निवेश के तरीके

गुप्त धन

गुप्त धन
Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.गुप्त धन com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं गुप्त धन करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

Chanakya Niti: ये है सबसे बड़ा गुप्त धन, जितना बांटेंगे दोगुना वापस मिलेगा

By: ABP Live | Updated at : 20 Jul 2022 10:11 PM (IST)

चाणक्य नीति: सबसे बड़ा गुप्त धन

Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य महान अर्थशास्त्री, राजनीतिकार और विद्वान माने जाते हैं. व्यक्ति की तरक्की के साथ समाज के कल्याण के लिए उनकी नीतियां जीवन में अपनाना जरूरी है. आचार्य चाणक्य के अनुसार अगर व्यक्ति के पास धन है तो वो बड़ी से बड़ी चुनौती को भी पार कर सकता है लेकिन धन के साथ एक उन्होंने एक ऐसा गुप्त धन बताया है जो हर व्यक्ति के पास होता है. इसे बांटने से भी ये कम नहीं होता. आइए जानते हैं चाणक्य ने किसी गुप्त धन की बात कही है.

कामधेनुगुना विद्या ह्यकाले फलदायिनी।

प्रवासे मातृसदृशी विद्या गुप्तं धनं स्मृतम्॥

  • आचार्य चाणक्य कहते हैं कि विद्या सबसे बड़ा गुप्त धन है. ज्ञान कभी खत्म नहीं होता चाहे जितना बांट दें. श्लोक के जरिए चाणक्य ने विद्या की तुलना कामधेनु गाय से की है. जिस प्रकार कामधेनु गाय कभी भी फल देना बंद नहीं करती, उसी तरह ज्ञान का आदान प्रदान करने से वो कभी खत्म नहीं होता. विद्या बांटने से बढ़ती है.
  • ज्ञान की तुलना चाणक्य ने मां से की है जो अपने बच्चे की हर कदम पर रक्षा करती है. विद्या की बदोलत व्यक्ति हर मुश्किल से पार पा लेता है.
  • चाणक्य के अनुसार ज्ञान ऐसा गुप्त धन है जो बांटने से भी खत्म नहीं होता. विद्या ही एक मात्र ऐसी चीज है जो बुरे समय भी फल प्रदान करती है और अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाती है.
  • आत्मज्ञान होने पर इसे स्वयं तक सीमित रखना ठीक नहीं. इसे अन्य लोगों के साथ बांटने पर समाज का कल्याण होता है. शिक्षित होने से न सिर्फ उस व्यक्ति का भला होता है बल्कि कई पीढ़ियों का भविष्य सुधर जाता है.

गुप्त धन

Profile Image for Munshi Premchand.

Munshi Premchand (Hindi: मुंशी प्रेमचंद) was an Indian writer famous for his modern Hindustani literature. He is one of the most celebrated writers of the Indian subcontinent,and is regarded as one of the foremost Hindustani writers of the early twentieth century.

Born Dhanpat Rai, he began writing under the pen name "Nawab Rai", but subsequently switched to "Premchand", while he is also known as "Munshi Premchand", Munshi being an honorary prefix. A novel writer, story writer and dramatist, he has been referred to as the "Upanyas गुप्त धन Samrat" ("Emperor among Novelists") by some Hindi writers. His works include more than a dozen novels, around 250 short stories, several essays and translations of a number of foreign literary गुप्त धन works into Hindi.

Gupt Dhan-2 (Hindi Stories): गुप्त धन - 2

Gupt Dhan-2 (Hindi Stories): गुप्त धन - 2 de Munshi Premchand

Les membres profitent de l’expédition gratuite et d’un rabais de 10 % sur presque tous les articles. En savoir plus au sujet de plum PLUS.

description

एक रोज़ शाम के वक़्त मैं अपने कमरे में पलंग पर पड़ी एक किस्सा पढ़ रही थी, तभी अचानक एक सुन्दर स्त्री मेरे कमरे में आयी। ऐसा मालूम हूआ कि जैसे कमरा जगमगा उठा। रुप की ज्योति ने दरो-दीवार को रोशान कर दिया। गोया अभी सफ़ेदी हुई है। उसकी अलंकृत शोभा, उसका खिला हुआ, फूल जैसा लुभावना चेहरा, उसकी नशीली मिठास, किसकी तारीफ़ करुँ। मुझ पर एक रोब-सा छा गया। मेरा रुप का घमंड धूल में मिल गया है। मैं आश्चर्य में थी कि यह कौन रमणी है और यहाँ क्योंकर आयी। बेअख़्तियार उठी कि उससे मिलूँ और पूछूँ कि सईद भी मुस्कराता हुआ कमरे में आया। मैं समझ गयी कि यह रमणी उसकी प्रेमिका है। मेरा गर्व जाग उठा। मैं उठी ज़रुर पर शान से गर्दन उठाए हुए आँखों में हुस्न के रौब की जगह घृणा का भाव आ बैठा। मेरी आँखों में अब वह रमणी रुप की देवी नहीं डसने वाली नागिन थी। मैं फिर चारपाई पर बैठ गई और किताब खोलकर सामने रख ली- वह रमणी एक क्षण तक खड़ी मेरी तस्वीरों को देखती रही तब कमरे से निकली चलते वक़्त उसने एक बार मेरी तरफ़ देखा उसकी आँखों से अंगारे निकल रहे थे। जिनकी किरणों में हिंस्र प्रतिशोध की लाली झलक रही थी। मेरे दिल में गुप्त धन सवाल पैदा हुआ- सईद इसे यहाँ क्यों लाया ? क्या मेरा घमण्ड तोड़ने के लिए ?

Tarot Rashifal 29 July (Aquarius): गुप्त धन मिलने के बन रहे योग, दुश्मनों से बचकर रहें

आज कैसा रहेगा कुंभ राशि वालों का दिन

  • नई दिल्ली,
  • 29 जुलाई 2022,
  • (अपडेटेड 29 जुलाई 2022, 6:00 AM IST)

कुंभ The High priestess

कार्यक्षेत्र

आज नौकरी में चल रही परेशानियां ख़त्म होंगी. इसके साथ ही नई नौकरी के मार्ग खुलेंगे. नौकरी में प्रमोशन और पदोन्नति के साथ स्थान परिवर्तन के योग बनेंगे. स्थान परिवर्तन से आपके करियर में नया मोड़ आएगा. कार्यक्षेत्र में आपका सम्मान बढ़ेगा. साथ ही आज प्रतिस्पर्धा का सामना भी करना पड़ेगा. शत्रुओं के बच कर रहें. आज का दिन व्यावसायिक दृष्टि से बहुत अच्छा नहीं रहेगा, कहीं पर निवेश करना सामान्य ही रहेगा. युवाओं को आज अधिक मेहनत करनी गुप्त धन पड़ेगी. दिन में सपने देखने की आदत से बचे.

Chanakya Niti About Gupt Dhan: आचार्य चाणक्य ने बताया इसे जीवन का गुप्त धन, बांटने से भी बढ़ता रहेगा दिन-प्रतिदिन

chanakya niti gupt dhan

आचार्य चाणक्य (acharya chanakya) एक महान अर्थशास्त्री, राजनीतिकार और विद्वान माने गुप्त धन जाते हैं. जहां लोगों की तरक्की के साथ-साथ समाज के कल्याण के लिए भी उनकी नीतियां (niti shastra) अपने जीवन में अपनाना बेहद जरूरी है. आचार्य चाणक्य के अनुसार, अगर लोगों के पास धन है तो, वे जीवन में बड़ी से बड़ी चुनौतियों को आसानी (knowledge increase share) से पार कर सकते हैं. लेकिन, उन्होंने एक ऐसे गुप्त धन के बारे में बताया है. जो हर किसी के पास होता है. इसे जितना बांटों ये कभी कम नहीं होता. बल्कि, बढ़ता है. तो, चलिए जानते हैं कि आचार्य चाणक्य किस गुप्त धन के बारे में बात कर रहे हैं.

रेटिंग: 4.16
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 646
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *