बाइनरी ऑप्शन टिप्स

टाइटनव्यापार

टाइटनव्यापार
शेयरकास्ट / पिक्साबे

JRD TATA: 15 साल के एक लड़के ने देखा सपना, फिर भारत को मिली थी पहली एयरलाइंस कंपनी! जानें पूरी कहानी

JRD Tata: जहांगीर रतनजी टाटा या JRD, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, टाटा मोटर्स, टाइटन इंडस्ट्रीज, टाटा साल्ट, वोल्टास और एयर इंडिया सहित टाटा समूह के उद्योगों के संस्थापक होने के लिए भी जाने जाते हैं. उन्‍होंने 15 वर्ष की उम्र में जो सपना देखा, उसने देश को एविएशन सेक्‍टर में नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया.

JRD Tata: भारत के सबसे बड़े बिजनेस घरानों में से एक टाटा परिवार में जन्मे जहांगीर, प्रसिद्ध व्यवसायी रतनजी दादाभाई टाटा और सुज़ैन ब्रिएरे के पुत्र थे. उनकी मां कार चलाने वाली भारत की पहली महिला थीं और 1929 में वह खुद भारत के पहले लाइसेंस प्राप्त पायलट बने. जहांगीर रतनजी टाटा या JRD, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज, टाटा मोटर्स, टाइटन इंडस्ट्रीज, टाटा साल्ट, वोल्टास और एयर इंडिया सहित टाटा समूह के उद्योगों के संस्थापक होने के लिए भी जाने जाते हैं. 1983 में, उन्हें फ्रेंच लीजन ऑफ ऑनर से सम्मानित किया गया और 1955 और 1992 में, उन्हें भारत के दो सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म विभूषण और भारत रत्न मिले. ये सम्मान उन्हें भारतीय उद्योग में उनके योगदान के लिए दिए गए हैं.


15 साल की उम्र में देखा था सपना
JRD Tata ने देश की पहली एयरलाइंस Tata Air Service की शुरुआत की जो बाद में Air India बन गई. एयरलाइंस की पहली फ्लाइट खुद JRD Tata ने उड़ाई थी. उन्‍हें 10 फरवरी 1929 को भारत का पहला कॉमर्शियल एविएटर सर्टिफिकेट दिया गया था. उन्‍होंने 15 साल की उम्र में इसका सपना देखा था. फ्रांस में रहते हुए वह अपने पड़ोसी और कॉमर्शियल पायलट लुईस से प्रभावित हुए थे. तभी से उन्‍होंने पायलट बनने का फैसला कर लिया था. उनकी कामयाबी से ही देश में पहली एयरलाइंस की शुरुआत की नींव पड़ी.


कैसे बनाया एयर इंडिया?
एयर इंडिया को JRD Tata ने 1932 में टाटा एयरलाइंस के नाम से लॉन्‍च किया था. 1946 में इसका नाम बदलकर एयर इंडिया कर दिया गया. आजादी के बाद 1954 में भारत सरकार ने एयर इंडिया को खरीदकर इसका राष्‍ट्रीयकरण कर दिया. इसके टाइटनव्यापार बाद घरेलू सेवा के लिए इंडियन एयरलाइंस बनी और विदेश के लिए एयर इंडिया. JRD Tata शुरुआत से कंपनी के चेयरमैन बने रहे.


जब एयर इंडिया से किए गए बाहर
वर्ष 1978 में मोरारजी देसाई सरकार ने अचानक ही उन्‍हें Air India के चेयरमैन पद से हटने का आदेश दे दिया. वे 1953 से इस पद पर थे. उस समय इंदिरा गांधी सत्‍ता से बाहर थीं. उन्‍होंने चिट्ठी लिखकर JRD से दुख जताया था और कहा था कि देश उनकी सेवाओं के लिए हमेशा उनका ऋणी रहेगा. इतना ही नहीं, 1980 में सत्‍ता में लौटने के बाद इंदिरा गांधी को फिर से इंडियन एयरलाइंस और एयर इंडिया के बोर्ड में शामिल किया.


4 देशों से की थी पढ़ाई
JRD Tata ने अपनी पढ़ाई 4 देशों से की थी जिसमें इंग्‍लैंड, फ्रांस, भारत और जापान शामिल हैं. उनके पास फ्रांस की नागरिकता भी थी जिसके चलते उन्‍होंने एक वर्ष के लिए फ्रेंच आर्मी की भी सेवा की. वह 1925 में भारत लौटे थे. देश को ऐविएशन सेक्‍टर में नई ऊंचाईयों तक पहुंचाने के बाद, आज ही के दिन, 19 नवंबर 1993 को किडनी इंफेक्‍शन की समस्‍याओं के चलते 89 वर्ष की आयु में उनकी मौत हो गई.

तेजी के साथ बंद हुए भारतीय शेयर बाजार,कुछ को छोड़ सभी सेक्टर्स के शेयरों में रही तेजी

नई दिल्ली। भारतीय शेयर बाजार के लिए मंगलवार का ट्रेडिंग सत्र शानदार रहा है। सुबह बाजार मामूली तेजी के साथ बाजार खुला था। लेकिन दिन के ट्रेडिंग सत्र में निवेशकों की खरीदारी के चलते बाजार में तेजी लौटी। और आज का कारोबार खत्म होने पर मुंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का सूचकांक टाइटनव्यापार सेंसेक्स 274 अंकों के उछाल के साथ 61,418 तो नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का निफ्टी 84 अंकों की तेजी के साथ 18,244 अंकों पर बंद हुआ है।

सेक्टर्स का हाल
बाजार में आज बैंकिंग, आईटी, ऑटो, पीएसयू, फार्मा, एफएमसीजी, मेटल्स, इंफ्रा, ऑयल एंड गैस और कंज्यूमर ड्यूरेबल्स जैसे सेक्टर्स के शेयर तेजी के साथ बंद हुए हैं। तो रियल एस्टेट, एनर्जी जैसे सेक्टर्स के शेयर गिरावट के साथ बंद हुए। स्मॉल कैप और मिड कैप शेयरों में भी तेजी रही है। निफ्टी के 50 शेयरों में 38 शेयर तेजी के साथ तो 12 शेयर गिरावट के साथ बंद हुए हैं। सेंसेक्स के 30 शेयरों में 25 शेयर तेजी के साथ तो टाइटनव्यापार 5 शेयर गिरावट के साथ बंद हुए। बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैपिटलाईजेशन बढ़कर 281.68 लाख करोड़ रुपये रहा है।

चढ़ने वाले शेयर्स
बाजार में आज इंडसइंड बैंक टाइटनव्यापार का शेयर 2.67 फीसदी, जेएसडब्ल्यु स्टील 1.68 फीसदी, एनटीपीसी 1.61 फीसदी, एचडीएफसी लाइफ 1.43 फीसदी, अल्ट्राटेक सीमेंट 1.31 फीसदी, टाइटन कंपनी 1.28 फीसदी,अडानी पोर्ट्स 1.24 फीसदी, डिविज लैब 1.21 फीसदी, यूपीएल 1.20 फीसदी, अपोलो हॉस्पिटल 1.15 फीसदी, इंफोसिस 1.07 फीसदी की तेजी के साथ बंद हुआ है।

गिरावट वाले शेयर
जिन शेयरों में गिरावट रही उसमें बीपीसीएल 1.11 फीसदी, नेस्ले 0.75 फीसदी, पावर ग्रिड 0.57 फीसदी, भारती एयरटेल 0.42 फीसदी, कोटक महिंद्रा 0.22 फीसदी, ओएनजीसी 0.18 फीसदी, एचडीएफसी बैंक 0.15 फीसदी, कोल इंडिया 0.15 फीसदी, आईशर मोटर्स 0.11 फीसदी, सिप्ला 0.03 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुआ है।

मार्जिन दबाव के बीच टिटन होल्डिंग्स ने वित्त वर्ष के कारोबार पर चेतावनी दी

डीएल फाइनेंस जेनेरिक कैलकुलेटर आंकड़े स्प्रेडशीट अकाउंटिंग

शेयरकास्ट / पिक्साबे

टाइटन होल्डिंग्स

71.00p

16:55 29/11/22

वेंटिलेशन सिस्टम निर्माता टाइटन होल्डिंग्स शुक्रवार को चेतावनी दी कि मार्जिन दबाव और उत्पादन और प्रेषण दोनों मुद्दों के परिणामस्वरूप इसका पूरे साल का व्यापार प्रदर्शन पहले की अपेक्षा कमजोर होगा।

निर्माण सामग्री

6,902.31

16:29 29/11/22

एफटीएसई एआईएम ऑल-शेयर

844.22

17:14 29/11/22

टाइटन ने कहा कि ब्रिटेन और यूरोप में व्यापार की स्थिति कच्चे माल और घटकों की कमी के साथ-साथ सामग्री, घटकों, श्रम और ऊर्जा के लिए मूल्य वृद्धि से प्रभावित हुई है, जिसके परिणामस्वरूप लागत मुद्रास्फीति से मार्जिन में कमी आई है।

हालांकि, टाइटन ने कहा कि अब यह साल के अंत से पहले "आगे की कीमतों में वृद्धि" के माध्यम से आगे बढ़ने वाली लागत में वृद्धि से मार्जिन प्रभावों को कम करने के प्रयास के हिस्से के रूप में रखेगी।

एआईएम-सूचीबद्ध समूह ने यह भी नोट किया कि यूके और यूरोपीय परिचालनों के लिए अपनी नई आंतरिक ईआरपी प्रणाली के कार्यान्वयन से जुड़े "अप्रत्याशित परिचालन प्रभावों" से व्यापार प्रभावित हुआ था, प्रारंभिक कार्यान्वयन के साथ "अल्पकालिक उत्पादन और प्रेषण देरी", जिसके परिणामस्वरूप पिछले तीन महीनों में अपेक्षा से कम राजस्व प्राप्त हुआ।

टाइटन ने कहा कि इसने नई ईआरपी प्रणाली को लागू करने और प्रणाली के विकास के लिए कुछ बढ़ी हुई लागतों के साथ-साथ उत्पादन उत्पादन को बढ़ाने और कर्मचारियों के प्रतिधारण को बढ़ाने के लिए श्रम लागत में वृद्धि की है।

"ईआरपी कार्यान्वयन चुनौतियों का समाधान किया जा रहा है और हमारी बिक्री राजस्व अब अधिक सामान्य मासिक स्तर पर वापस आ गया है, लेकिन चालू वित्त वर्ष में हमें उम्मीद नहीं है कि वर्ष के अंतिम महीनों में बिक्री बिक्री की कमी को पूरा करने के लिए पर्याप्त होगी। इन मदों के परिणामस्वरूप FY21/22 वित्तीय वर्ष के लिए हमारे परिणाम हमारी पूर्व अपेक्षाओं से कम होंगे," टाइटन ने कहा।

टाइटनव्यापार

एशियाई बाजारों में कमजोरी के रुख के बीच शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में प्रमुख शेयर सूचकांक सेंसेक्स और निफ्टी में गिरावट हुई और इसके साथ ही बाजारों में टाइटनव्यापार तीन दिन से जारी तेजी थम गई।

इस दौरान 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 101.03 अंक गिरकर 62,171.65 अंक पर आ गया। व्यापक एनएसई निफ्टी 24.20 अंक टूटकर 18,459.90 अंक पर था।

सेंसेक्स में बजाज फाइनेंस, नेस्ले, एशियन पेंट्स, हिंदुस्तान यूनिलीवर, इंफोसिस, टाइटन, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेस, पॉवर ग्रिड और आईटीसी गिरने वाले टाइटनव्यापार प्रमुख शेयरों में शामिल थे।

दूसरी ओर लार्सन एंड टूब्रो, एक्सिस बैंक, इंडसइंड बैंक और एनटीपीसी में बढ़त हुई।

अन्य एशियाई बाजारों में सियोल, तोक्यो और हांगकांग के बाजार नुकसान में कारोबार कर रहे थे जबकि शंघाई के बाजार लाभ में थे। अमेरिकी बाजार टाइटनव्यापार बृहस्पतिवार को बंद थे।

पिछले सत्र में, बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 762.10 अंक यानी 1.24 प्रतिशत उछलकर 62,272.68 अंक के रिकॉर्ड उच्चस्तर पर बंद हुआ था। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 216.85 अंक यानी 1.19 प्रतिशत की बढ़त के साथ 18,484.10 अंक पर बंद हुआ था।

अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.23 फीसदी की बढ़त के साथ 85.54 डॉलर प्रति बैरल पर था।

शेयर बाजार के अस्थाई आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) टाइटनव्यापार ने बृहस्पतिवार को शुद्ध रुप से 1,231.98 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे।

रेटिंग: 4.72
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 676
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *