विदेशी मुद्रा सफलता की कहानियां

बिटकॉइन की कीमत को क्या प्रभावित करता है

बिटकॉइन की कीमत को क्या प्रभावित करता है
बिटकॉइन क्या हैं?

बिटकॉइन के इस्तेमाल पर पेटीएम का बड़ा बयान, क्रिप्टोकरेंसी वैध होने पर कर सकता है विचार

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - November 5, 2021 / 03:11 PM IST

बिटकॉइन के इस्तेमाल पर पेटीएम का बड़ा बयान, क्रिप्टोकरेंसी वैध होने पर कर सकता है विचार

बिटकॉइन एक किस्म की वर्चुअल करेंसी है. जो 2009 मं शुरू हुई थी. फिलहाल बिटकॉइन तेजी से लोकप्रिय हो रहे हैं.

Bitcoin: अगर भारत की रेगुलेटरी एजेंसी क्रिप्टो कॉइन पर जारी अनिश्चितता को खत्म कर देती हैं तो, डिजिटल पेमेंट में भारत का अग्रणी प्लेटफॉर्म पेटीएम बिटकॉइन (Bitcoin) की पेशकश पर विचार कर सकता है. लाइव मिंट ने ब्लूमबर्ग टीवी के एक इंटरव्यू के हवाले से ये रिपोर्ट दी है. ब्लूमबर्ग टीवी के हसलिंडा अमीन और रिशाद सलामत को मुख्य वित्तीय अधिकारी मधुर देवड़ा ने एक इंटरव्यू में ये बात कही. देवड़ा ने कहा कि इस संबंध में अभी सभी एसेट ग्रे एरिया में ही हैं.

किस के सुझाव पर लाया जा रहा है ये बिल?

यह बिल आर्थिक मामलों के सचिव एससी गर्ग की अध्यक्षता में बनी समिति के सुझावों के आधार पर लाया जा रहा है। इस कमेटी में सेबी और भारतीय रिजर्व बैंक के मेंबर भी हैं। इस कमेटी के पैनल बिटकॉइन की कीमत को क्या प्रभावित करता है ने सुझाव दिया था कि प्राइवेट क्रिप्टोकरंसी को संसद में कानून पास कर के बैन किया जाना चाहिए, लेकिन ब्लॉकचेन और डिस्ट्रिब्यूटेड लेजर टेक्नोलॉजी का वित्तीय सेवाओं में इस्तेमाल जारी रखना चाहिए, ताकि लोन की बेहतर ट्रैकिंग, इंश्योरेंस क्लेम मैनेजमेंट और फ्रॉड डिटेक्शन आसानी से किया जा सके।

बैन की बात ने चिंता में डाल दिया है डिजिटल इंडस्ट्री को

क्रिप्टोकरंसी पर बैन लगाए जाने के इस प्रस्ताव ने पहले ही इंडस्ट्री को चिंता में डाल दिया है। बाईयूकॉइन (BuyUcoin) के सीईओ शिवम ठकराल ने कहा कि उन्होंने सरकार को गुहार लगाई है कि सरकार कोई भी फैसला करने से पहले एक बार सभी स्टेकहोल्डर्स से उनकी राय भी ले ले। सरकार का एक भी फैसला भारत की डिजिटल इंडस्ट्री के बहुत सारे लोगों को प्रभावित कर सकता है। उन्होंने कहा है कि वह सबके साथ मिलकर इंडस्ट्री के हित की रक्षा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। बता दें कि बाईयूकॉइन भारत का दूसरा सबसे बड़ा क्रिप्टोकरंसी एक्सचेंज है। एक अन्य एक्सचेंज हैं जेबपे (Zebpay), जिसके साथ दुनिया भर से करीब 30 लाख ट्रेडर जुड़े हैं। जेबपे का कहना है कि क्रिप्टोकरंसी को भी एक असेट क्लास जैसे कि सोना, की तरह देखा जाना चाहिए और इस बिल की हर डिटेल को बारीकी से देखना चाहिए।

2020 में दिया 300 फीसदी से ज्यादा रिटर्न

2020-300-

अगर 2020 में इसके रिटर्न की बात करें तो बिटकॉइन ने 2020 में करीब 300 फीसदी यानी करीब 4 गुना रिटर्न दिया है। इसका मतलब हुआ कि अगर किसी ने 2020 की शुरुआत में बिटकॉइन में 1 लाख रुपये लगाए थे तो अब तक उसके पैसे 4 बिटकॉइन की कीमत को क्या प्रभावित करता है बिटकॉइन की कीमत को क्या प्रभावित करता है लाख रुपये में बदल चुके हैं। 31 दिसंबर 2019 को बिटकॉइन की बिटकॉइन की कीमत को क्या प्रभावित करता है कीमत 7212 डॉलर थी, जो 30 दिसंबर 2020 तक 28,599.99 डॉलर हो गई और नए साल में इसकी कीमत 32,606 डॉलर तक पहुंच गई।

क्या है बिटकॉइन?

बिटकॉइन एक तरह की क्रिप्टोकरंसी है। 'क्रिप्टो' का मतलब होता है 'गुप्त'। यह एक डिजिटल करंसी है, जो क्रिप्टोग्राफी के नियमों के आधार पर काम करती है। इसकी सबसे खास बात ये है डिजिटल होने की वजह से आप इसे छू नहीं सकते। बिटकॉइन की शुरुआत 2009 में हुई थी। बिटकॉइन की कीमत लगातार बढ़ रही है। गुरुवार सुबह के हिसाब से इसकी कीमत करीब 8.31 लाख को क्रॉस कर चुकी है। यह एक तरह की डिजिटल करंसी है। इसकी शुरुआत एलियस सतोशी नाम के शख्स बिटकॉइन की कीमत को क्या प्रभावित करता है ने की थी।

ब्रेट ली ने भारत की मदद को बढ़ाए हाथ, ऑक्सीजन सप्लाई के लिए दिए 40 लाख रुपये

Brett Lee and Pat Cummins (File, Getty)

  • नई दिल्ली,
  • 27 अप्रैल 2021,
  • (अपडेटेड 27 अप्रैल 2021, 8:40 PM IST)
  • कोविड महामारी से जूझ रहे भारत की मदद को आगे आए बिटकॉइन की कीमत को क्या प्रभावित करता है ब्रेट ली
  • एक बिटकॉइन (लगभग 40 लाख रुपये) से मदद करने की घोषणा की है

ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज पैट कमिंस से प्रभावित होकर उनके हमवतन पूर्व खिलाड़ी ब्रेट ली भी कोरोना से जूझ रहे भारत की मदद के लिए आगे आए हैं. ब्रेट ली ने ऑक्सीजन की किल्लत से निपटने के लिए 1 बिटकॉइन (लगभग 40 लाख रुपये) डोनेट किया है. बिटकॉइन एक डिजिटल क्रिप्टो करेंसी है. ली ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है. साथ ही उन्होंने इस पहल की शुरुआत करने के लिए पैट कमिंस का भी आभार जताया है.

बिटकॉइन की कीमत को क्या प्रभावित करता है

क्रिप्टोकरेंसी, हाल के दिनों में सबसे नवीनतम और रोमांचक असैट वर्गों में से एक के रूप में उभरी है। भारत में भी, शुरुआती आशंकाओं ने क्रिप्टोकरेंसी की असीमित संभावनाओं में विश्वास पैदा किया है। अपने काम को और अधिक दिलचस्प बनाने और निवेशकों को उनकी क्रिप्टोकरेंसी यात्रा की शुरूआत करवाने के लिए, ZebPay और News18 Network मिल के, डिजिटल करेंसी से संबंधित सभी प्रश्नों का उत्तर देने और उनमें निवेश करने का तरीका समझाने के लिए, वन-स्टॉप मीडिया हब 'क्रिप्टो की समझ' पेश कर रहे हैं। वित्त संबंधी भविष्य जानने के लिए तैयार हो जाइए!

Gold vs Crypto: अगर आप भी गोल्ड और क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने को लेकर कंफ्यूज हैं तो हम आपको बता रहे हैं बिटक्वाइन या गोल्ड में निवेश के लिए कौन बेहतर?

Webinar Lorem ipsum dolor sit amet consecture

देखें कि कैसे भू-राजनीतिक भय ने क्रिप्टो बाजार को प्रभावित किया, ओपन सी की एनएफटी चोरी के बारे में जानें और दुनिया भर से बहुत कुछ केवल ZebPay और News18 प्रस्तुत करता है. #CryptoKiSamajh

#DidYouKnow कि आप अभी उपलब्ध अनेको क्रिप्टोकरेंसी में से किसी में भी निवेश कर सकते हैं? क्रिप्टो की दुनिया के बारे में अधिक जानने के लिए, हमारे साथ जुड़िये।

केवल ZebPay और News18 नेटवर्क पर #CryptoKiSamajh पर स्टॉक और क्रिप्टो मुद्रा के बीच बुनियादी अंतर को समझें।

क्रिप्टोकरेंसी अनियमित डिजिटल एसेट हैं, यह वैध मुद्रा नहीं हैं. इनका पिछला प्रदर्शन भविष्य के रिटर्न की गांरटी नहीं है. क्रिप्टोकरेंसी में निवेश या ट्रेड करना बाजार जोखिमों और कानूनी जोखिमों के अधीन है.

क्रिप्टोक्यूरेंसी दरें - वे किस पर निर्भर करती हैं, उन्हें क्या प्रभावित करता है?

20201002135804_pexels-फोटो-844124.jpeg

क्रिप्टोक्यूरेंसी दर एक बाजार-निर्धारित बिटकॉइन की कीमत को क्या प्रभावित करता है मूल्य है जिस पर एक आभासी मुद्रा खरीदी या बेची जा सकती है। उनकी दरें मुख्य रूप से किसी दिए गए क्रिप्टोकुरेंसी की मांग पर निर्भर करती हैं, वृद्धि के आधार पर, क्रिप्टोकुरेंसी अक्सर मानव कारक द्वारा स्वचालित रूप से खरीदी जाती है, जबकि गिरावट के अवलोकन में - बेचा जाता है। इस प्रकार, वे काफी हद तक क्रिप्टोक्यूरेंसी बाजार की आपूर्ति और मांग पर निर्भर करते हैं।

अन्य निर्भरताओं का भी उल्लेख किया जाना चाहिए, जो दूसरों के बीच, पर निर्भर करते हैं बेकार बिजली से। यह लंबे समय से ज्ञात है कि खनन क्रिप्टोक्यूरैंक्स अत्यधिक मात्रा में ऊर्जा की खपत करता है जिसके परिणामस्वरूप सर्वोत्तम गणना करने के लिए सबसे आधुनिक कंप्यूटर उपकरण होने की आवश्यकता होती है। इसके अलावा, विश्वास और, साथ ही, क्रिप्टोक्यूरैंक्स की लोकप्रियता भी इसकी दर को प्रभावित करती है। जितने अधिक लोग खरीदने में रुचि रखते हैं, कीमत उतनी ही अधिक हो जाती है। जनमत क्रिप्टोकरेंसी की अवधारणा के बारे में जागरूकता को प्रभावित करता है, उदाहरण के लिए आभासी सिक्कों के बारे में नकारात्मक खबरें फैलाकर। यह सब दरों पर नकारात्मक प्रभाव डालता है और इससे बाजार में विफलता हो सकती है।

रेटिंग: 4.13
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 342
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *