लाभदायक ट्रेडिंग के लिए संकेत

मुद्रा बाजार म्यूचुअल फंड

मुद्रा बाजार म्यूचुअल फंड
मिश्रित फंड के मामले में, जोखिम निश्चित आय और इक्विटी के संयोजन पर निर्भर करता है। आमतौर पर यह समझा जाता है कि परिवर्तनीय आय का अनुपात जितना अधिक होता है, इस प्रकार के फंड में निवेशक अधिक जोखिम लेता है।

क्या म्यूचुअल फंड में निवेश करना सुरक्षित है?

निवेश निधि की सुरक्षा उस संपत्ति के विकास पर निर्भर करती है जिसमें वे निवेश करते हैं। दूसरे शब्दों में, पोर्टफोलियो का मूल्य नीचे या ऊपर जाएगा, यह इस बात पर निर्भर करता है कि इसे बनाने वाली संपत्ति क्या करती है। अन्य मानदंड जो फंड के जोखिमों को प्रभावित कर सकते हैं, दूसरों के बीच, वह भौगोलिक क्षेत्र, जिसमें यह संदर्भित है, क्षेत्र, मुद्रा, या किसी के निवेश मानदंड से संबंधित अन्य विशिष्ट पहलू हैं। निश्चित पृष्ठभूमि।

कई प्रकार के निवेश फंड मुद्रा बाजार म्यूचुअल फंड हैं, उनमें से अधिकांश एक विशिष्ट निवेशक प्रोफ़ाइल के उद्देश्य से हैं, इसलिए पूरे प्रस्ताव का मुद्रा बाजार म्यूचुअल फंड अध्ययन करना और उस पर निर्णय लेना सुविधाजनक है जो जरूरतों और इच्छाओं के लिए सबसे अच्छी प्रतिक्रिया देता है। विशिष्ट निवेशक का.

निवेश कोष जोखिम

किसी भी वित्तीय उत्पाद में किसी न किसी तरह का जोखिम होता है। हालांकि, फंड एक अच्छा निवेश माध्यम है ताकि औसत निवेशक मध्यम या लंबी अवधि में रिटर्न प्राप्त कर सके लेकिन, यह जानना जरूरी है कि निवेश फंड की गारंटी नहीं है राज्य, जैसा कि बैंक जमा के साथ होता है, एक निश्चित राशि तक। हालांकि राष्ट्रीय प्रतिभूति बाजार आयोग इस प्रकार के सामूहिक निवेश संस्थानों पर नजर रखता है।

हम देखते हैं कि निवेश फंड में अन्य उत्पादों की तुलना में अधिक जोखिम होता है। हालांकि, हम यह भी जानते हैं कि विभिन्न विशेषताओं वाले म्यूचुअल फंड कई प्रकार के होते हैं। इस कारण से, इन फंडों में से प्रत्येक में अधिक या कम जोखिम शामिल होता है जैसा कि आप किसी भी पाठ्यक्रम में शेयर बाजार में निवेश करना या वित्तीय बाजारों में विशिष्ट प्रशिक्षण सीखने के लिए पता लगा सकते हैं।

फंड जो मुद्रा बाजार की संपत्ति में निवेश करते हैं

सिद्धांत रूप में, मुद्रा बाजार की संपत्ति में निवेश करने वाले फंडों में सीमित जोखिम होता है। वे अधिक लंबी अवधि के रिटर्न की पेशकश नहीं करते हैंओ, लेकिन दूसरी ओर वे केवल अल्पकालिक ब्याज दरों में उतार-चढ़ाव से प्रभावित होते हैं।

मुद्रा बाजार म्यूचुअल फंड

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के मुद्रा बाजार म्यूचुअल फंड हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

म्यूचुअल फंड में निवेश दे सकता है छप्पर फाड़ के पैसा, लेकिन पहले इन बातों को समझना है जरूरी

Investment in mutual funds can give double profits, it is necessary to understand these things | म्यूचुअल फंड में निवेश दे सकता है छप्पर फाड़ के पैसा, लेकिन पहले इन बातों को समझना है जरूरी

नई दिल्ली, 7 मई। इन दिनों टेलीविजन पर चैनल बदलते समय आपको म्यूचुअल फंड्स के विज्ञापन दिख जाएगें मुद्रा बाजार म्यूचुअल फंड और इसमें बड़ी ही आसानी से निवेश और पैसा दोगुना करने की बात कही जाती है। तो क्या वाकई लोग इसमें तेजी से पैसा इन्वेस्ट कर रहे हैं? क्या ये पैसा कमाने का एक आसान तरीका है? किस फंड में निवेश करने से सबसे ज्यादा फायदा होगा? कुछ ऐसे ही सवालों के जवाब हम आपको बता रहे हैं।

म्यूचुअल फंड में निवेश करने के दो तरीके
म्यूचुअल फंड में मुद्रा बाजार म्यूचुअल फंड निवेश करने के बारे में एक्सपर्ट्स का मानना है कि इसमें दो तरीके से निवेश किया मुद्रा बाजार म्यूचुअल फंड जा सकता है। पहला SIP और दूसरा एक मुश्त रकम का निवेश। SIP के लिए आपको बाजार में ज्यादा समय देने की जरूरत नहीं पड़ती। इसमें बीते समय की एक अवधि के दौरान शेयर बाजार की अस्थिरता के चलते जोखिम का औसत निकालते हैं। वहीं म्यूचुअल फंड में एक मुश्त रकम का निवेश करते समय आपको गाइडलाइंस ठीक से पढ़ने की जरूरत है।

Mutual Fund: गिरते-संभलते बाजार में भी बना सकते हैं अच्‍छा रिटर्न? एक्‍सपर्ट से समझें पोर्टफोलियो में कैसे करें बदलाव

Mutual Fund Investment Strategy: शेयर बाजार में जारी उतार-चढ़ाव के बावजूद म्‍यूचुअल फंड निवेशकों का भरोसा बना हुआ है. हालांकि, इक्विटी फंड्स में निवेश कम हुआ है. बाजार की मौजूदा स्थिति में म्‍यूचुअल फंड निवेशकों को भी अच्‍छे रिटर्न के लिए अपनी स्‍ट्रैटजी में बदलाव लाना चाहिए.

अगस्त में इक्विटी फंड में महज 6,120 करोड़ रुपये का निवेश आया था, जो 10 महीने में सबसे कम रहा. (Representational Image)

Mutual Fund Investment Strategy: दुनियाभर में बढ़ती ब्‍याज दरों के बीच शेयर बाजारों में भारी उथल-पुथल देखने को मिल रही है. बीते एक महीने में बेंचमार्क इंडेक्‍स सेंसेक्‍स, निफ्टी में करीब 1.5 फीसदी की गिरावट है. हाल के कुछ सेशन में अच्‍छी रिकवरी देखने को मिली है. शेयर बाजार में जारी उतार-चढ़ाव के बावजूद म्‍यूचुअल फंड निवेशकों का भरोसा बना हुआ है. एक तरह जहां इक्विटी फंड्स में निवेश कम हुआ है, वहीं ब्‍याज दरों में बढ़ोतरी के बीच डेट फंड के निवेश में भारी उछाल आया है. बाजार की मौजूदा स्थिति में म्‍यूचुअल फंड निवेशकों को मुद्रा बाजार म्यूचुअल फंड भी अच्‍छे रिटर्न के लिए अपनी स्‍ट्रैटजी में बदलाव लाना चाहिए. एक्सपर्ट्स का कहना है कि बढ़ती ब्‍याज दरों के साइकिल में रेगुलर इन्‍वेस्‍टमेंट के साथ-साथ फिक्‍स्‍ड इनकम फंड और इंटरनेशनल फंड्स को पोर्टफोलियो मुद्रा बाजार म्यूचुअल फंड में शामिल करना एक अच्‍छी स्‍ट्रैटजी हो सकती है. इससे निवेशकों को एक अच्‍छा रिटर्न हासिल करने में मदद मिल सकती है.

क्‍या कहते हैं एक्‍सपर्ट

एडलवाइज एसेट मैनेजमेंट लिमिटेड (EAML) के हेड (सेल्‍स) दीपक जैन का कहना है, मार्केट के मौजूदा हालात में रेगुलर या सिस्‍टमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट बहुत जरूरी है. ब्‍याज दरों में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है. ऐसे में एक अच्‍छी स्‍ट्रैटजी यह है कि अगर एलोकेशन कम है, तो निवेशक को अपने पोर्टफोलियो में फिक्‍स्‍ड इनकम फंड्स को शामिल करना चाहिए.

एसोसिएशन ऑफ रजिस्‍टर्ड इन्‍वेस्‍टमेंट एडवाइजर्स (ARIA) के वाइस चेयरमैन विशाल धवन का कहना है कि बाजार के मौजूदा हालात में म्‍यूचुअल फंड निवेशकों को इंटरनेशनल और इंडियन इक्विटी म्‍यूचुअल फंड्स के एक कम्बिनेशन का इस्‍तेमाल करना चाहिए. उनका कहना है कि ग्‍लोबल वैल्‍युएंशस फिलहाल लॉन्‍ग टम एवरेज से नीचे है. इस मौके का इस्‍तेमाल भारतीय इक्विटी के मुकाबले इंटरनेशनल इक्विटीज को पोर्टफोलियो में शामिल करने के लिए करना चाहिए.

इक्विटी फंड में घटा, डेट में बढ़ा भरोसा

एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) के डेटा के मुताबिक, अगस्त महीने में इक्विटी म्यूचुअल फंड में महज 6,120 करोड़ रुपये का निवेश आया था, जो पिछले 10 महीने में सबसे कम रहा. हालांकि, बाजार में भारी उठापटक के बावजूद इक्विटी म्यूचुअल फंड में पॉजिटिव इनफ्लो लगातार 18वें महीने बना रहा. पिछले कुछ मुद्रा बाजार म्यूचुअल फंड महीनों में निवेश की रफ्तार में गिरावट जरूर आई है. डेटा के मुताबिक, अगस्त में इक्विटी फंड में 6,120 करोड़, जुलाई में 8,898 करोड़ और जून में 18,529 करोड़ का निवेश आया था. मई में यह आंकड़ा 15,890 करोड़ का रहा था.

दूसरी ओर, इंट्रेस्ट रेट में बढ़ोतरी के बीच डेट फंड के निवेश में भारी उछाल आया है. अगस्त महीने में डेट म्यूचुअल फंड में 49164 करोड़ रुपये का निवेश आया, जो जुलाई में 4930 करोड़ रुपये के निवेश से काफी अधिक है. कुल मिलाकर, म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री ने जुलाई में 23,605 करोड़ रुपये के मुकाबले अगस्त में 65,077 करोड़ रुपए का नेट इनफ्लो दर्ज किया.

SIP को लेकर मजबूत सेंटीमेंट

शेयर बाजारों में जारी उतार-चढ़ाव के बीच म्‍यूचुअल फंड निवेशकों का भरोसा SIP को लेकर मजबूत है. Amfi के डेटा के मुताबिक, अगस्त में SIP अकाउंट्स की संख्या 5.71 करोड़ के रिकॉर्ड लेवल पर पहुंच गई और 12,693.45 करोड़ रुपये का निवेश आया. SIP AUM (एसेट अंडर मैनेजमेंट) ऑलटाइम हाई पर है और यह 6.39 लाख करोड़ रुपये के लेवल पर जा पहुंचा है. अगस्त 2022 में 21.13 लाख नए SIP अकाउंट्स रजिस्टर हुए.


(डिस्‍क्‍लेमर: म्‍यूचुअल फंड में निवेश संबंधी सलाह एक्‍सपर्ट द्वारा दी गई है. ये जी बिजनेस के विचार नहीं है. म्‍यूचुअल फंड में निवेश बाजार के जोखिमों के अधीन है. निवेश से पहले अपने एडवाइजर से परामर्श कर लें)

HSBC के म्यूचुअल फंड ने CRISIL IBX 50:50 गिल्ट प्लस SDL अप्रैल 2028 इंडेक्स का फंड लॉन्च किया

HSBC के म्यूचुअल फंड ने CRISIL IBX 50:50 गिल्ट प्लस SDL अप्रैल 2028 इंडेक्स का फंड लॉन्च किया |_40.1

HSBC CRISIL IBX 50:50 गिल्ट प्लस SDL अप्रैल 2028 इंडेक्स फंड (HGSF), एक ओपन-एंडेड टारगेट मैच्योरिटी इंडेक्स फंड, जो CRISIL IBX 50:50 गिल्ट प्लस SDL इंडेक्स – अप्रैल 2028 को ट्रैक करता है, HSBC म्यूचुअल फंड द्वारा पेश किया गया है। फंड हाउस के अनुसार, कार्यक्रम में उच्च ब्याज दर जोखिम और कम क्रेडिट जोखिम है।

प्रमुख बिंदु:

  • प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, एचजीएसएफ गुणवत्ता वाले ऋण पत्रों को मिलाकर बेहतर जोखिम-समायोजित प्रदर्शन और तरलता प्रदान करना चाहता है।
  • फंड का प्रबंधन कपिल पंजाबी, एसवीपी – फंड मैनेजर फिक्स्ड इनकम द्वारा किया जाएगा, और इसे क्रिसिल आईबीएक्स 50:50 गिल्ट प्लस एसडीएल इंडेक्स – अप्रैल 2028 के खिलाफ बेंचमार्क किया जाएगा। वर्तमान अस्थिर दीर्घकालिक प्रतिभूतियों के दृष्टिकोण से लाभ के लिए फंड छह साल के लक्ष्य परिपक्वता क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित करने का इरादा रखता है।
  • फंड सरकारी प्रतिभूतियों में निवेश करेगा, जिसे क्रिसिल आईबीएक्स 50:50 गिल्ट प्लस एसडीएल इंडेक्स – अप्रैल 2028 के जीएसईसी हिस्से में शामिल किया जाएगा और साथ ही राज्य विकास ऋण प्रतिभूतियों में भी शामिल किया जाएगा, जिसे मुद्रा बाजार म्यूचुअल फंड क्रिसिल आईबीएक्स 50:50 गिल्ट प्लस एसडीएल इंडेक्स – अप्रैल 2028 के एसडीएल हिस्से में शामिल किया जाएगा।
रेटिंग: 4.44
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 843
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *