विदेशी मुद्रा पर पैसे कैसे बनाने के लिए?

वित्तीय उपकरण

वित्तीय उपकरण
हिन्दुस्तान 1 दिन पहले लाइव मिंट

7th Pay Commission Latest Update: अगले वेतन आयोग पर आया अब तक का सबसे बड़ा अपडेट, अभी वित्तीय उपकरण से समझ लीजिए-क्या करेगी सरकार?

8th pay commission Latest Update : वर्तमान में सातवें वेतन आयोग के तहत लगभग 68 लाख सरकारी कर्मियों और 52 लाख पेंशनभोगियों को राजस्व का लाभ हो रहा है।कर्मियों का महंगाई भत्ता साल में दो बार जनवरी और जुलाई में बढ़ाया जाता है, यही उनका सबसे बड़ा फायदा है।बाद में डीए बढ़ोतरी (जनवरी में होने वाली) मार्च 2023 में अनुमानित है।लेकिन भविष्य में कर्मियों की आमदनी बढ़ाने के लिए मोदी सरकार के माध्यम से नई व्यवस्था लायी जा सकती है।

सरकार नया वेतन आयोग लाने पर अभी तक सहमत नहीं

साल 2016 में वित्तीय उपकरण तत्कालीन वित्त मंत्री अरुण जेटली ने वेतन आयोग में भाषण देते हुए कहा था, ‘कर्मचारियों की आय बढ़ाने के लिए वेतन आयोग के अलावा एक नया पैमाना होना चाहिए।’सूत्रों का दावा है कि वित्त मंत्रालय भी अब कर्मियों के लिए नया वेतन भुगतान करने पर राजी नहीं हुआ है।अधिकारी ऐसा कोई भी उपकरण बनाने जा रहे हैं, जिससे कर्मियों की आय में उनके समग्र प्रदर्शन से संबंधित वेतन वृद्धि में वृद्धि हो सके।कर्मचारियों का तर्क – आधुनिक समय की कमाई में वृद्धि पर बने रहना बहुत कठिन है.

सूत्रों की मानें तो सरकार भी इसी दिशा में चल रही है

ऐसे किसी भी उपकरण पर काम पूरा किया जा रहा है, जिसमें डीए 50 फीसदी से ज्यादा होने पर कमाई के अंदर कंप्यूटराइज्ड रिवीजन हो सके।इसके लिए ‘कम्प्यूटरीकृत वेतन संशोधन उपकरण’ भी बनाया जा सकता है।कर्मियों का तर्क है कि आधुनिक समय की मुद्रास्फीति दर को देखते हुए, उनके लिए वेतन वृद्धि के सुझावों के साथ मौजूद रहना मुश्किल होगा, इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए कि 2016 से नई व्‍यवस्‍था लागू होने पर पे लेवल मैट्रिक्स 1 से 5 वाले केंद्रीय कर्मचार‍ियों की न्‍यूनतम सैलरी 21 हजार हो सकती है. वेतन आयोग के ट्रेंड को बदलकर इस बार 2024 में नए फॉर्मूला को लागू किया जा सकता है.इसके अलावा कुछ मीड‍िया र‍िपोर्ट में केंद्रीय कर्मचार‍ियों के फ‍िटमेंट फैक्‍टर (Fitment Factor) बढ़ाने को लेकर खबर चल रही हैं. सरकार की तरफ से फ‍िटमेंट फैक्‍टर बढ़ाया जाता है तो व‍ित्‍तीय बोझ बढ़ने से समस्‍याएं हो सकती हैं.

यूनियन कर रहा है अब बदलाव की मांग

गौरतलब है कि सरकार ने हाल ही में कर्मियों को महंगाई भत्ता और महंगाई राहत देने की घोषणा की है।इसके बाद जुलाई से कर्मियों को बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता और महंगाई राहत का लाभ मिलता है।अब इसमें कोई विकल्प आया तो कर्मियों की न्यूनतम मौलिक आय में उछाल आएगा।फिटमेंट फैक्टर में जैसे ही कोई विकल्प आया, इसका असर कर्मियों के पूरे राजस्व पर देखा जा सकता है।उम्मीद की जा रही है कि फिटमेंट फैक्टर को लेकर अगले महीने उपयोग के समर्थन में बैठक हो सकती है।फिटमेंट फैक्टर में उछाल के लिए लंबे समय से परेशान थे सरकारी कर्मचारी।

सैलरी में है इसकी अहम भूम‍िका

वर्तमान में प्रमुख कर्मियों को 2.75 प्रतिशत की कीमत पर फिटमेंट पहलू दिया जा रहा है, जिसे 3.86 गुना तेज किया जा सकता है।आपको बता दें कि फिटमेंट पहलू प्रमुख कर्मियों की आय की पहचान करने में एक आवश्यक कार्य करता है।फिटमेंट पहलू पद्धति में बदलाव से आपकी आय पर भी इसका असर पड़ेगा।दरअसल, इसी के आधार पर कर्मियों की साधारण आमदनी में तेजी आती है।

हम मजबूत मूल्य प्रस्ताव बनाने पर जोर दे रहे हैं

PNEUMSYS 1998 में शुरू की गई एक टर्नकी परियोजना निष्पादन कंपनी है और यह मुंबई में एक ही स्थान से भारत में 7 क्षेत्रीय कार्यालयों और संयुक्त अरब अमीरात और सिंगापुर में मौजूद है। Pneumsys Advance Piping Solutions, Pneumsys Advance Energy Solutions (PAES) के स्वामित्व वाला एक ब्रांड है जो पिछले 35 वर्षों से वायवीय और औद्योगिक स्वचालन क्षेत्र में लगातार काम कर रहा है। भारतीय उद्योग में 2,500 से अधिक परियोजनाओं को निष्पादित करने के हमारे व्यापक अनुभव के कारण, मध्य पूर्व और एशियाई क्षेत्र न्यूमसिस एडवांस एनर्जी सॉल्यूशंस (पीएईएस) ने सर्वोत्तम गुणवत्ता वाले उत्पाद और सेवाएं प्रदान करने में व्यापक अनुभव और विशेषज्ञता हासिल की है। हमारी गतिविधियों में संपीड़ित हवा, ठंडा पानी, ऑक्सीजन आदि, फ्लो मीटर और न्यूमेटिक्स के लिए सभी प्रकार की उपयोगिताओं के लिए एयर कंप्रेशर्स, कूलिंग टावर्स, चिलर और पाइपलाइनों की स्थापना और कमीशनिंग शामिल है।

वित्त वर्ष 2011 के लिए हमारा राजस्व 300 मिलियन रुपये था, जो कि साल-दर-साल आधार पर 50 प्रतिशत की वृद्धि का प्रतिनिधित्व करता है। Pneumsys ने लगातार उम्मीदों से बेहतर प्रदर्शन किया है, और अब आगामी वित्तीय वर्ष (FY22-23) के लिए कंपनी का लक्ष्य 500 मिलियन रुपये से अधिक का राजस्व प्राप्त करना है। मजबूत ऑर्डर बुक के दम पर FY23 के लिए रेवेन्यू टारगेट हासिल किया जा सकता है।

Q3. क्या आपके पास कोई अंतरराष्ट्रीय परियोजना है और क्या आप भारत में की जाने वाली परियोजनाओं के समान परियोजनाएं करते हैं?

हां, संयुक्त अरब अमीरात में हमारी मौजूदगी है और हमने मध्य-पूर्व क्षेत्र में कई ऑटोमोटिव समूहों के साथ काम किया है। हम मध्य पूर्व में इसी तरह की परियोजनाओं को निष्पादित करते हैं जैसे हम भारत में जेसीबी, टाटा मोटर्स, बेंटले और एमएंडएम के साथ-साथ नेरोलैक पेंट्स और टाटा स्टील जैसी प्रमुख पेंट और स्टील प्लांट कंपनियों के लिए करते हैं।

हमारा मिशन पूरे तरल पदार्थ और गैस स्पेक्ट्रम में उच्च गुणवत्ता वाले बहु-उपयोगिता उपकरण और मॉड्यूलर पाइप के डिजाइन, निर्माण, स्थापना और ऑडिटिंग में उत्कृष्ट प्रदर्शन प्रदान करना है। हमारी महत्वाकांक्षा पूरे स्पेक्ट्रम को शामिल करने की है। इस लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए, हमने अपनी कंपनी के भीतर स्वतंत्र विनिर्माण सुविधाएं स्थापित करने के लिए अपने परिचालनों को पिछड़े एकीकृत करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। सुविधाएं ठाणे में स्थित हैं, और वे कई प्रकार के उपकरणों के साथ-साथ पाइपलाइनों के उत्पादन के लिए जिम्मेदार होंगे। हम अग्नि हाइड्रेंट, क्रायोजेनिक गैसों, एचवीएसी और विद्युत उपयोगिताओं सहित हरित क्षेत्र परियोजनाओं के लिए अतिरिक्त उपयोगिताओं को जोड़कर समवर्ती रूप से एकीकृत करने की आशा कर रहे हैं। यह हमें और अधिक कुशलता से एकीकृत करने की अनुमति देगा।

हां, जैसा कि हम विनिर्माण और परियोजनाओं के निष्पादन के मामले में आत्मनिर्भर होकर उद्योग में एक मजबूत मूल्य प्रस्ताव बनाने पर जोर दे रहे हैं, हम भारत और देशों में औद्योगिक क्षेत्रों में अपने विकास में तेजी लाने का इरादा रखते हैं। जो पड़ोसी भारत हैं। हम हमेशा रणनीतिक अकार्बनिक संभावनाओं की तलाश में रहते हैं जो बाजार में अपने पदचिह्न को तेज करने में हमारी सहायता करेंगे।

हमारी गहन क्षेत्र विशेषज्ञता और विकास महत्वाकांक्षाओं को देखते हुए, हम रणनीतिक अकार्बनिक विकास संभावनाओं को भुनाने के लिए अच्छी तरह से तैनात हैं। हम अगले वर्षों में अच्छी सफलता और बेहतर लाभप्रदता की आशा करते हैं। Pneumsys का राजस्व वित्त वर्ष 2025 तक 1 बिलियन रुपये को पार करने का अनुमान है, जिसमें 25% की स्वस्थ 5 साल की सीएजीआर है।

हमने पहले ही उद्योग 4.0 को अपनी उत्पादन रणनीति में एकीकृत कर लिया है, और हम RoHS के अनुरूप भी हैं; नतीजतन, अब हम पर्यावरण के अनुकूल और किफायती दोनों तरह के समाधानों तक पहुंचने के लिए अपनी प्रक्रियाओं को अनुकूलित करने के लिए काम कर रहे हैं।

हम अनुसंधान और विकास के साथ-साथ उन्नत विनिर्माण सुविधाओं में भारी निवेश करके बाजार में प्रतिस्पर्धी बने रहेंगे जो उत्पादों के उत्पादन, परीक्षण और संयोजन के लिए स्वचालित मशीनों का उपयोग करेंगे। हम अगले पंद्रह से बीस वर्षों के लिए इन पहलों के उपयोग के माध्यम से अपनी बाजार हिस्सेदारी को बनाए रखने और बढ़ाने का भी इरादा रखते हैं।

इस तथ्य के कारण कि Pneumsys ने उद्योग में 2,500 से अधिक परियोजनाओं को समाप्त कर दिया है, इस समय विशिष्ट ग्राहक संदर्भ प्रदान करना मुश्किल है; हालांकि, हम सीमेंट, स्टील, ऑटोमोटिव, पैकेजिंग, फूड और फार्मास्युटिकल सहित कुछ ही नामों के लिए व्यावहारिक रूप से सभी उद्योगों में लगे हुए हैं।

PM Kisan Yojana: 13वीं किस्त से पहले पीएम मोदी का किसानों को तोहफा, खाते में आएंगे पूरे 15 लाख रुपये, ऐसे करें अप्लाई

PM Kisan FPO Yojana: किसानों के लिए अच्छी खबर है. अब किसानों को कर्ज से आसानी से मुक्ति मिल जाएगी. केंद्र सरकार किसानों को 15 लाख रुपये आर्थिक मदद के रूप में दे रही है. आइए जानते हैं कैसे आप इसका लाभ उठा सकते हैं.

alt

5

alt

5

alt

4

alt

5

PM Kisan Yojana: 13वीं किस्त से पहले पीएम मोदी का किसानों को तोहफा, खाते में आएंगे पूरे 15 लाख रुपये, ऐसे करें अप्लाई

PM Kisan FPO Yojana 2022: अगर आप भी किसान योजना के लाभार्थी हैं तो आपके लिए खुशखबरी है. दरअसल, केंद्र की मोदी सरकार (Central Government) किसानों की आय बढ़ाने और उनके कर्जे उतारने के लिए लगातार कोशिश कर रही है. इसके लिए सरकार ने वित्तीय उपकरण कई योजनाएं शुरू की हैं. इसी क्रम में सरकार किसानों को नया कृषि बिजनेस शुरू करने के लिए 15 लाख रुपये मुहैया करा रही है. आइए जानते हैं कैसे आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं.

किसानों को मिलेंगे 15 लाख

किसानों की आर्थिक मदद के लिए सरकार ने 'पीएम किसान एफपीओ' (PM Kisan FPO Yojana) स्कीम की शुरुआत की है. इस स्कीम के तहत फॉर्मर्स प्रोड्यूसर ऑर्गेनाइजेशन को 15 लाख रुपये दिए जाएंगे. सरकार देशभर के किसानों को नया कृषि बिजनेस शुरू करने के लिए वित्तीय सहायता दी जाएगी. इस स्कीम का लाभ लेने के लिए 11 किसानों को मिलकर एक ऑर्गेनाइजेशन या कंपनी बनानी होगी. इससे किसानों को कृषि से संबंधित उपकरण या फर्टिलाइजर्स, बीज या दवाएं खरीदने में भी काफी आसानी होगी.

ऐसे करें आवेदन

- सबसे पहले राष्ट्रीय कृषि बाजार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं.
- अब आपके वित्तीय उपकरण वित्तीय उपकरण सामने होम पेज खुलकर आएगा.
- अब होम पेज पर एफपीओ के विकल्प पर क्लिक करें.
- अब आप 'रजिस्ट्रेशन' के विकल्प पर क्लिक करें.
- अब आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुलेगा.
- अब आप फॉर्म में मांगी गई जानकारियों को भरें.
- इसके बाद आप पासबुक या फिर कैंसिल चेक एवं आईडी प्रूफ को स्कैन करके अपलोड करें.
- अब आप सब्मिट के विकल्प पर क्लिक करें.

ऐसे करें लॉग वित्तीय उपकरण इन

- अगर आपको लॉगिन करना है तो सबसे पहले राष्ट्रीय कृषि बाजार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं.
- अब आपके सामने होम पेज खुलेगा.
- इसके बाद आप एफपीओ के विकल्प पर क्लिक करें.
- अब आप लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करें.
- इसके बाद आपके सामने लॉग इन फॉर्म खुलेगा.
- अब इसमें यूजरनेम पासवर्ड और कैप्चा कोड दर्ज करें.
- इसके साथ ही आप लोग इन कर लेंगे.

जरुरी जानकारी | भुगतान सेवा पर कमाई के बाद पेटीएम मुनाफे के लिए सही राह पर : विजय शेखर शर्मा

Get Latest हिन्दी समाचार, Breaking News on Information at LatestLY हिन्दी. पेटीएम की मूल कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस भुगतान सेवा से ‘कमाई’ के बाद अब मुनाफे की दृष्टि से सही राह पर अग्रसर है। कंपनी के संस्थापक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) विजय शेखर शर्मा ने सोमवार को यह बात कही।

जरुरी जानकारी | भुगतान सेवा पर कमाई के बाद पेटीएम मुनाफे के लिए सही राह पर : विजय शेखर शर्मा

नयी दिल्ली, 14 नवंबर पेटीएम की मूल कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस भुगतान सेवा से ‘कमाई’ के बाद अब मुनाफे की दृष्टि से सही राह पर अग्रसर है। कंपनी के संस्थापक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) विजय शेखर शर्मा ने सोमवार को यह बात कही।

शर्मा ने अक्टूबर माह के पेटीएम के प्रदर्शन की जानकारी देते हुए शेयरधारकों को लिखे पत्र में कहा कि कंपनी, देश में भारी मांग को देखते हुए ऋण देने के कारोबार को बढ़ा रही है।

उन्होंने कहा, ‘‘हमने एक साल पहले सार्वजनिक बाजारों में अपनी पहचान बनायी। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि हम पेटीएम से अपेक्षाओं के बावजूद लाभप्रदता और मुक्त नकदी प्रवाह के लिए सही राह पर हैं। मुनाफे वाले वित्तीय सेवा कारोबार के लिए हमारी यात्रा अभी शुरू हुई है।’’

शर्मा ने कहा कि यूपीआई भुगतान के लिए सरकारी प्रोत्साहन और व्यापारियों के पेटीएम उपकरणों तथा सदस्यता उत्पादों को अपनाने से भुगतान सेवाओं पर अब मुनाफा हो रहा है।

कंपनी का बीती जुलाई-सितंबर तिमाही में एकीकृत घाटा 473.5 करोड़ रुपये से बढ़कर 571.5 करोड़ रुपये हो गया। हालांकि तिमाही आधार पर कंपनी का घाटा कम हुआ है।

शर्मा ने कहा कि कंपनी अब ऋण कारोबार को बढ़ा रही है जिससे देश के लाखों लोगों का वित्तीय समावेशन हो सकता है।

कंपनी के ऐप से दुकानदारों को भुगतान अक्टूबर, 2022 में 42 प्रतिशत बढ़कर 1.18 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया, जो पिछले साल समान महीने में 83 लाख करोड़ रुपये था।

पेटीएम द्वारा वितरित किए गए ऋण का मूल्य अक्टूबर में पांच गुना होकर 3,056 करोड़ रुपये पर पहुंच गया, जो एक साल पहले समान महीने मे 627 करोड़ रुपये था।

(यह सिंडिकेटेड न्यूज़ फीड से अनएडिटेड और ऑटो-जेनरेटेड स्टोरी है, ऐसी संभावना है कि लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है)

Cryptocurrency इनवेस्टर्स में डर का माहौल! Bitcoin और Dogecoin में 10% तक गिरावट

हिन्दुस्तान लोगो

हिन्दुस्तान 1 दिन पहले लाइव मिंट

पिछले कुछ दिनों से क्रिप्टो मार्केट में गिरावट का दौर जारी है। निवेशकों के बीच असमंजस की स्थिति के कारण अधिकतर बड़ी क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) गिरावट के साथ ट्रेड कर रही हैं। क्रिप्टो मार्केट की सबसे बड़ी और चर्चित करेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) में बुधवार को गिरावट देखी गई है। पिछले 24 घंटों में बिटकॉइन में 5 पर्सेंट की गिरावट आई है और अभी यह 16,103 डॉलर पर ट्रेड कर रही है। वहीं क्रिप्टो मार्केट की दूसरी बड़ी करेंसी एथेरियम ब्लॉकचेन की ईथर (Ether) में भी सोमवार को गिरावट आई है। पिछले 24 घंटे में ईथर 6 पर्सेंट की गिरावट के साथ 1,191 डॉलर पर ट्रेड कर रही है।

कैसा रहा दूसरे क्रिप्टोकरेंसी का कारोबार

अगर हम पिछले 24 घंटों की बात करें तो Dogecoin और Shiba Inu में 10 पर्सेंट की गिरावट आई है। एक ओर जहां डॉगकॉइन बुधवार को 10 पर्सेंट की गिरावट के साथ 0.08 डॉलर पर ट्रेड कर रही है। वहीं शीबा इनु भी 10 पर्सेंट की गिरावट के साथ 0.00008 डॉलर पर ट्रेड कर रही है। वहीं, पिछले 24 घंटों में सोलोना, टीथर, एक्सआरपी, ट्रॉन, लिटकॉइन, यूनिस्वैप, एपीकॉइन, पॉलीगॉन, कार्डानो, स्टेलर, चेनलिंक और पोल्काडॉट भी गिरावट के साथ ट्रेड कर रही हैं। दूसरी ओर CoinGecko के अनुसार पिछले 24 घंटों में ग्लोबल क्रिप्टो मार्केट कैप भी 5 पर्सेंट की गिरावट के साथ 845 बिलियन डॉलर पर ट्रेड कर रही है।

गिरकर 15,500 डॉलर पर पहुंच सकता है बिटकॉइन

ग्लोबल क्रिप्टो इनवेस्टमेंट प्लेटफॉर्म Mudrex के सीईओ और को-फाउंडर इदुल पटेल कहते हैं कि बाइनैंस (Binance) की FTX के साथ डील वापस लेने के कारण पिछले कुछ दिनों से क्रिप्टोकरेंसी में गिरावट जारी है। इसके अलावा, अगर बुल्स मार्केट में बिटकॉइन को करेंट लेवल से ऊपर रखने में कामयाब हो पाते हैं तो जल्द ही हम इसे 17,000 डॉलर के आसपास ट्रेड करते हुए देखेंगे। वहीं, इसके उलट बिटकॉइन जल्द ही 15,500 के लेवल पर भी पहुंच सकता है। दूसरी और ईथर भी अपने मंथली सपोर्ट लेवल 1,245 डॉलर से नीचे ट्रेड कर रहा है जो मार्केट में सेलर्स की मजबूती को दिखाता है।

रेटिंग: 4.25
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 608
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *