भारत में क्रिप्टोकरेंसी व्यापार

Share market क्या होता है

Share market क्या होता है
सेबी ने कहा है कि स्टॉक एक्सचेंज में trade करने के लिए जो पहले से मेंबर स्टॉक एक्सचेंज में रजिस्टर्ड हैं उनके द्वारा ही आप trade कर सकते हैं।

Share Market Benefits Hindi

stock market : Share Market क्या है ? सम्पूर्ण जानकारी

stock market का अर्थ हिन्दी मे share market (शेयर बाजार ) होता है जोकी अपने बहुत लोगों के मुहू से सुना होगा की मे शेयर मार्केट मे अपने पेसे investment या trading करता हु जिससे बहुत पैसे हर रोज कमाता हु तो आपको बात दु की आपको इस आर्टिकल मे stock market या share market की सम्पूर्ण जानकारी मेलेगी

हम आज जानेगे share market के बारे मे

  • शेयर मार्केट क्या होता है
  • शेयर कितने प्रकार के होते है
  • शेयर मार्केट Share market क्या होता है कैसे काम करता है
  • आप कैसे कर सकते हैं शेयर बाजार में निवेश की शुरूआत?

Table Share market क्या होता है of Contents

stock market शेयर बाजार क्या होता है ?

Stock Market या Share Market वह जगह होती हैं जहाँ पर Equity, Debentures, Mutual Funds, Derivatives और अन्य प्रकार की Securities (प्रतिभूतियों) को Stock Exchange Share market क्या होता है के माध्यम से ख़रीदा और बेचा जाता हैं|

आसान शब्दों मे बोला जाए stock market शेयर मार्केट जो शेयर का मतलब होता है हिस्सा. बाजार उस जगह को कहते हैं जहां आप खरीद-बिक्री कर सकें आपको यह जानना जरूरी है की

भारत मे दो सबसे बड़े stock exchanger है

    (Bombay Stock Exchange) (National Stock Exchange)

BSE या NSE में ही किसी लिस्टेड कंपनी के शेयर ब्रोकर के माध्यम से खरीदे और बेचे जाते हैं. शेयर बाजार (Stock Market) में हालांकि बांड, म्युचुअल फंड और डेरिवेटिव का भी व्यापार होता है.

स्टॉक बाजार या शेयर बाजार में बड़े रिटर्न की उम्मीद के साथ घरेलू के साथ-साथ विदेशी निवेशक (FII या FPI) भी काफी निवेश करते हैं.

शेयर कितने प्रकार के होते है

  1. Equity Share (इक्विटी शेयर)
  2. Preference Share (परेफरेंस शेयर )
  3. DVR Share (डी वी आर शेयर )

Equity Share (इक्विटी शेयर)

स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड कंपनी जब अपना शेयर इशू करती है तो उन शेयर को equity share कहा जाता है .

बंकि अन्य शेयर कि तुलना में equity share सबसे ज्यादा ट्रेड किये जाते है क्योंकि यह शेयर लगभग सभी कंपनी के द्वारा इशू किये जाते है .

स्टॉक एक्सचेंज में लोग सबसे ज्यादा इक्विटी शेयर्स पर ही इन्वेस्ट और ट्रेडिंग करते है इस कारण से इन्हें लोग इक्विटी शेयर कि जगह सिर्फ शेयर कहना पसंद करते है .

Preference Share (परेफरेंस शेयर )

शेयर बाजार में इक्विटी शेयर के बाद परेफरेंस शेयर का नाम बहुत चलता है , परेफरेंस शेयर और इक्विटी शेयर इन दोनों में ज्यादा अंतर नहीं है .

Share क्या है? - What Is Share

दोस्तों Share एक अंग्रेजी शब्द है और यह Share Capital का एक छोटा हिस्सा है यानी कि share capital को छोटे-छोटे हिस्सों में बांट दिया जाए और हर एक हिस्सा को share कहा जाता है।

Market का मतलब एक ऐसी जगह जहां पर खरीददार और बेचने वाले एक दूसरे से मिलते हैं और खरीदते या बेचते हैं।

Stock Market क्या है - Stock Market in Hindi

अगर आसान शब्दों में कहीं तो शेयर मार्केट किसी भी कंपनी में से share Share market क्या होता है खरीदने और बेचने का प्लेटफार्म है।
भारत में 2 सबसे बड़े स्टॉक एक्सचेंज है:-

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज - Bombay stock exchange ( BSE) in Hindi:-

Bombay stock exchange ( BSE) भारत का सबसे बड़ा security exchange कहा जाता है और इसकी स्थापना 1875 में हुई है BSE भारत का सबसे पहले स्थापित किया जाने वाला स्टॉक एक्सचेंज है। लेकिन BSE एक regional stock exchange है।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज - National Stock Exchange (NSE) in Hindi:-

National Stock Exchange की स्थापना 1992 में हुई है, लेकिन NSE को स्टॉक एक्सचेंज का दर्जा अप्रैल 1993 में दिया है यह भारत का एक मॉडर्न और टेक्नोलॉजी base stock exchange है।
आप BSE/NSE में लिस्टेड कंपनी के शेयर को खरीद-बेच सकते हो। लेकिन यह काम एक ब्रोकर के माध्यम से किया जाता है।

Share खरीदना क्या है:-

जैसे कि उदाहरण के तौर पर BSE में लिस्टेड कंपनी ने अपने कुल 5 लाख शेयर बाजार में जारी किए और आप उस कंपनी के 10000 शेयर खरीदे लेते हैं। इसका मतलब यह हुआ कि आपको उस कंपनी के 10000 शेयर का मालिकाना मिल गया है।

आपका जब भी मन करे कभी भी और किसी भी समय (कामकाजी दिन) खरीदे गए शेयर के कुछ शेयर या सारे शेयर को बेच भी सकते हो। इन शेयर को खरीदने व बेचने में आपको broker से सहायता लेनी Share market क्या होता है पड़ेगी। Broker अपने सर्विस का कमीशन चार्ज करते हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि BSE/NSE में किसी भी कंपनी के शेयर या स्टॉक के मूल दर्ज होते हैं कंपनी के शेयर का दाम घटना या बढ़ाना उसके क्षमता पर निर्भर करता है

बाजार में नियंत्रण बनाना Security Exchange Board Of India का काम होता है SEBI के परमिशन के बिना कोई भी कंपनी अपना IPO ( Initial Public Offer) जारी नहीं कर सकती है. सबसे पहले सेबी से उस कंपनी को परमिशन Share market क्या होता है लेनी पड़ेगी तभी आईपीओ जारी कर सकती है।

Stock Market में कंपनी कैसे लिस्ट होती है? How to Company listed in Stock Market

सबसे पहले कंपनी को लिस्ट होने के लिए शेयर बाजार से लिखित में कई समझौते करने पड़ेंगे। इसके बाद कंपनी को अपने जरूरी दस्तावेजों को सिक्योरिटी एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया(Security Exchange Board Of India) में जमा करना पड़ता है इसके बाद कंपनी के द्वारा दी गई सारी जानकारियों को सेबी मूल्यांकन करता है सही होने पर कंपनी स्टॉक एक्सचेंज में लिस्ट हो जाती है।

Over The Counter Exchange of India ( OTCEI):-

दोस्तो OTCEI में small और medium company trade करती है जो stock exchange में लिस्टेड नहीं होती है। OTCEI एक national stock exchange है।

What is Share Market in Hindi - शेयर बाजार क्या है?

What is Share Market in Hindi - शेयर बाजार क्या है?

What is Share Market in Hindi - दुनिया में पैसे कमाने का जरिया बहुत है, कुछ लोग job करके पैसे कमाते हैं तो कुछ लोग व्यापार यानि business करके पैसे कमाते हैं और कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अपने पैसे दाव पर लगा कर ढेर सारे पैसे कमाते हैं. पर ये लोग अपने पैसे कौन सी जगह पर दाव पर लगाते हैं, ऐसी कौन सी जगह है की जहाँ अपने पैसे दाव पर लगाने के बाद भी लोगों को मुनाफा होता है? वो जगह है share market यानि शेयर बाज़ार. Share Bazar के बारे में सभी ने सुना होगा मगर वहां क्या होता Share market क्या होता है है इसका ज्ञान सभी को नहीं है.

1.Share Market और Stock Market एक ऐसा market है जहाँ बहुत से companies के shares ख़रीदे और बेचे जाते हैं. ये एक ऐसी जगह है जहाँ कुछ लोग या तो बहुत पैसे कमा लेते हैं या तो अपने सारे पैसे गवा देते हैं. किसी कंपनी का share खरीदने का मतलब है उस कंपनी में हिस्सेदार बन जाना. आप Share market क्या होता है जितने पैसे लगायेंगे उसी के हिसाब से कुछ प्रतिशत के मालिक आप उस कंपनी के हो जाते हैं. जिसका मतलब ये है की अगर उस कंपनी को भविष्य में मुनाफा होगा तो आपके लगाये हुए पैसे से दुगना पैसा आपको मिलेगा और अगर घाटा हुआ तो आपको एक भी पैसे नहीं मिलेंगे यानि की आपको पूरी तरह से नुकसान होगा. जिस तरह Share market in Hindi में पैसे बनाना आसान है ठीक उसी तरह यहाँ पैसे गवाना भी उतना ही आसान है क्यूंकि stock market में उतार चढ़ाव होते रहते हैं.

शेयर बाजार के फायदे – Share Market Benefits hindi

उच्च लिक्विडिटी (High Liquidity) :- इंडियन शेयर मार्किट में, दो एक्सचेंज, बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) हैं ज्यादातर कंपनियां या तो इन इन दोनों एक्सचेंजों पर या इनमें से किसी एक में अपने शेयरों का बिज़नेस करती हैं। यह निवेशकों को उच्च लिक्विडिटी प्रदान करता है क्योंकि औसत दैनिक मात्रा अधिक होती है। इसलिए, यदि कोई इन्वेस्टर स्टॉक एक्सचेंजों पर किसी भी शेयर को खरीदना या बेचना चाहता है, तो लिक्विडिटी इसे आसान बनाती है।

कम समय अवधि में उच्च रिटर्न (High returns) :- Bonds और Fixed Deposits जैसे अन्य इन्वेस्टमेंट ऑप्शन से तुलना की जाये तो शेयर मार्किट निवेशकों को तुलनात्मक रूप से कम समय अवधि में अधिक रिटर्नदेता है लेकिन शेयर मार्किट रूल को फॉलो करना पड़ेगा जैसे : ट्रेडिंग की योजना बनाना, स्टॉप–लॉस और ले–प्रॉफिट ट्रिगर्स का उपयोग करना, अनुसंधान और उचित परिश्रम करना, और धैर्यवान होने से स्टॉक निवेश में निहित risk को काफी कम किया जा सकता है और शेयर बाजार निवेश पर रिटर्न को बढाया जा सकता है |

Share Market Benefits hindi

लाभ और हानि की कोई सीमा नहीं :- शेयर मार्किट के अन्दर प्रॉफिट और loss की कोई लिमिट नही है इसके अन्दर इन्वेस्टर के उपर निर्भर करता है की कितने अच्छे से ट्रेडिंग कर सकता है और अच्छे पैसे कमा सकता है |

No Time और Space Limit :- शेयर मार्किट एक सप्ताह के अन्दर 5 दिन और हर दिन 6 घंटे चलता है ओ आप अपनी मर्जी के हिसाब से ट्रेडिंग कर सकते है और इसके लिए ज्यादा स्पेस की जरुरत नही पड़ती है और जंहा अच्छा इन्टरनेट मिले वंहा से ट्रेडिंग कर सकते है |

Regulatory Environment and Framework :- इंडियन स्टॉक मार्किट को स्टॉक एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) द्वारा कण्ट्रोल किया जाता है SEBI के पास स्टॉक एक्सचेंजों को विनियमित करने, इसके विकास और इन्वेस्टर के अधिकारों की रक्षा करने की जिम्मेदारी है। इसका मतलब यह है कि जब इन्वेस्टर शेयर बाजार में वित्तीय प्रोडक्ट में निवेश करते हैं तो उसके साथ कोई धोखाधड़ी नही हो सकती है

Volume in Share Market: शेयर मार्केट में वॉल्यूम क्या है? ट्रेडिंग के लिए यह जरूरी इंडिकेटर क्यों है?

Volume in Share Market: शेयर मार्केट में वॉल्यूम क्या है? ट्रेडिंग के लिए यह जरूरी इंडिकेटर क्यों है?

Volume in Share Market: शेयर बाजार में वॉल्यूम बड़े ही काम का इंडिकेटर होता है, यह बाजार के रुझानों को समझने में मदद करता है, लेकिन ज्यादातर ट्रेडर ट्रेड प्लेस करते समय वॉल्यूम की अनदेखी कर देते है। तो आइए यहां जानते है ट्रेडिंग वॉल्यूम क्या है? (What is Trading Volume in Hindi)

Volume in Share Market: शेयर मार्केट के वॉल्यूम सबसे जरूरी इंडिकेटर में से एक है। ज्यातदर ट्रेडर अन्य पैरामीटर पर ध्यान तो देते है लेकिन ट्रेड प्लेस करते समय वॉल्यूम की अनदेखी कर देते है। लेकिन यह बहुत ही जरूरी इंडिकेटर है। इसलिए इस पोस्ट में हम बात करेंगे कि शेयर बाजार में वॉल्यूम क्या है? (What is Volume in Share Market?)

रेटिंग: 4.33
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 203
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *