी हैं जिन्हें ट्रेडिंग या डीमैट खाते से लिंक करना है. आपको यहीं पर अपने लिए सबसे सूटेबल प्लान को सेलेक्ट करने की भी जरूरत होगी.

News Reels

डॉक्यूमेंट अपलोड से लेकर अन्य जानकारी
आधार, कैंसिल्ड चेक और पैन की स्कैन कॉपी यहां फॉर्म में अपलोड करने की जरूरत होती है और आपकी फोटो के साथ स्कैंड दस्तखत की भी जरूरत हो सकती है. एक बार जानकारी सबमिट की जाने के बाद स्‍कैंन्‍ड डॉक्यूमेंट और इन पर्सन वेरिफिकेशन हो जाने के बाद आपका डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट खुल जाता है.

डीमैट खाते से जुड़ी खास बात
डीमैट खाते को जीरो अकाउंट बैलेंस के साथ भी खोला जा सकता है और इसमें मिनिमम बैलेंस डालने की कोई आवश्यकता नहीं है.

ये भी पढ़ें

Published at : 23 Nov 2021 04:35 PM (IST) Tags: Investment shares Stocks Mutual fund demat account हिंदी समाचार, ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें abp News पर। सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट एबीपी न्यूज़ पर पढ़ें बॉलीवुड, खेल जगत, कोरोना Vaccine से जुड़ी ख़बरें। For more related stories, follow: Business News in Hindi

शेयरों से कमाई को धड़ाधड़ खुल रहे डीमैट अकाउंट, आपको खुलवाना है? ऐसे खुलवाएं

लॉकडाउन में घर बैठे-बैठे लोग कमाई के जरिया तलाश रहे हैं। कई लोग शेयर बाजार में निवेश कर कमाई कर रहे हैं। शेयरों में निवेश में लोग कितनी दिलचस्पी दिखा रहे हैं, इसका अंदाजा इसी बात से लग जाता है कि बीते दो महीनों में करीब 12 लाख डीमैट अकाउंट खुले हैं। अप्रैल का पूरा महीना लॉक्ड था और अब 31 मई तक लॉकडाउन का ऐलान कर दिया गया है।

know how to open demat account for trading in shares amid lockdown

शेयरों से कमाई को धड़ाधड़ खुल रहे डीमैट अकाउंट, आपको खुलवाना है? ऐसे खुलवाएं

ब्रोकरेज कंपनियां खोलती हैं Demat अकाउंट

-demat-

शेयरों में ऑनलाइन निवेश करने के लिए डीमैट खाते की जरूरत होती है। इसे एचडीएफसी सिक्यॉरिटीज, आईसीआईसीआई डायरेक्ट, ऐक्सिस डायरेक्ट जैसे किसी भी ब्रोकरेज के पास खुलवा सकते हैं।

कैसे खुलता है डीमैट खाता?

निवेशक को डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट (DP) चुनें। CSDL(सेंट्रल डिपॉजटरी सर्विसेज लिमिटेड ) और NSDL( नैशनल सिक्यॉरिटी डिपॉजिटरी लिमिटेड), दोनों के पास DPs की लिस्ट होती है। DP की वेबसाइट पर जाकर अकाउंट ओपनिंग फॉर्म भरें और KYC करवाएं। इसके लिए आपको पहचान प्रमाण, अड्रेस प्रूफ आदि की जरूरत पड़ेगी। इसके बाद होगा इन-पर्सन वेरिफिकेशन। इसके लिए संभव है कि आपका DP आपको अपनेपास के सर्विस प्रवाइडर ऑफिस बुलाएं, लेकिन इन दिनों IPV स्मार्टफोन और वेब कैम के जरिए ऑनलाइन ही ज्यादा किए जा रहे हैं। इसके बाद DP के साथ टर्म ऑफ अग्रीमेंट पर साइन करने होते हैं।

क्लाइंट आईडी

जैसे ही आपका आवेदन प्रॉसेस हो जाएग, आपको एक डीमैट नंबर और क्लाइंट आईडी दी जाएगी। आपको 16 डिजिट की क्लाइंट आईडी मिलेगी, जिसमें पहले 8 डिजिट डिपॉजिटरी को रिप्रजेंट करेंगे और बाकी 8 यूनीक होंगे। आप जीरो शेयरों के साथ भी खाता खोल सकते हैं और इसमें मिनिमम बैलंस की भी जरूरत नहीं।

. लेकिन काफी नहीं है डीमैट खाता

शेयरों में डायरेक्ट निवेश के लिए आपके पास तीन तरह के खाते होने जरूरी हैं। बैंक अकाउंट, ट्रेडिंग अकाउंट और डीमैट खाता शामिल। ट्रेडिंग अकाउंच के बिना डीमैट खाता अधूरा है। डीमैट खाते में आप सिर्फ डिजिटल रूप में शेयरों को रख सकते हैं, जबकि ट्रेडिंग अकाउंट के साथ आप शेयर, IPO, म्यूचुअल फंड और गोल्ड में निवेश कर सकते हैं। डीमैट में शेयरों के रखरखाव का काम डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट (DPs) करते हैं।

कैसे ट्रांसफर होती है रकम?

-डीमैट खाते का इस्तेमाल बैंक की तरह होता है जहां शेयरों को जमा किया जाता है।

-सबसे पहले आपके सेविंग्स बैंक अकाउंट से ट्रेडिंग अकाउंट में रकम आती है।

-ट्रेडिंग अकाउंट की एक आईडी होती है, इस
अकाउंट के जरिए शेयरों को खरीदा-बेचा जा सकता है।

-जितने शेयर खरीदे या बेचे जाते हैं, यह डीमैट खाते में दिखाई देता है।

ब्रोकरेज हाउस की फीस जरूर देखें

डीमैट खाते से जुड़ी तमाम तरह की फीस के बारे में जानकारी जरूर रखें। इसके साथ कई चार्ज जुड़े होते हैं। मसलन आपको इस खाते की ऐनुअल मेन्टिनेंस फईस के तौर पर कुछ अमाउंट देना होता है और जैसे ही डीमैट खाता ऐक्टिव होता है ट्रांजैक्शन फीस देनी होती है। अगर साल के बीच में यह खाता बंद हो जाता है तो मेन्टिंनेंस फीस क्वॉर्टर के आधआर पर प्रपोर्शनेटली ली जाती है। बहरहाल DP अकाउंट बंद करने या एक से दूसरे DP को होल्डिंग्स ट्रांसफर करने पर भी कोई चार्ज नहीं लगता।

Navbharat Times News App: Demat Account कैसे खोले इन हिंदी देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म. पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

Demat Account क्या होता है, डीमैट अकाउंट के प्रकार, कैसे खोले जानकारी

आज हम इस पोस्ट में Demat Account के बारे में जानेंगे कि डीमैट अकाउंट क्या होता है और Demat Account Kaise Demat Account कैसे खोले इन हिंदी Khole इसका क्या उपयोग है, डीमैट अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं, सबसे अच्छा डिमैट अकाउंट कौन सा है डीमैट अकाउंट कैसे खुलवाते है, डीमैट अकाउंट खुलवाने के कितने रुपये लगते Demat Account कैसे खोले इन हिंदी है.

डीमैट अकाउंट क्या होता है और Demat Account Kaise Khole

डीमैट अकाउंट क्या होता है और Demat Account Kaise Khole

प्रिश्न पर पर क्लिक करे और उत्तर पर जाए !

Demat Account Kya Hai

डीमैट अकाउंट क्या है: डीमैट अकाउंट एक De-Materialize शेयर को Hold करने वाला Account होता है. जिसका उपयोग Stock Exchange से शेयर को खरीदने और बेचने के लिए किया जाता है. Demat Account एक ऐसा Account है जिसके बिना कोई भी व्यक्ति शेयर मार्केट से शेयर को न तो खरीद सकता और न ही बेच सकता.

पहले के समय में Share कागज़ों में हुआ करते थे और उन्हें ब्रोकर की मदद से Stock Exchange में जा कर ख़रीदा जाता था. लेकिन जब Stock Exchange को Digital किया गया उसी के साथ शेयर को भी Digital कर दिया गया. इसलिए आज के समय Demat Account कैसे खोले इन हिंदी में आप डीमैट अकाउंट की मदद से ही शेयर को Digitally Buy और Sell करते है.

Demat Account Kya Hota Hai

डीमैट अकाउंट क्या होता है: डीमैट अकाउंट एक सेविंग अकाउंट की तरह होता है जिस में हम अपने पैसों को सुरक्षित रखते है. ठीक इसी प्रकार Demat Account में हम Stock Exchange से ख़रीदे गए शेयर्स को सुरक्षित रखते है. चुकी डीमैट अकाउंट एक सेविंग अकाउंट की तरह काम करता है. इसलिए जिस प्रकार हम सेविंग अकाउंट में पैसों का लेन देन करते है ठीक इसी तरह हम डीमैट अकाउंट में भी शेयरों का लेन-देन कर सकते है.

डीमैट अकाउंट में आपको शेयर को सुरक्षित रखने के अलावा और भी कई सुविधा मिलती है जैसे Credit Limit, Long Time Investment Option आदि.

डीमैट अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं

डीमैट अकाउंट मुख्य रूप से 3 प्रकार के होते है. Regular Demat Account, Repatriable Demat Account, Non-Repatriable Demat Account जो की दो तरह के लोगों के लिए होते है पहले जो की देश के मूल निवासी है दुसरे NRI जो की देश के मूल निवासी नहीं है. यह दोनों की प्रकार के लोग बिना किसी असुविधा के Share Market में निवेश कर सके इसलिए इन दोनों के लिए अलग-अलग डीमैट अकाउंट की सुविधा दी गई है.

  • Regular Demat Account (यह अकाउंट बाकि सभी देश के मूल निवासीयों के लिए होता है)
  • Repatriable Demat Account (यह उन NRI लोगों के लिए होता है जो की मूल निवासी नहीं है लेकिन शेयर मार्केट में शेयर को बेचना और खरीदना चाहते है विदेशी मुद्रा से)
  • Non-Repatriable Demat Account (यह account उन लोगों के लिए होता है जो की सिर्फ निवेश करना चाहते है विदेशी मुद्रा से और वह देश के मूल निवासी नहीं है)

Demat Account Kaise Khole

डीमैट अकाउंट कैसे खोलें: आप खुद अपना डीमैट अकाउंट खोल सकते है जिसको खुलवाने की सामान्य फीस 300-700 Rs लगती है. इसके लिए आपको सबसे पहले किसी brokerage firm किस online website पर जाना है या फिर आप उनकी mobile app को भी download कर सकते है. दोनों जगह आपको Demat Account के लिए apply करना है. जिसमे आप से Pan Card, Aadhar Card, Mobile Number, Email Id, photo मांगे जायेंगे यह documents को आप submit कर के बड़ी ही आसानी से अपना demat account खोल सकते है.

Zerodha, Angel One, ICICI Direct, Kotak Securities, HDFC Securities में आप अपना demat account खुलवा सकते है. यह सब india की top Brokerage Firm है जो की आपको Zero Mantinance Demat Account की सुविधा देती है. यह सब Brokerage Firm आपको Credit Limit, Low Charges के साथ और भी कई सारी सुविधा देती है.

इनमे account खोलना बहुत ही आसान है और आप अगर अपना demat account खोलना चाहते है तो नीचे दी गई link पर click कर के इनकी वेबसाइट पर जा सकते है और अपना account खोल सकते है.

Demat Account Ke Demat Account कैसे खोले इन हिंदी Liye Document

डीमैट अकाउंट को खुलवाने के लिए आपको कुछ documents की जरुरत पड़ेगी जिन के बिना आप डीमैट अकाउंट नहीं खुलवा सकते तो चलिए उन डॉक्यूमेंट के बारे में जाने लेते Demat Account कैसे खोले इन हिंदी Demat Account कैसे खोले इन हिंदी है.

  • Saving Account जिसमें Internet Banking की सुविधा हो
  • Pan Card होना अनिवार्य है बिना पैन कार्ड के डीमैट अकाउंट नहीं खोल सकते
  • Passport size Photo और Address Proof
  • एक Cancelled Check जिसकी जरूरत पड़ सकती है
  • Aadhar Card आपकी KYC के लिए
सबसे अच्छा डिमैट अकाउंट कौन सा है

वह Demat Account सबसे अच्छा होता है जो की आपको सबसे कम Annual Maintenance Fee और Transactions Fee ले और इसी के साथ वह SEBI की NSDL या CDSL की DP में Register हो. क्योंकी SEBI (Securities and Exchange Board of India) के द्वारा दो Organization को डीमैट अकाउंट खोलने कि जिम्मेदारी दी गई है NSDL or CDSL यह दोनों Organizations में Register Depository Participant (DP) ही डीमैट अकाउंट खोल सकते है. इनके अलावा और कोई डीमैट अकाउंट नहीं खोल सकता.

NSDL को हम (National Securities Depository Limited) or CDSL (Central Depository Securities Limited) कहते है. इन दोनों Organization में 500+ से भी ज्यादा DP Register है जिनमें से किसी के पास भी हम अपना डीमैट अकाउंट खुलवा सकते है क्योंकि चाहे आप किसी भी DP के पास अपना खाता खुलवायें सभी DP SEBI के प्रति जवाबदार होंगे.

मार्केट में कई सारे Depository Participants है जिनके पास आप अपना डीमैट अकाउंट खुलवा सकते है जिनमें से कुछ के नाम है Reliance Money, Share Khan, Zerodha, Angel Broking, Kotak Securities, Motilal Oswal आदि.

डीमैट अकाउंट के फायदे
  • डीमैट अकाउंट में आप digital शेयर को खरीदते और बैचते है इसलिए आपको इनके ख़राब होने की चोरी होने की कोई चिंता नहीं करनी पड़ती
  • डीमैट अकाउंट में आपको Credit Loan, Credit Limit जैसी सुविधा मिलती है जो आपके पास कम पैसे होने या न होने पर भी stock exchange में शेयर को खरीदने की सुविधा देती है
  • डीमैट अकाउंट में आप सभी ख़रीदे गए शेयरों में होने वाले बदलाब देख सकते है और नुकसान होने से पहले उन्हें बेच सकते है.
  • डीमैट अकाउंट में जा कर आप सीधे शेयर को खरीद सकते है और बैच सकते है इसके लिए आपको किसी की जरुरत नहीं पड़ती.
डीमैट अकाउंट के नुकसान
  • जब भी आप stock exchange से शेयर खरीदते है तो आपको एक अतिरिक्त शुल्क देना पड़ता है जिसे Transactions Fee कहते है जो की एक नुकसान ही माना जाता है.
  • आप अगर एक साल तक कोई भी शेयर को न खरीदते और न ही बेचते तो भी आपको अपने डीमैट अकाउंट की Annual Maintenance Fee देनी पड़ती है जो की एक extra खर्चा होता है
  • Demat Account आज कल online होते है तो वह व्यक्ति जिसे mobile या computer की जानकारी नहीं है वह डीमैट अकाउंट नहीं चला सकता.
  • Account Freez एक ऐसी समस्या है जो की निवेशकों को Demat Account कैसे खोले इन हिंदी झेलनी पड़ती है. जहाँ अगर आप कुछ समय के लिए अपना demat account login न करे तो आपका account Freez हो जाता है जिसे फिर unfreez करवाना पड़ता है.
Demat Meaning Demat Account कैसे खोले इन हिंदी in Hindi

Demat Meaning in Hindi: डीमैट का मतलब De-Materialize होता है. इसका मतलब है इस ऐसा दस्तावेज़ जो की कागज में न हो. जिसे हम digital document भी कह सकते है. डीमैट का उपयोग सबसे ज्यादा डीमैट अकाउंट के लिए किया जाता है क्योंकी यह वह account होता है जो की digital share को रखने का काम करता है.

Demat Account Meaning in Hindi

Demat Account Meaning Hindi: डीमैट अकाउंट हमारे बैंक अकाउंट कि तरह ही होता है जिसका उपयोग हम शेयरों और अन्य Securities को रखने के लिये करते है.

जिस तरह हम बैंक अकाउंट में पैसे रखते है ठीक उसी तरह हम डीमैट अकाउंट में शेयरों को रखते है. बस फर्क सिर्फ इतना सा है की बैंक अकाउंट में हम पैसों का लेन-देन करते है और डीमैट अकाउंट में हम शेयरों का लेन-देन करते है.

आपको हमारी यह पोस्ट डीमैट अकाउंट क्या होता है और Demat Account Kaise Khole इसका क्या उपयोग है, डीमैट अकाउंट कितने प्रकार के होते हैंअगर पसंद आई तो इसे आपने मित्रों के साथ Share करना ना भूले अगर आपके मन में कोई सवाल है तो comment कर के पूछ सकते है.

रेटिंग: 4.41
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 852
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *