विदेशी मुद्रा क्लब

बाजार अर्थव्यवस्था क्या है?

बाजार अर्थव्यवस्था क्या है?
परिवार के पास लगभग 15 अरब डॉलर की कुल संप​त्ति बताई जाती है और फोर्ब्स द्वारा दुनिया के सबसे अमीर लोगों की सूची में 110 वें स्थान पर है। ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स के अनुसार परिवार ब्रिटेन में सबसे धनी लोगों में से एक है।

चेन्नई मेट्रो से अलस्टॉम को बाजार अर्थव्यवस्था क्या है? 798 करोड़ रुपये का ठेका

चेन्नई मेट्रो रेल लिमिटेड (सीएमआरएल) ने आवागमन क्षेत्र की फ्रांस की दिग्गज कंपनी अलस्टॉम को मेट्रो के 78 उन्नत डिब्बों के डिजाइन, निर्माण, आपूर्ति, परीक्षण और चालू करने के लिए 798 करोड़ रुपये का ठेका दिया है।

मेट्रो के ये नए डिब्बे 26 किलोमीटर लंबे कॉरिडोर पर चलेंगे, जो दूसरे चरण का हिस्सा है। यह 28 स्टेशनों (18 एलिवेटेड और 10 भूमिगत) के माध्यम से पूनमल्ली बाईपास-लाइट हाउस को जोड़ेगा। इस अनुबंध के दायरे में कर्मचारियों के प्रशिक्षण के साथ-साथ 26 मेट्रो ट्रेनों का निर्माण शामिल है, जो 80 किमी प्रति घंटे की शीर्ष रफ्तार से दौड़ सकती है।

बेहतरीन ऊर्जा दक्षता के लिए 25 किलोवॉट बिजली आपूर्ति के साथ अलस्टॉम की यह मेट्रो शहर के 1.1 से अधिक नागरिकों के लिए सुरक्षित और विश्वसनीय यात्री परिवहन सुनिश्चित करेगी। कंपनी ने एक बयान में कहा कि इसके अलावा यह संपूर्ण परियोजना प्रमुख क्षेत्रों को जोड़ते हुए सामाजिक-आर्थिक विकास की दिशा में महत्त्वपूर्ण योगदान देगी।

चेन्नई मेट्रो से अलस्टॉम को 798 करोड़ रुपये का ठेका

चेन्नई मेट्रो रेल लिमिटेड (सीएमआरएल) ने आवागमन क्षेत्र की फ्रांस की दिग्गज कंपनी अलस्टॉम को मेट्रो के 78 उन्नत डिब्बों के डिजाइन, निर्माण, आपूर्ति, परीक्षण और चालू करने के लिए 798 करोड़ रुपये का ठेका दिया है।

मेट्रो के ये नए डिब्बे 26 किलोमीटर लंबे कॉरिडोर पर चलेंगे, जो दूसरे चरण का हिस्सा है। यह 28 स्टेशनों (18 एलिवेटेड और 10 भूमिगत) के माध्यम से पूनमल्ली बाईपास-लाइट हाउस को जोड़ेगा। इस अनुबंध के दायरे में कर्मचारियों के प्रशिक्षण के साथ-साथ 26 मेट्रो ट्रेनों का निर्माण शामिल है, जो 80 किमी प्रति घंटे की शीर्ष रफ्तार से दौड़ सकती है।

बेहतरीन ऊर्जा दक्षता के लिए 25 किलोवॉट बिजली आपूर्ति के साथ अलस्टॉम की यह मेट्रो शहर के 1.1 से अधिक नागरिकों के लिए सुरक्षित और विश्वसनीय यात्री परिवहन सुनिश्चित करेगी। कंपनी ने एक बयान में कहा कि इसके अलावा यह संपूर्ण परियोजना प्रमुख क्षेत्रों को जोड़ते हुए सामाजिक-आर्थिक विकास की दिशा में महत्त्वपूर्ण योगदान देगी।

सुलह से कारोबार बेअसर

हिंदुजा परिवार द्वारा पारिवारिक झगड़ा खत्म करने के फैसले का समूह के कारोबार के कामकाज करने के तरीके पर कोई असर नहीं पड़ेगा तथा परिवार में संपत्ति का कोई विभाजन नहीं होने वाला है। समूह की प्रमुख कंपनी अशोक लीलैंड के कार्यकारी अध्यक्ष धीरज हिंदुजा ने शुक्रवार को बिजनेस स्टैंडर्ड को यह जानकारी दी।

धीरज, गोपीचंद हिंदुजा के पुत्र हैं, जो चार अरबपति भाइयों में से एक है, जिनमें श्रीचंद (हिंदुजा समूह के चेयरमैन), प्रकाश और अशोक शामिल हैं। इससे पहले शुक्रवार को ब्लूमबर्ग ने खबर दी थी कि चारों भाई पारिवारिक विवाद खत्म करने के लिए सहमत हो गए हैं। ब्लूमबर्ग की खबर बाजार अर्थव्यवस्था क्या है? में कहा गया है कि ये भाई पूरे यूरोप में फिलहाल उस झगड़े की​ मुकदमेबाजी रोकने के लिए सहमत हो गए हैं, बाजार अर्थव्यवस्था क्या है? जो कभी एकजुट रहे ब्रिटिश-भारतीय समूह को बांट रहा था।

धीरज ने बिजनेस स्टैंडर्ड के साथ एक विशेष बातचीत में कहा ‘मैं आपको केवल इतना बता सकता हूं कि किसी भी मामले में कारोबार पर असर नहीं पड़ा रहा है। कारोबार सामान्य रूप से चल रहा है। यह बिल्कुल साफ है कि समूह की किसी भी कंपनी के परिचालन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।’

रेटिंग: 4.16
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 445
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *